हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

बेहतर स्वास्थ्य के लिए फेंक दें ये 7 चीज

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 17, 2015
हमारे रोज के जीवन में काम आने वाले कई तरह के सामानों में मौजूद केमिकल सेहत के लिए हानिकारक होते हैं, इसलिए स्‍वस्‍थ रहने और बीमारी से बचने के लिए जरूरी है इन चीजों को फेंक दें।
  • 1

    इन चीजों के उपयोग से रखें परहेज

    रोजमर्रा के जीवन में उपयोग में आने वाले बहुत से सामान हमारे शरीर को कई बीमारियां दे सकते हैं। बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है इन चीजों को अपने से दूर फेंक दें, और अगर हम इनके उपयोग को बंद नहीं कर सकते तो कम से कम सावधानी जरूर बरतें। घर की कई चीजें ऐसी होती हैं जिनमें शामिल केमिकल्स हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। इन सामानों में घर में मौजूद इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों से लेकर कृत्रिम मिठास तक कई चीजें शामिल है। इस बारे में विस्तार से जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़ें।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    इन चीजों के उपयोग से रखें परहेज
  • 2

    ऑर्टिफिशियल स्‍वीटनर

    अगर आपको अच्छा स्वास्थ्य चाहिए, तो घर में मौजूद कृत्रिम मिठास (शुगर फ्री) के डिब्बे को बाहर फेंक दीजिए। ये आपका वजन बढ़ा सकता है। इसके सेवन से डायबिटीज का खतरा भी रहता है। कृत्रिम मिठास के सेवन से हृ्दयघात, एल्जाइमर, स्ट्रोक समेत कई तरह की बीमारियों का खतरा रहता है। कृत्रिम मिठास डाइट सोडा जैसे उत्पादों में अधिक शामिल होती है। लिहाजा, इसके सेवन से परहेज करें।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    ऑर्टिफिशियल स्‍वीटनर
  • 3

    नॉन स्टिक बर्तन

    आजकल नॉनस्टिक बर्तनों के प्रयोग का चलन है। इसमें खाना जलता नहीं, ज्यादा तेल-चिकनाई नहीं यूज करनी पड़ती। पर क्या आप इसके फायदों के अलावा नुकसान जानते हैं। नॉनस्टिक बर्तनों में खाना बनाने से व्यक्ति के शरीर में ऐसे तत्व पहुंच जाते हैं जिससे कई प्रकार के कॉग्नीटिव डिस्ऑर्डर होने का खतरा हो जाता है। इसमें खाना पकाने से शरीर में आयरन की कमी हो सकती है जिससे हड्डियां कमजोर हो सकती हैं।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    नॉन स्टिक बर्तन
  • 4

    प्लास्टिक की बोतल

    प्‍लास्टिक की बोतल को बनाने के लिए प्रयोग किये जाने वाले बाइसफेनोल ए का पेट पर बुरा असर पड़ता है। बीपीए नामक रसायन जब पेट में पहुंचता है तो इसके कारण पाचन क्रिया भी प्रभावित होती है। इससे खाना भी अच्‍छे से नहीं पच पाता और कब्‍ज और पेट में गैस की समस्‍या भी हो सकती है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    प्लास्टिक की बोतल
  • 5

    एयर फ्रेशनर

    एयर फ्रेशनर में फेनोल मेथोक्‍सेक्रोल और फॉर्मैल्डहाइड जैसे रसायनों की उच्च मात्रा पाई जाती है। इसमें मौजूद इन हानिकारक पदार्थों की वजह से हमारे तंत्रिका तंत्र पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। जिससे श्वास संबंधी समस्‍या होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा, यह त्वचा के लिए बहुत खतरनाक होता है। अगर आपको किसी भी तरह के सूजन, खुजली या जलन की समस्‍या हो रही है तो इनका उपयोग बंद कर दे।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    एयर फ्रेशनर
  • 6

    साबुन व डिटर्जेंट

    रोजाना काम आने वाली चीजों जैसे साबुन व डिटर्जेंट को बनाने में ऐसे केमिकल पाए गए हैं, जो स्पर्म के प्रवाह में बाधा डालते हैं और समय से पहले स्खलन की बड़ी वजह बनते हैं। रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली चीजों को बनाने में आमतौर पर हर तीन में से एक ऐसा नॉन-टॉक्सिक केमिकल जरूर पाया जाता है, जो पुरुषों की स्पर्म कोशिकाओं को बुरी तरह प्रभावित करता है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    साबुन व डिटर्जेंट
  • 7

    सफाई करने वाले क्लीनर

    सफाई उत्‍पादों से हम दूर नहीं रह सकते हैं। लेकिन सावधानीपूर्वक इनका इस्‍तमाल करके हम इनके बुरे प्रभाव से बच सकते हैं। हम में से कई लोग जब शौचालय क्लीनर, कालीन क्लीनर और ओवन क्लीनर के संपर्क में आते हैं तो आंखों और त्वचा में जलन का अनुभव करते है। ऐसा हाइड्रोक्लोरिक एसिड की उच्च मात्रा की वजह से होता है। जलन के अलावा, यह गुर्दे और फेफड़ों से संबंधित समस्याओं का कारण भी बनता है। इसका अत्यधिक उपयोग हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    सफाई करने वाले क्लीनर
  • 8

    इलेक्ट्रॉनिक सामान

    इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के निर्माण में कई तरह के विषाक्त पदार्थों का इस्तेमाल होता है जिनमें सीसा, पारा, कैडमियम और आर्सेनिक शामिल हैं। कैडमियम से फेफड़े प्रभावित होते हैं, जबकि कैडमियम के धुएं और धूल के कारण फेफड़े व किडनी दोनों को गंभीर नुकसान पहुंचता है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    इलेक्ट्रॉनिक सामान
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर