हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

नींद की गोली के सेवन के ये 6 साइड इफेक्ट

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 19, 2015
अगर आप भी मीठी और सुकून भरी नींद के लिये स्‍लीपिंग पिल्‍स लेने के आदी हो चुके हैं, तो ज़रा संभल जाएं। ये गोलियां लंबे समय तक और हाई डोज़ में लेने पर जानलेवा साबित हो सकती हैं।
  • 1

    नींद की गोलियां

    आमतौर पर नींद की गोलियां अत्यधिक नशीली होती हैं। सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह है कि यह हमारे दिमाग की हरकातों पर प्रभाव डालती हैं। यह दवाई मनुष्‍य की पूरी दिनचर्या को खराब कर देती है। साथ ही लगातार यह दवाई खाने से शरीर पर धीरे-धीरे इसका प्रभाव कम होने लगता है, जिससे हाई डोज़ की दवाई खानी पड़ जाती है। इसके लगातार सेवन से अवसाद भी हो जाता है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    नींद की गोलियां
  • 2

    स्वाभाविक नींद नहीं

    पहली बात तो यह है कि ये दवाएं स्वाभाविक नींद नहीं लाती। इन दवाओं के लगातार सेवन से शरीर एवं मन पर बुरा असर पड़ता है जिससे कई भयंकर रोग उत्पन्न होने लगते हैं। बार-बार उपयोग करने से इनका असर कम होने लगता है। इनकी मात्रा भी बढ़ने लगती है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    स्वाभाविक नींद नहीं
  • 3

    दिल का खतरा

    नींद की दवाओं के 35 मिल‌ीग्राम के स्टैंडर्ड डोज़ लेने से दिल के दौरे का खतरा 20 प्रतिशत बढ़ जाता है जबकि साल में करीब 60 नींद की दवाएं लेने से यह रिस्क 50 प्रतिशत हो सकता है।नींद की दवाओं में मौजूद तत्व - जोपिडेम को दिल की बीमारियों की वजह बताया है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    दिल का खतरा
  • 4

    गर्भावस्था को नुकसान

    किसी विशेष परिस्थिति या अवस्था में जैसे गर्ववती महिलायें यदि डॉक्टर की सलाह के बिना ही इन दवाओं का प्रयोग करती हैं तो उनकी भावी संतान पर प्रभाव पड़ता है तथा अंग-भंग की भी आशंका बनी रहती है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    गर्भावस्था को नुकसान
  • 5

    रूक सकती है सांस

    एवं जिगर के मरीजों के लिये नींद की गोलियां खतरनाक साबित हो सकती हैं, साथ ही उनके लिए भी जो नींद में खर्राटे भरते हैं। उनको भी नहीं केवन करना चाहिए क्योंकि खर्राटों के बीच कभी-कभी सांस रुक जाती है जो जानलेवा भी सिद्ध हो सकता है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    रूक सकती है सांस
  • 6

    याददाश्त होती है कमजोर

    लंबे समय तक नींद की गोलियां लेने के कारण रक्त नलिकाओं में थक्के बन जाते हैं, याददाश्त कमजोर हो जाती है और बेचैनी की शिकायत आम हो जाती है। नींद की गोलियों का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
    ImageCourtesy@gettyimages

    याददाश्त होती है कमजोर
  • 7

    स्नायु तंत्र हो जाती है शिथिल

    नींद की गोलियां स्नायु तंत्र को शिथिल कर देती हैं, इसीलिए अगर लंबे समय तक इनका सेवन किया जाए, तो स्नायु तंत्र संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा इनमें जो तत्व होते हैं, उनके खराब साइड इफेक्ट्स होते हैं।
    ImageCourtesy@gettyimages

    स्नायु तंत्र हो जाती है शिथिल
  • 8

    कैंसर

    एक शोध के मुताबिक यह बात भी सामने आई है कि जो लोग रोजाना इसी गोली पर निर्भर रहते हैं, उन्‍हें कैंसर का भी खतरा होता है। इन गोलियों में ऐसे तत्‍व पाए जाते हैं जिनका रोजाना सेवन नहीं करना चाहिये, नहीं तो ओवरडोज़ हो जाता है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    कैंसर
Load More
X