हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

एंटी एजिंग दवाओं के प्रयोग के हो सकते हैं ये जोखिम

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 17, 2015
एंटी-एजिंग उत्पाद आपके चेहरे से बुढ़ापे की लकीरें मिटाने का वादा करती हों, लेकिन इनके असर से आप कुछ दिन तक जवां भी दिख सकते हैं, लेकिन इनके साइड-इफेक्‍ट भी होते हैं, इसलिए इनके प्रयोग से पहले ये सावधानी बरतें।
  • 1

    एंटी-एजिंग उत्पाद व दावाओं के नुकसान

    एंटी-एजिंग उत्पाद व दवाएं आपके चेहरे से बुढ़ापे की लकीरें मिटाकर भले ही फिर से निखार लाने के वादे कर आपको लुभायें। लेकिन इन्हें अपनाने से पहले कुछ सावधानियां बेहद जरूरी होता है। त्वचा विशेषज्ञों के मुताबिक एंटी-एजिंग उत्पादों के उपयोग से त्वचा को नुकसान हो सकता है। चलिये जानें क्या हैं एंटी एजिंग दवाओं के प्रयोग के जोखिम।

    Images source : © Getty Images

    एंटी-एजिंग उत्पाद व दावाओं के नुकसान
  • 2

    दुष्प्रभाव देखे जाते हैं

    इस तरह की क्रीम्स, जैल व अन्य दवाओं आदि के बेहतर परिणाम चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित तो होते हैं, लेकिन चिकित्सकों का मानना है कि इसके बाद ही इनके ऊपर चिकित्सकीय दृष्टि रखने की जरूरत है क्योंकि इनके कुछ दुष्प्रभाव देखे जा सकते हैं।
    Images source : © Getty Images

    दुष्प्रभाव देखे जाते हैं
  • 3

    केमिकल्स मिले होते हैं

    एंटी एजिंग क्रीम्स व दवाओं में कई प्रकार के केमिकल्स इस्तेमाल होते हैं जिनके तात्कालिक प्रभाव तो बहुत अच्छे होते हैं लेकिन बाद में इन केमिकल्स के प्रभाव से त्वचा ज्यादा खराब होने लगती हैं।
    Images source : © Getty Images

    केमिकल्स मिले होते हैं
  • 4

    कोई गारंटी नहीं होती

    एंटी एजिंग क्रीम्स व दावाओं की कोई गारंटी नहीं होती कि वे आपके लिए पूरी तरह से सेफ हैं, और ना ही उनके प्रयोग के सही परिणाम ही मिलने की गारंटी होती है। यानी उसके अतिरिक्त प्रभाव आपको बाद में परेशान कर सकते हैं।
    Images source : © Getty Images

    कोई गारंटी नहीं होती
  • 5

    टीईए और एमईए जैसे केमिकल्स


    कई एंटी-एजिंग क्रीम्स में टीईए और एमईए आदि केमिकल्स मिले हैं, जो कि शरीर का पीएच स्तर बनाएं रखने के लिए उपयोगी होते हैं लेकिन इन केमिकल्स का उपयोग या इनके संपर्क में आने से आपके लीवर और किडनी को हानि होती है और इनका कैंसर हो सकता है।
    Images source : © Getty Images

    टीईए और एमईए जैसे केमिकल्स
  • 6

    नेचुरल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल नहीं होता



    एंटी-एजिंग क्रीम्स व दवाओं का इस्तेमाल करने से पहले ध्यान रखें कि उनमें नेचुरल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल नहीं हुआ है। उन क्रीम्स व दवाओं के इस्तेमाल से बचना चाहिए जिनमें केमिकल भरपूर मात्रा में शामिल होते हैं।
    Images source : © Getty Images

    नेचुरल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल नहीं होता
  • 7

    त्वचा के संक्रमण


    यदि एंटी-एजिंग क्रीम लगाने या दवाएं लेने के बाद किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट दिखाई दे तो इनका प्रयोग तुरंत बंद कर देना चाहिए और स्किन स्पेशलिस्ट से तुरंत मिलना चाहिए। ध्यान रखें कि कुछ मामलों में एंटी-एजिंग क्रीम में इस्तेमाल किए जाने वाले तेलों से त्वचा की सामान्य प्रणाली पर नकारात्मक असर पड़ता है।
    Images source : © Getty Images

    त्वचा के संक्रमण
  • 8

    एलर्जी की समस्या



    एंटी-एजिंग क्रीम्स में पैराबींस का इस्तेमाल होने से त्वचा में लाल रंग के चकते पड़ सकते हैं, जिससे त्वचा में खुजली और त्वचा संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है। इन एंटी-एजिंग क्रीम्स में कठोर केमिकल्स का इस्तेमाल भी होता है जिनकी वजह से एलर्जी की समस्या होने लगती है और आपकी त्वचा बहुत संवेदनशील हो जाती है।
    Images source : © Getty Images

    एलर्जी की समस्या
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर