हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सेक्स से सम्बंधित कुछ हास्‍यास्‍पद मिथ

By: ओन्लीमाईहैल्थ लेखक, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 17, 2014
सेक्‍स के प्रति जानकारी के अभाव में ही सेक्‍स को लेकर लोगों में हमेशा ही भ्रम बना रहता है, इसलिए सेक्‍स शिक्षा बहुत जरूरी है।
  • 1

    सेक्‍स संबधी भ्रम क्‍यों

    सेक्‍स शिक्षा की कमी और जागरुकता के अभाव के कारण लोगों में सेक्‍स को लेकर कई सवाल उठते हैं। जानकारी के अभाव में ही सेक्‍स को लेकर लोगों में हमेशा ही भ्रम बना रहता है। सेक्‍स के बारे में सही जानकारी न होने पर स्‍त्री और पुरूष इसके बारे में अंदाजा लगाते हैं जो कि गलत होता है। कई लोग तो सेक्‍स से कतराते भी हैं और कुछ जानकारी के अभाव में इसे अच्‍छी तरह से इंज्‍वॉय नहीं कर पाते।

    सेक्‍स संबधी भ्रम क्‍यों
  • 2

    कंडोम और सेक्‍स

    भ्रम: कुछ लोगों को लगता है कि कंडोम के प्रयोग से सेक्‍स का मजा कम होता है।

    सच- यह सच नहीं है। सेक्‍स संबंध के दौरान कंडोम का प्रयोग करना चाहिए, ऐसा करने से सेक्‍स का मजा कम नहीं होता बल्कि आपकी सुरक्षा होती है। सेक्‍स के दौरान कंडोम का प्रयोग करके आप यौन संबंधित बीमारियों से बच सकते हैं।

    कंडोम और सेक्‍स
  • 3

    ओरल सेक्‍स

    भ्रम - ओरल सेक्‍स से कोई खतरा नहीं होता है।
    सच - ओरल सेक्‍स से सेक्‍सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों के फैलने का ज्‍यादा खतरा होता है। ओरल सेक्‍स के दौरान अगर मुंह या गले में कहीं कटा हो तो इससे इन बीमारियों के फैलने का खतरा होता है। इसलिए ओरल सेक्‍स से बचना चाहिए।

    ओरल सेक्‍स
  • 4

    पुरुष और सेक्‍स

    भ्रम - पुरूष हमेशा सेक्‍स के लिए तैयार रहते हैं।
    सच - तनाव और थकान के चलते अक्‍सर पुरूष सेक्‍स में रुचि नहीं रखते हैं। एक रिसर्च के अनुसार 14 फीसदी पुरूष सेक्‍स के बारे में हर 7 मिनट में सोचते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि पुरुष हमेशा सेक्‍स के लिए तैयार रहते हैं।

    पुरुष और सेक्‍स
  • 5

    फोरप्‍ले

    भ्रम - फोरप्‍ले नहीं करना चाहिए।
    सच - सेक्‍स का आनंद लेने के लिए फोरप्‍ले बहुत जरूरी है। फोरप्‍ले के सही तरीके अपनाकर आप अपने पार्टनर को खुश कर सकते हैं। यह सेक्‍स के मजे को बढ़ाता है।

    फोरप्‍ले
  • 6

    प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन

    भ्रम - प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन (शीघ्रपतन) बीमारी नहीं है।
    सच - यह बीमारी पुरूषों में सबसे सामान्‍य है। सेक्‍स के लिए तैयार होते वक्‍त फोरप्‍ले के दौरान ही अगर सीमन बाहर आता है तो इसे प्रीमेच्‍योर इजैकुलेशन कहते हैं। ऐसी स्थित में पुरूष अपनी महिला पार्टनर को संतुष्‍ट नहीं कर पाता है।

    प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन
  • 7

    सेक्‍स के विभिन्‍न आसन

    भ्रम - सेक्‍स के आसन नहीं करने चाहिए।
    सच - सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त विभिन्‍न तरीके के आसनों को किया जा सकता है। लेकिन सुरक्षित और आसान आसनों का ही प्रयोग कीजिए। आसनों को आजमाकर आप पार्टनर को अधिक संतुष्‍ट कर सकते हैं।

    सेक्‍स के विभिन्‍न आसन
  • 8

    सेक्‍स सप्‍लीमेंट

    भ्रम - सेक्‍स के दौरान सेक्‍स पॉवर बढ़ाने वाली दवाओं का प्रयोग करना चाहिए।
    सच - बाजारों में मिलने वाली विभिन्‍न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करके कुछ समय के लिए आप अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ा सकते हैं लेकिन इन दवाओं का साइड इफेक्‍ट ज्‍यादा होता है। इसलिए इन दवाओं का प्रयोग न करें।

    सेक्‍स सप्‍लीमेंट
  • 9

    गर्भावस्‍था और सेक्‍स

    भ्रम - गर्भावस्‍था के दौरान सेक्‍स नहीं करना चाहिए।
    सच - गर्भावस्‍था के दौरान भी सेक्‍स संबंध बनाये जा सकते हैं। लेकिन गर्भावस्‍था की निश्चित अवधि के बाद सेक्‍स संबंध बिलकुल नहीं बनाने चाहिए।

    गर्भावस्‍था और सेक्‍स
  • 10

    मीनोपॉज और सेक्‍स लाइफ

    भ्रम - मीनोपॉज बंद होने के बाद महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो जाती है।
    सच - मीनोपॉज बंद होने के बाद भी महिलाएं सेक्‍स संबंध बना सकती हैं। मीनोपॉज बंद होने का मतलब यह नही कि महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो गई। मीनोपॉज के बाद बच्‍चा पैदा नहीं कर सकती हैं, लेकिन सेक्‍स संबंध बना सकती हैं।

    मीनोपॉज और सेक्‍स लाइफ
Load More
X