हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन 11 कारणों से आपको निगलने में हो सकती है दिक्‍कत

By:Meera Roy, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 22, 2015
हेल्‍दी खाने से ही शरीर स्‍वस्‍थ और निरोग रहता है, लेकिन कई बार हम स्‍वादिष्‍ट खाने को भी निगल नहीं पाते हैं, यह बड़ी समस्‍या भले न हो लेकिन इसके पीछे गंभीर बीमारियां हो सकती हैं, इसके बारे में हम आपको बताते हैं।
  • 1

    निगलने में जब हो समस्‍या

    निगलने में दिक्कतें आना कोई हैरानी की बात नहीं है। बुखार, सर्दी आदि होने से अकसर खाद्य पदार्थ निगलने से गले में दर्द होता है। मगर क्या आप जानते हैं कि निगलने में आ रही दिक्कतें कई अन्य बीमारियों की ओर इशारा भी करती हैं? जी, हां! जिस बीमारी को हम बेहद छोटी बीमारी सोचकर अनदेखा करते हैं, वह किसी बड़े रोग का लक्षणभी हो सकती है। आइये जानते हैं ऐसे ही 11 वजहों को जिनके कारण निगलना परेशानी का सबब बन सकता है।

    निगलने में जब हो समस्‍या
  • 2

    मुंह में छाले

    यह सबसे आम बीमारी है। मुंह में इन्फेक्शन होने से या छाले हो जाने से अकसर खाना निगलने में दिक्कत आती है। इसके तहत आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है। सामान्य क्रीम भी इसमें कारगर साबित हो सकती है। लेकिन यदि छाले लम्बे समय से ठीक नहीं हो तो हो सकता है कि पेट की समस्या है।

    मुंह में छाले
  • 3

    टीबी

    कहने की जरूरत नहीं है कि यह संक्रामक रोग है। तीन हफ्ते से अधिक खासी आना, कफ निकलना, थूक के साथ खून निकलना ये सब इसके लक्षण है। अकसर खासते खासते गले की स्थिति बद से बदतर हो जाती है। ऐसी स्थिति में कुछ खाना या निगलना किसी बड़ी समस्या सरीखा हो जाता है। यहां तक कि सांस लेना भी दुभर हो जाता है।

    टीबी
  • 4

    गले में कुछ अटकना

    बच्चे अकसर पैसा, बटन, बैटरी आदि निगल जाते हैं। निस्संदेह यदि इस तरह की अखाद्य पदार्थ हमारे गले मेंअटके तो गले में दर्द होना स्वाभाविक है। लेकिन इसके अतिरिक्त जिनका फूड पाइप पतला होता है, उन्हें भी अकसर इस तरह की समस्या से जूझना पड़ता है। बाहरी पदार्थ के कारण गले में दर्द, छाती में दर्द, लार और उल्टी आदि भी हो सकती हैं।

    गले में कुछ अटकना
  • 5

    मुंह का सूखना

    मुंह सूखने के पीछे कई वजहें छिपी हैं मसलन नर्व क्षतिग्रस्त होना, किसी दवा का साइड इफेक्ट, सर्जरी कर सलाइवरी ग्रंथि निकालना, निर्जलीकरण, धूम्रपान आदि। मुंह सूखने की वजह से निगलने में, चबाने में, बोलने में दिक्कत होना आदि समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। यहां तकि कि सांस में बदबू भी आ सकती है।

     

    मुंह का सूखना
  • 6

    गोएटर (Goitre)

    आयोडीन की कमी के चलते हमारी थाइराइड ग्रंथि बढ़ जाती है। इसके पीछे पारिवारिक इतिहास भी वजह हो सकता है। इसके तहत कोई भी चीज निगलने के पहले तकलीफ होती है, खासी होती है। यहां तक कि हमारा लार भी बहुत ज्यादा गिरने लगता है। इसमें उल्टी होना और खाद्य पदार्थ का न पचना भी शामिल है। सामान्य तौरपर यह बीमारी कम दिखती है। लेकिन मध्य आयु के लोगों में यह रोग दिख सकता है।

    गोएटर (Goitre)
  • 7

    पर्किनसन डिज़ीज़

    यह बीमारी तंत्रिका तंत्र से सम्बंध रखती है। उम्र के साथ साथ यह समस्या विकराल रूप धारण करती है। तमाम अध्ययनों से पता चला है कि जिनके परिवार या दोस्तों को ये समस्या है, उन्हें पर्किनसन डिज़ीज़ होने की आशंका अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा होती है। इसके लक्षणों की ओर गौर करें तो पता चलेगा कि यह बीमारी भी निगलने में दिक्कतें पैदा करती है। यही नहीं हमारी आवाज बदल जाती है, लार बहने लगती है और खाना चबाने में भी कठिनाई होती है।

    पर्किनसन डिज़ीज़
  • 8

    मल्टीपल स्लेरोसिस

    यह बीमारी सीधे सीधे हमारे ब्रेन और स्पाइनल कार्ड को प्रभावित करती है। दिक्कतें तब बढ़ती हैं जब हमें इसके लक्षण सहजता से समझ नहीं आते। सामान्यतः देखा गया है कि मल्टीपल स्लेरोसिस के लक्षण परिवर्तनशील होते हैं या फिर अलग अलग स्वरूप में नजर आते हैं। इससे पीडि़त 50 फीसदी मरीजों की आंखों की रोशनी कमजोर हो जाती है। साथ ही बोलने की क्षमता प्रभावित होती है, खाना निगलने में भी दिक्कतें आती हैं।

    मल्टीपल स्लेरोसिस
  • 9

    दांतों की समस्या

    दांत में दर्द या सड़न होने से भी अकसर खाने पीने में समस्या देखी जाती है। यदि दर्द है तो किस कारण है, यह जानना जरूरी है। कीड़ा लगने से भी अकसर दांतों में दर्द बढ़ जाता है। दांत का दर्द सीधे सीधे हमारे गले को प्रभावित करता है यानी कुछ भी सहजता से खा या पी नहीं पाते। बेहतर है कि समय रहते इलाज कराएं ताकि बिना किसी तकलीफ अपने मनपसंद आहार खा सकें।

    दांतों की समस्या
  • 10

    ऐकलेसिया

    इस बीमारी के तहत ओएसोफगस और पेट के बीच मौजूद मांसपेशियां रिलैक्स मोड में नहीं आ पातीं जिससे कि ओएसोफगस खाद्य पदार्थ पर पूरी तरह दबाव नहीं बना पाता। ओएसोफगस की नव्र्स क्षतिग्रस्त होने से ऐसा होता है। इसके प्रमुख लक्षणों में छाती में जलन, छाती में असहजता तथा खाना निगलने के दौरान दर्द शामिल है।

    ऐकलेसिया
  • 11

    स्लेरोडर्मा

    इस बीमारी के तहत मांसपेशियां यानी कि स्पिंचटर पूरी तरह से बंद नहीं होती जिससे कि पेट में मौजूद एसिड वापिस  ओएसोफगस में पहुंच जाता है। परिणामस्वरूप हार्टबर्न होने लगता है। इसके लक्षण के तहत भी वही आम समस्या मौजूद है, निगलने में दिक्कतें, छाती में जलन तथा असहजता होना।

    All Images Source - Getty Images

    स्लेरोडर्मा
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर