हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

वीर्य के पतलेपन की चिंता है? जानें कारण

By:Gayatree Verma , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 07, 2016
कई पुरुषों को वीर्य के पतलेपन की समस्या होती है। इस समस्या से वो डर जाते हैं और उन्हें ये चिंता सताने लगती है कि इससे गर्भ ठहराने में समस्या तो नहीं होगी? ऐसा नहीं है। वीर्य के पतलेपन की समस्या जीवन में एक बार जरूरी होती है। ऐसे में इसके कारण जानें और सुधार करें।
  • 1

    दो बार के सहवास के बीच कम अंतर

    अधिकतर बार पतले वीर्य की समस्या अधिक सहवास करने से भी होता है। अगर आप एक बार सहवास करते हैं और फिर कम समय के अंतराल में दूसरी बार सहवास करते हैं तो वीर्य के पतले और मात्रा में कम आने की संभावना होती है। क्योंकि एक मिनट में शरीर में केवल पचास हजार शुक्राणु का निर्माण होता है जबकि एक बार के सेक्स में सौ करोड़ शुक्राणुओं का डिस्चार्ज होता है। ऐसे में आप खुद ही सोचिए की इतने शुक्राणु बनाने के लिए भी तो शरीर को समय चाहिए होता है। और जब समय कम मिलता है तो वीर्य के पतलेपन की समस्या पैदा होती है।

    दो बार के सहवास के बीच कम अंतर
  • 2

    खानपान

    कई बार वीर्य की मात्रा और उसका पतलापन आपके खानपान पर भी निर्भर करता है। अगर शरीर को उचित मात्रा में पोषण नहीं मिल रहा होता है तो पुरुषों में उचित मात्रा में और गाढ़ा वीर्य बनने में कठिनाई होती है। तो अगर आप कम उम्र के हैं और फिर भी आपका वीर्य पतला आ रहा है तो गाय के घी, लहसून और हींग का उड़द की दाल में छौंक लगाएं। रोजाना ऐसी छौंक लगी हुई दाल खाएं। आयुर्वेद के अनुसार माना जाता है कि उड़द की दाल में पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन और घी में वीर्य की मात्रा बढ़ाने की विशेष क्षमता होती है।

    खानपान
  • 3

    डी-हाइड्रेशन भी कारण

    कई बार गर्मी में डीहाइड्रेशन की समस्या भी वीर्य की क्षमता पर असर डालती है जो बहुत ही सामान्य बात है। आप खुद ही सोचिए कि अगर आपके शरीर में ही जब पानी की कमी है तो वीर्य कैसे बनेगा और अगर बन भी जाए तो उसमें वॉल्युम कैसे आएगा। इसके अलावा कई बार टेस्टास्टरोन लेवल के भी कम होने से वीर्य पतला हो जाता है। अगर इन दोनों में से कोई कारण आपको लगता है तो चिकित्सक से संपर्क करें।

    डी-हाइड्रेशन भी कारण
  • 4

    उम्र है वजह

    सीमेन के पतले होने की एक वजह अधिक उम्र भी है। जैसे महिलाओं में रोजनिवृत्ति के बाद समस्या होती है वैसे ही पुरुषों में वीर्य के पतलेपन की समस्या होती है। जैसे-जैसे पुरुषों की उम्र बढ़ती है उनके वीर्य में भी बदलाव होते जाता है। जवानी में जो वीर्य सफेद और गाढ़ा होता है, वो उम्र बढ़ने के साथ पतला  होने लगता है और उसमें पीलापन आने लगता है। डिस्चार्ज के वक्त निकलने वाले सीमेन की मात्रा भी कम हो जाती है। लेकिन इससे पुरुषों के मर्दानगी पर कोई समस्या उत्पन्न नहीं होती। केवल खानपान सही रखें और अगर कहीं समस्या लगे तो चिकित्सक से संपर्क करें।

    उम्र है वजह
  • 5

    मधुमेह या दवाईयां

    मधुमेह की बीमारी भी वीर्य के पतले होने का कारण बनती है। दरअसल मधुमेह में प्रोस्टेट इंफेक्शन होता है जिससे वीर्य पर फर्क पड़ता है और वीर्य के पतलेपन की समस्या पैदा होती है। कई बार तो कई तरह की दवाईयां भी वीर्य की क्षमता को प्रभावित करती हैं। तो अगर आप किसी भी तरह की हाई पावर की दवाईयां खा रहे हैं तो आपकी वीर्य पतला हो सकता है।

    मधुमेह या दवाईयां
Load More
X