हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कार्डियो और वेट लिफ्टिंग के फायदे और नुकसान

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 08, 2015
कार्डियो एक्सरसाइज और वेट लिफ्टिंग दोनों के बीच उचित संतुलन ढूंढना आपके शरीर के लिये सबसे अच्‍छी बात हो सकती है। इन दोनों ही के कुछ फायदे और कुछ नुकसान होते हैं।
  • 1

    कार्डियो और वेट लिफ्टिंग

    कार्डियो एक्सरसाइज और वेट लिफ्टिंग दोनों के कुछ फायदे और कुछ नुकसान होते हैं। इन दोनों के बीच उचित संतुलन ढूंढ लेना आपके शरीर के लिये सबसे बेहतर बात हो सकती है। कार्डियो एक्सरसाइज फैट को बर्न करती है तो वहीं वेट लिफ्टिंग से मांसपेशियां टोन होती हैं और नई मांसपेशियां बनती है। इन दोनों को सही तरीके से साथ में करने पर ये कमाल का फायदा पहुंचाती हैं। इस स्लाइड शो के माध्यम से हम इन दोनों एक्सरसाइज के फायदे और नुकसान के बारे में जानने की कोशिश करते हैं।
    Images source : © Getty Images

    कार्डियो और वेट लिफ्टिंग
  • 2

    कार्डियो के फायदे


    कार्डियो एक्सरसाइज करने से वज़न कम करने से लेकर मानसिक स्वास्थ्य को लाभ होने जैसे कई फायदे होते हैं। कार्डियो एक्सरसाइज करने से मस्तिष्क में एंडोर्फिन रिलीज़ होता है, जोकि आपके शरीर के लिये एक प्राकृतिक दर्द निवारक की तरह होता है। डिस्कवरी हेल्थ के मुताबिक एंडोर्फिन तनाव, अवसाद और चिंता को भी कम करता है। यदि आप फैट बर्न करना चाहते हैं तो कार्डियो आपके लिये सबसे अच्छा विकल्प है। बिना कार्डियो किये यदि आप पूरा दिन भी वेट लिफ्टिंग करें तो भी आपकी मांसपेशियों पर चढ़ी फैट की मोटी परत नहीं हटेगी।
    Images source : © Getty Images

    कार्डियो के फायदे
  • 3

    कार्डियो के नुकसान और जोखिम

    कार्डियो एक्सरसाइज की एक कमी में से एक है कि इससे चोटें जैसे, पिंडली में स्प्लिंट, जोड़ों में दर्द और स्ट्रैस फ्रेक्चर आदि लगने की संवेदनशीलता बढ़ती है। साथ ही यदि आप अपनी मांसपेशियों को टोन कर डोलों और बाकी मसल्स का साइज बढ़ाना चाहते हैं तो अकेले कार्डियो से ऐसे संभव नहीं है।  
    Images source : © Getty Images

    कार्डियो के नुकसान और जोखिम
  • 4

    वेट लिफ्टिंग के फायदे

    वेट लिफ्टिंग के परिणाम अपेक्षाकृत तेजी से और ध्यान देने योग्य होते हैं। इसे करने से मांशपेशिया मज़बूत बनती हैं और चोट लगने की आशंका भी कम होता है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया द्वारा किये गये शोध के मुताबिक, वेट लिफ्टिंग से याद्दाश्‍त बढ़ती है। शोध के अनुसार मात्र 20 मिनट तक वजन उठाकर आप अपनी याद्दाश्‍त 10 प्रतिशत तक बढ़ा सकते हैं। शोध के शोधकर्ताओं का मानना है कि वेट लिफ्टिंग से एपिसोडिक मेमोरी (लांग टर्म या अधिक समय तक रहने वाली याद्दाश्‍त) 10 प्रतिशत तक बढ़ती है।
    Images source : © Getty Images

    वेट लिफ्टिंग के फायदे
  • 5

    वेट लिफ्टिंग के नुकसान और जोखिम

    यदि वेट लिफ्टिंग के दौरान उचित वजन का इस्तेमाल न किया जाए या गलत तरीके से इसका इस्तेमाल किया जाए तो चोट लग सगती हैं। कार्डियो एक्सरसाइज की तुलना में अधिकतम लाभ व चोटों से बचाव के लिये पर्यवेक्षण और सही ट्रेनिंग की जरूरत होती है। कार्डियो किये बिना अकेले वेट लिफ्टिंग करने से सही फिज़ीक नहीं बन पाती है। इसलिये इन दोनों एक्सरसाइज को कम्बाइन कर ही करना चाहिये।
    Images source : © Getty Images

    वेट लिफ्टिंग के नुकसान और जोखिम
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर