हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

खतरनाक बीमारियों के लिए रामबाण है कलौंजी का तेल!

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 13, 2017
कैंसर से लेकर डायबिटीज और किडनी जैसी कई गंभीर बीमारियों से एक साथ निजात दिलाने में मदद करता है ये तेल।
  • 1

    बीमारियों के लिए रामबाण है कलौंजी का तेल

    अगर हम आपसे कहें कि आप खतरनाक बीमारियों का इलाज घर बैठे आसानी से कर सकते हैं तो शायद आपको यकीन नहीं होगा। लेकिन यह सच है कलौंजी के तेल की मदद से आप ऐसे कर सकते हैं। जी हां कलौंजी के तेल में गंभीर से गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता छिपी होती है। कलौंजी का तेल ऐसी चमत्कारिक घरेलू दवा है जो कैंसर से लेकर डायबिटीज और किडनी जैसी कई गंभीर बीमारियों से एक साथ निजात दिलाने में मदद करता है। आइए जानें कलौंजी के तेल के फायदों के बारे में जानें।
    Image Source : shutterstock

    बीमारियों के लिए रामबाण है कलौंजी का तेल
  • 2

    कलौंजी के गुण

    कलौंजी के तेल बहुत ही आसानी से उपलब्‍ध होने वाली बेहद ही प्रभावी और उपयोगी घरेलू उपाय है। कलौंजी के तेल में दो बेहद ही प्रभावकारी  थाइमोक्विनोन और थाइमोहाइड्रोक्विनोन नामक तत्‍व पाये जाते हैं जो अपने हीलिंग गुणों के कारण जाने जाते हैं। यह दोनों तत्व साथ में मिलकर सभी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। इसके औषधीय गुणों के कारण कलौंजी को हर मर्ज की दवा माना जाता है।
    Image Source : blogspot.com

    कलौंजी के गुण
  • 3

    कैंसर का इलाज

    कलौंजी का तेल शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को विकसित होने से रोकता है और उन्हें नष्ट करता है। यह कैंसर रोगियों में स्वस्थ कोशिकाओं की रक्षा करता है। इसमें मौजूद थाइमोक्विनोन एक बायो-एक्टिव तत्‍व, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी कैंसर कारक है। कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को कलौंजी के तेल की आधी बड़ी चम्मच को एक गिलास अंगूर के रस में मिलाकर दिन में तीन बार लेना चाहिए।

    कैंसर का इलाज
  • 4

    डायबिटीज के मरीजों के लिए वरदान

    डायबिटीज के रोगियों को एक कप कलौंजी के बीज, एक कप राई, आधा कप अनार के छिलके को पीस कर चूर्ण बना लेना चाहिए। आधे चम्मच कलौंजी के तेल के साथ इस चूर्ण को रोजाना ब्रेकअप से पहले लेना चाहिए। इस उपाय को लगातार एक महीने तक करने से आपको फर्क महसूस होने लगेगा।

    डायबिटीज के मरीजों के लिए वरदान
  • 5

    अस्‍थमा और सिरदर्द का उपचार

    अस्‍थमा की शिकायत होने पर छाती और पीठ पर कलौंजी के तेल की मालिश करें या पानी में तेल डालकर उस पानी से स्‍टीम लें। इसके अलावा कलौंजी का तेल सिरदर्द के उपचार में भी मदद करता है। सिरदर्द को कम करने के लिए माथे पर कलौंजी तेल का मसाज करना चाहिए। सिरदर्द को कम करने के लिए कलौंजी के तेल की (आधा चम्मच) दिन में दो बार पीना लाभकारी होगा। नियमित रूप से कलौंजी का तेल लेने से माइग्रेन का इलाज के इलाज में भी मदद मिलती है।

    अस्‍थमा और सिरदर्द का उपचार
  • 6

    वजन घटायें

    अगर आप अपने बढ़ते वजन से परेशान है तो कलौंजी के तेल को अपनायें। वजन कम करने के लिए आधा चम्‍मच कलौंजी के तेल और 2 चम्‍मच शहद को मिक्‍स करके गुनगुने पानी के साथ दिन में तीन बार लें। कुछ ही दिनों में आपको फर्क महसूस होने लगेगा। अगर आप भी हमेशा स्वस्थ और तंदरुस्त रहना चाहते हैं तो रोजाना कलौंजी का तेल इस्तेमाल कीजिए।

    वजन घटायें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर