हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

असमय नींद आये तो ये प्राकृतिक तरीके आजमायें

By:Devendra Tiwari , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 14, 2015
अस्वस्थ खानपान, दर्द, व्यायाम न करना, एल्कोहल, थायराइड आदि भी असमय नींद के जिम्मेमदार कारक हो सकते हैं। इससे पहले कि यह समस्या आपकी जीवनशैली को प्रभावित करे इससे बचने के लिए प्राकृतिक तरीके आजमायें।
  • 1

    जब हमेशा नींद सताये

    सामान्य शब्दों में कहें तो असमय नींद आने का आशय नींद के एहसास से है, यानी नींद कभी भी आपको अपनी आगोश में ले सकती है। इस स्थिति को हाइपरसोमनिया या सोमनोलेंस कहते हैं। जब हम नींद पूरी नहीं कर पाते तब यह समस्या होती है। ऐसी समस्या दिन में अधिक देखने को मिलती है। लेकिन अगर यह समस्या गंभीर हो जाये तो इसे हल्के में बिलकुल न लें। इसके लिए तनाव, अवसाद, उत्सुकता जैसी मनोभावनायें जिम्मेदार हो सकती हैं। दवाओं के सेवन से भी ऐसी समस्या हो सकती है। अस्वस्थ खानपान, दर्द, व्यायाम न करना, एल्कोहल, थायराइड आदि भी इसके लिए जिम्मेमदार कारक हो सकते हैं। इससे पहले कि यह समस्या आपकी जीवनशैली को प्रभावित करे इससे बचने के लिए प्राकृतिक तरीके आजमायें।

    जब हमेशा नींद सताये
  • 2

    पर्याप्त नींद लीजिए

    उनींदापन की समस्या से बचने के लिए पर्याप्त नींद लेना बहुत जरूरी है। इसलिए अपनी दिनचर्या में सोने के लिए कम से कम 7 से 9 घंटे जरूर निका‍लें। इसके अलावा रोज सोने का एक निश्चित समय बनायें, क्योंकि 7-9 घंटे नींद पूरी करने से अधिक जरूरी है निश्चित समय पर सोना और उठना। कोशिश करें कि बेड पर 10 बजे चले जायें और सुबह जल्दी उठें। इससे नींद संबंधित बीमारी नहीं होगी और आप स्वेस्थ रहेंगे।

    पर्याप्त नींद लीजिए
  • 3

    सुबह की धूप लें

    सुबह उठने के बाद कुछ देर धूप जरूर लीजिए। इससे आप दिनभर उर्जावान रहेंगे और नींद भी नहीं आयेगी। सूर्य की किरणें विटामिन डी का अच्छा स्रोत हैं। विटामिन डी की कमी से नींद संबंधित समस्या होती है, ऐसा 2013 में ‘क्लींनिकल स्लीप मेडिसिन’ जर्नल में प्रकाशित एक शोध में साबित भी हो चुका है। इसलिए सुबह उठकर कम से कम 15 मिनट के लिए धूप सेंके, इस दौरान किसी तरह की सनस्क्रीन न लगायें।

    सुबह की धूप लें
  • 4

    ठंडे पानी से चेहरा धुलें

    दिन में जब भी आपको नींद सताने लगे तब ठंडे पानी की छींटे चेहरे पर मारें। दरअसल ठंडे पानी से मुंह धुलने पर अचानक से तापमान में बदलाव आता है, क्यों कि शरीर का तापमान गरम होता है और ठंडे पानी के संपर्क में आने के बाद आप एनर्जेटिक हो जायेंगे। इसे और अधिक फायदेमंद बनाने के लिए मुंह धुलकर आप एअर कंडीशनर के सामने थोड़ी देर खड़े हो सकते हैं, यह वॉटर थेरेपी की तरह काम करेगा। सुबह ठंडे पानी से नहाने पर दिन में नींद नहीं आती है, क्योंहकि इससे रक्त  संचार सुचारु रहता है।

    ठंडे पानी से चेहरा धुलें
  • 5

    सुबह उठकर ग्रीन टी पियें

    सुबह की शुरूआत एक कप ग्रीन टी से करें। ग्रीन टी पीने से शरीर की क्षमता और ऊर्जा का स्तर बढ़ता है, इससे कई घंटे तक नींद नहीं आती। इसके अलावा सुबह ग्रीन टी पीने से मानसिक स्तर भी बढ़ता है और तनाव नहीं होता। इसमें मौजूद पॉलीफेनल से रात में अच्छी नींद भी आती है। सुबह के अलावा आप दिन में 2 कप ग्रीन टी और पी सकते हैं।

    सुबह उठकर ग्रीन टी पियें
  • 6

    हेल्दी ब्रेकफास्ट बहुत जरूरी

    अगर आप सुबह का नाश्ता भूल जाते हैं तो इससे कई समस्यायें होती हैं, मोटापे के अलावा पूरा दिन आलस में ही बीतता है। इसलिए हेल्दी और हैवी ब्रेकफास्ट बहुत जरूरी है। कई शोधों में भी यह बात साबित हो चुकी है कि सुबह ब्रेकफास्ट करने से पूरे दिन शरीर एनर्जेटिक रहता है। सुबह के नाश्ते में वसा कम हो, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट अधिक हो। ओटमील, अंडा, दही, ब्राउन ब्रेड, ताजे फल और सूखे मेवे को अपने ब्रेकफास्ट मेनू में शामिल करें। इसके अलावा लंच में बहुत अधिक न खायें और 2-3 घंटे के अंतराल पर हेल्दी‍ स्नैक्‍स लेते रहें। रात को सोने से 2 घंटे पहले डिनर जरूर कर लें।

    हेल्दी ब्रेकफास्ट बहुत जरूरी
  • 7

    दूसरे तरीके भी हैं

    इसके अलावा दिन में नींद से बचने के लिए दूसरे तरीके भी हैं। रोज 30 मिनट व्यायाम करें, नींबू-पानी पियें, कभी-कभी एरोमाथेरेपी लें, ऐसे आहार (पेस्ट्री, पास्ता, आलू, चावल, आदि) से बचें जिससे नींद आती हो। अगर बहुत अधिक नींद सताये तो 20 मिनट की पॉवर नैप ले सकते हैं। खुद से बॉडी मसाज देने से भी नींद भाग जायेगी। तेज आवाज में पसंदीदा गाना सुनकर भी असमय नींद से बच सकते हैं। काम के दौरान 5 मिनट टहलकर भी नींद दूर कर सकते हैं। जहां काम कर रहे हैं वहां का माहौल सकारात्ममक बनायें, इससे काम करने में मन लगेगा साथ ही ऐसी समस्यायें आपसे दूर रहेंगी। समस्या गंभीर हो तो एक बार डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।
    Image Source : Getty

    दूसरे तरीके भी हैं
Load More
X