हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

हेपेटाइटिस सी के उपचार के लिए 5 घरेलू नुस्‍खे

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 27, 2016
हेपेटाइटिस एक संक्रामक रोग है, जो कि लीवर से संबंधित है, इससे बचने के लिए कई घरेलू उपाय हैं। उनके बारे में विस्तार से जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़ें।
  • 1

    मुलेठी पाउडर और शहद

    मुलेठी पाउडर का आयर्वेद में बहुत पहले से नान एल्कोहल फैटी लीवर सम्बंधित बीमारियों के उपचार के लिए हो रहा है। मुलेठी पाउडर हमारे लिवर को बहुत फायदा पंहुचाती है। एक बड़ा चम्मच मुलेठी पाउडर में दो चम्मच शहद मिलाकर प्रतिदिन खाएं। हेपेटाइटिस के उपचार में यह भी बेहद फायदेमंद है। इसके साथ ही लिकोरिस की जड़ को पानी में उबालकर उसकी चाय भी बनाई जा सकती है।
    Image Source-Getty

    मुलेठी पाउडर और शहद
  • 2

    हल्दी

    हल्दी एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है। हल्दी का एंटीवायरल एक्शन हेपेटाइटिस सी के वायरस को बढ़ने से रोकता है। हल्दी को इस्तेमाल करने का सबसे आसान और अच्छा उपाय है कि इसे खाना बनाते वक्त मसालों के साथ मिलाकर खाएं या दूध में चुटकीभर हल्दी मिलाकर रोज पिएं। इससे आप लिवर संबंधी रोगों से बचे रहेंगे।
    Image Source-Getty

    हल्दी
  • 3

    आंवला

    आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है जो लीवर को हर तरह से फायदा पहुंचाता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट हमारे शरीर से टोक्सिन को हटाने में मदद करते हैं, और लीवर हमारे शरीर की वह जगह है जहाँ सबसे अधिक मात्रा में टोक्सिन पाया जाता है।  आंवला के प्रयोग से इम्यूनिटी बढ़े और पाचन शक्ति मजबूत हो। ऐसे में कच्चे आंवले को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर इसे सलाद में मिलाकर खा सकते हैं या आप इसे पीस कर दही में मिलाकर रायता भी बना सकते हैं। इसके अलावा जूस व चटनी के रूप मे भी खा सकते है।
    Image Source-Getty

    आंवला
  • 4

    लहसुन

    लहसुन शरीर से विषाक्त पदार्थो को साफ़ करने में मदद करता है।  लहसुन में भारी मात्रा में सेलेनियम पाया जाता है, जो की लीवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है और रक्त को साफ करता है। ऐसे में रोजाना सुबह खाली पेट लहसुन की एक से दो कली चबाएं। साथ ही खाना बनाने में भी लहसुन का प्रयोग मसाले के रूप में जरूर करें।
    Image Source-Getty

    लहसुन
  • 5

    काली गाजर व ग्रीन टी

    काली गाजर के भी बहुत फायदे हैं। विटामिन से भरपूर काली गाजर से खून की कमी पूरी होती है तथा रक्त संचार सुधरता है। हेपेटाइटिस में भी गाजर को सलाद के रूप में खाने से बहुत फायदे होते हैं। हरी चाय में एंटीऑक्सीडेंट के गुण भरी मात्रा में पाए जाते है। जिससे लीवर की सफाई में मदद होती है तथा लीवर अच्छे से काम करता है। हेपेटाइटिस के उपचार और बचाव के लिए ग्रीन टी को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।
    Image Source-Getty

    काली गाजर व ग्रीन टी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर