हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

हड्डियों की गांठ के घरेलू उपचार

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 22, 2016
बोन स्पर्स अर्थात हड्डियों का कुब्ब दरअसल हड्डियों के जॉइंट पर कुब्ब बन जाने या हड्डियों में असामान्य वृद्धि होता है। हालांकि, कई घरेलू उपचार ऐसे हैं, जिनकी मदद से बोन स्पर्स को ठीक किया जा सकता है और दर्द से राहत पाई जा सकती है।
  • 1

    बोन स्पर्स (bone spurs) के घरेलू उपचार


    बोन स्पर्स अर्थात हड्डियों का कुब्ब या गांठ को ऑसिट्योफिट्स नाम से भी जाना जाता है। यह दरअसल हड्डियों के जॉइंट पर कुब्ब बन जाने या हड्डियों में असामान्य वृद्धि होता है। बोन स्पर्स उम्र बढ़ने के साथ रीड़ के निचले हिस्से में होता है। हालांकि ये पैर या पैर की उंगलियों या एड़ी के साथ-साथ हाथ पर भी हो सकता है। बोन स्पर्स का मुख्य कारण पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस की वजह से हड्डी में आने वाली दरार होता है। यह बेहद दर्द और परेशानी का कारण बनता है और चलने फिरने से भी मौहताज कर देता है। हालांकि, कई घरेलू उपचार ऐसे हैं, जिनकी मदद से बोन स्पर्स को ठीक किया जा सकता है और दर्द से राहत पाई जा सकती है। चलिये जानें बोन स्पर्स अर्थात हड्डियों की गांठ के घरेलू उपचार कौंन से हैं। -  
    Images source : © Getty Images

    बोन स्पर्स (bone spurs) के घरेलू उपचार
  • 2

    ठंडा सेक


    ठंडी सेक को नियमित रूप से करने पर बोन स्पर्स के लक्षणों, जैसे दर्द, सूजन और लालिमा आदि कम होते हैं। इससे प्रभावित क्षेत्र में मांसपेशियों को आराम भी मिलता है।

    कैसे करें -

    • एक पतले तौलिये में कुछ आइस क्यूब्स डाल कर इसे ठीक से टाईट कर लें।
    • अब इस आइस पैक को प्रभावित क्षेत्र पर रखें और बहुत धीरे से दबाएं।
    • 5 से 10 मिनट के लिए ऐसा करें।
    • जरूरत के हिसाब से इस उपाय को दोहराएं।


    नोट: सीधे त्वचा पर बर्फ न लगाएं, क्योंकि इससे शीतदंश (फ्रोस्टबाइट) हो सकता है।
    Images source : © Getty Images

    ठंडा सेक
  • 3

    अदरक


    अदरक भी बोन स्पर्स के लिए एक कमाल का उपचार है। प्राकृतिक रूप से सूजन दूर करने के गुण के साथ, अदरक जलन और दर्द कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह रक्त परिसंचरण में सुधार करने में मदद करता है।
     
    कैसे करें -

    • दिन में तीन बार अदरक की चाय पियें। चाय बनाने के लिये 2 कप पानी में एक चम्मच बारीकी कटा हुआ अदरक डालकर 10 मिनट के लिये उबालें। इसे छानें और थोड़ा शहद मिलाकर पियें।  
    • इसके अलावा दिन में कुछ बार अदरक के तेल से प्रभावित क्षेत्र की मालिश करें।
    • वैकल्पिक रूप से, तुरत उपचार के लिये आप दो अदरक की 500 मिलीग्राम की दो गोलियां दिन में 3 बार ले सकते हैं। हांलाकि इस संबंध में पहले डॉक्टर से जरूर पूछें।

    Images source : © Getty Images

    अदरक
  • 4

    सेब का सिरका


    एप्पल साइडर सिरका भी बोन स्पर्स के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है। इसके सूजन दूर करने वाले गुण सूजन, जलन व दर्द को कम करते हैं। साथ ही ये पीएच के स्तर को बेलेंस कर बोन स्पर्स से बचाव करता है।

    कैसे करें -

    • कच्चे, अनफ़िल्टर्ड सेब साइडर सिरका के 1 से 2 चम्मच को 1 गिलास पानी में मिलाएं। बेहतर परिणामों के लिये दिन में इसका 2 बार सेवन करें।
    • आप पेपर टिशू को एप्पल साइडर सिरका में भिगोकर प्रभावित क्षेत्र पर रख भी सकते हैं। इसे दिन में दे से तीन बार कुछ घंटों के लिये प्रभावित क्षेत्र पर रखें।
    • जब तक दर्द और सूजन दूर न हो जाए, इस उपाय का पालन करें।

    Images source : © Getty Images

    सेब का सिरका
  • 5

    हल्दी


    हल्दी बोन स्पर्स से जुड़े लक्षणों को दूर करने में कारगर होती है। हल्दी में मौजूद पीला रंग का करक्यूमिन (Curcumin),  में सूजन दूर करने वाले तथा  एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जोकि सूजन और दर्द को कम करने में मदद करते हैं।  

    कैसे करें -

    • एक चम्मच हल्दी को एक कप दूध में मिलाकर धीमी आंच पर गर्म करें। त्वरित लाभ के लिये इसे दिन में दो बार पियें।
    • वैकल्पिक रूप से, आप 400 से 600 मिलीग्राम के एक हल्दी के सप्लीमेंट, दिन में 3 बार ले सकते हैं, लेकिन केवल अपने चिकित्सक से परामर्श के बाद।

    Images source : © Getty Images

    हल्दी
  • 6

    अलसी के बीज (Flaxseed)


    अलसी के बीज में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक रूप) होता है, जोकि दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है।

    कैसे करें -

    • कुनकुने अलसी के तेल में एक साथ सूती कपड़े को भिगोएं और प्रभावित क्षेत्र पर बांध लें। इस क्षेत्र गर्म रखने के लिए कपड़े पर एक हीटिंग पैड रख लें। रोज़ाना एक बार इस उपचार का प्रयोग करें।
    • दूरा विकल्प है कि, एक कप अलसी के बीजों को एक कपड़े में ठीक से बांध लें। इसे कुछ सेकंड के लिये माइक्रोवेव में गर्म करें। अब इसे निकालें और कुछ मिनटों के लिये प्रभावित क्षेत्र पर रख कर हल्के से दबाएं। जरूरत के हिसाबब से इस क्रिया को देहराएं। आप इस अलसी के गर्म पैक को दोबारा कुछ बार उपयोग कर सकते हैं।  
    • इसके अलावा, नियमित आधार पर अपने आहार में अलसी के बीज शामिल करें।

    Images source : © Getty Images

    अलसी के बीज (Flaxseed)
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर