हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

पिंपल्स से जुड़े मिथ औऱ उनकी सच्चाईयों के बारे में जानें

By:Gayatree Verma , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 16, 2016
पिंपल्स होने पर लोग क्या-क्या करते हैं लेकिन सब बेकार। क्योंकि इन सारे नुस्खे पिंपल्स से जुड़े कुछ मिथकों पर आधारित होते हैं जो बिल्कुल गलत हैं। ऐसे में ये नुस्खे भी गलत साबित होते हैं। तो इन मिथक और इनकी सच्चाईयों के बारे में इस स्लाइडशो में जानें।
  • 1

    मिथ - पिंपल्स की वजह गंदा चेहरा

    लोगों को मानना है कि चेहरा जब अच्छे से साफ नहीं रहता तो पिंपल्स होते हैं। चेहरे की गंदगी पिंपल्स का कारण बनती है। लोग मानते हैं कि चेहरा जब अच्छे से साफ नहीं होता तो गंदगी पिंपल्स के रुप में चेहरे पर निकलती है।  

    सच्चाई-  दरअसल पोर्स में फंसी गंदगी और चेहरे की गंदगी से ब्लैकहेड्स होते हैं। फॉलिसल्स में फंसे सीबम व मृत त्वचा के कारण चेहरे के पोर्स बंद हो जाते हैं जिससे ब्लैकहेड्स होते हैं। और जब ये गंदगी के संपर्क में आते हैं तो उनका रंग डार्क ब्राउन हो जाता है। ऐसे में लोग इसे पिंपल्स समझ लेते हैं और इसका कारण गंदगी समझा जाता है। जबकि इन पिंपल्स नुमा ब्लैकहेड्स का गंदगी से कोई खास संबंध नहीं होता है। ये आपके चेहरे में पैदा होने वाले अतिरिक्त तेल के कारण होते हैं।

    क्या करें - ऐसे में इनसे छुटकारा पाने के लिए नियमित रूप से चेहरा एक्सफ्लोएट करें।

    मिथ - पिंपल्स की वजह गंदा चेहरा
  • 2

    मिथ - पिंपल्स होने पर स्किन को मॉश्चराइज ना करें

    पिंपल्स होने पर लोग सलाह देते हैं कि चेहरे को मॉश्चराइज नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे चेहरे को और अधिक तेल मिलता है जिससे और अधिक मात्रा में गंदगी इकट्ठी होती है और पिंपल्स होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। ऐसे में पिंप्लस से पीड़ित इंसान मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करने से पहले झिझकता है।


    सच्चाई -
    ऑयली त्वचा वाले लोग मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करने से पहले झिझकते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे और अधिक पिंपल्स हो सकते हैं। जबकि मॉश्चराइजर चेहरे की त्वचा के लिए बहुत जरूरी है। भले ही इससे आपको पिंपल्स की समस्या क्यों ना हो। हां, लेकिन ऐसे समय में त्वचा के अनुसार मॉश्चराइजर चुनें।


    क्या करें -
    माइल्ड ऑयल-फ्री मॉश्चराइजर ऑयली त्वचा के लिए अच्छा रहेगा। इससे आपकी त्वचा को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा।

    मिथ - पिंपल्स होने पर स्किन को मॉश्चराइज ना करें
  • 3

    मिथ - जंक फूड है पिंपल्स का कारण

    लोगों का मानना है कि पिंपल्स जंक फुड के कारण होते हैं। बाहर की चीजें, तैलीय पदार्थ, जंक फुड, कोल्ड्रिंक आदि के कारण पिंपल्स होते हैं। ऐसे में लोग  पिंपल्स होने पर चिकने खाद्य पदार्थ, जंक फुड और कोल्ड्रिंक सेवन ना करने की हिदायत देते हैं।

    सच्चाई - ऐसा नहीं है। सामान्य तौर पर जंकफुड पिंपल्स का कारण नहीं बनते। कई शोध पुष्टि करते हैं कि चॉकलेट, फ्रेंच फ्राइज़ और चीजबर्गर आदि खाद्य पदार्थ खाने का त्वचा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। कई शोध में तो दूध और दूध से बने अन्य डेयरी उत्पादों को पिंपल्स का कारण मान गया है। इसी तरह दूसरे अन्य शोध से मालुम चला है कि एक कम ग्लाईसेमिक इंडेक्स और फाइबर वाले फल और सब्जियां पिंपल्स के लिए फायदेमंद है।

    क्या करें - ऐसे में अगर किसी को पिंपल्स की समस्या है तो वो कुछ दिनों के लिए दूध का सेवन ना करें।

    मिथ - जंक फूड है पिंपल्स का कारण
  • 4

    मिथ - पिंपल्स होने पर बार-बार चेहरा धोएं

    लोगों का मानना है कि पिंपल्स होने पर चेहरा बार-बार धोना चाहिए। इससे चेहरे की गंदगी साफ होती है और चेहरे की त्वचा पर से अतिरिक्त ऑयल निकल जाता है और पिंपल्स ठीक हो जाते हैं। ऐसे में कई लोग चेहरे से तेल निकालने और उसे ड्राई बनाने के लिए हार्ड फेसवॉश का इस्तेमाल करने लगते हैं। जिससे चेहरे के ड्राय होने पर पिंपल्स भी ड्राय हो जाता है और लोग सोचते हैं कि ऐसा चेहरा धोने के कारण हुआ है।

    सच्चाई - जबकि ऐसा नहीं है। बार-बार चेहरा धोने से चेहरे का नेचुरल ऑयल खत्म हो जाता है। हार्ड फेसवॉश का इस्तेमाल करने से चेहरे की स्कीन सूख जाती है और अधिक खराब हो जाती है। त्वचा के ड्राय होने पर पिंपल्स भी ड्राय लगता है जिससे लोग सोचते हैं कि ये ठीक हो गया है। जबकि ऐसा नहीं होता।

    क्या करें - बाहर से आने पर गुलाबजल से भीगे हुए रुई से चेहरे को अच्छी तरह से साफ कर लें। फिर बर्फ के पानी से चेहरा धो लें। फेसवॉश और स्क्रबर से बचें।

    मिथ - पिंपल्स होने पर बार-बार चेहरा धोएं
  • 5

    मिथ - पिंपल्स को फोड़ने पर वो जल्दी ठीक होते हैं

    कुछ लोग मानते हैं और दूसरों को सलाह भी देते हैं कि पिंपल्स को फोड़ने पर वो जल्दी ठीक हो जाते हैं।

    सच्चाई - ये सबसे बड़ा मिथ और झूठ है जिसपर लोग यकीन कर लेते हैं। खासकर युवा इस बात को जल्दी मान लेते हैं। जबकि ऐसा करने से केवल आप दर्द को बुलावा दे रहे हैं। कई बार तो ऐसा करने पर और अधिक पिंपल्स होने की संभावना होती है। कई बार तो इससे चेहरे पर निशान भी बन जाते हैं।

    क्या करें - पिंपल्स ना फोड़ें।

    मिथ - पिंपल्स को फोड़ने पर वो जल्दी ठीक होते हैं
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर