हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इलेक्ट्रिक शॉक लग जाए तो तुरंत करें ये काम!

By:Atul Modi, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 12, 2017
बिजली का झटका किसी को भी लग सकता है। इसके लिए सावधानी बरतना बहुत जरूरी है। बिजली का झटका लगने के बाद कुछ ऐसे उपाए है जिससे व्‍यक्ति की जान बचाई जा सकती है। करंट लगने से बचाया जा सकता है।
  • 1

    खतरनाक हो सकता है बिजली का झटका

    इलेक्ट्रिक शॉक यानि बिजली का झटका या करंट लगना एक आपात स्थिति हो सकती है। करंट लगने से हृदय गति रूकने का खतरा रहता है। शरीर के आंतरिक हिस्‍सों को नुकसाना पहुंच सकता है। साथ ही जलने और छाले होने की संभावना रहती है। पानी में खड़े व्‍यक्ति के लिए बिजली का झटका खतरनाक हो सकता है। झटका तेज होने पर व्‍यक्ति की जान भी जा सकती है। करंट लगने की स्थिति में सावधानी बरतनी जरूरी है। करंट लगने की स्थिति में किसी की जान बचाने के क्‍या तरीके अपना सकते हैं, आईये हम आपको इस स्‍लाइडशो के माध्‍यम से आपको बताते हैं कि क्‍या हैं इसके उपाय।

    खतरनाक हो सकता है बिजली का झटका
  • 2

    बरतें सावधानी

    सबसे पहले कोशिश ये करनी चाहिए कि करंट की स्थिति ही न पैदा हो। अपने घर में या आप जहां रह रहें है वहां की इलेक्ट्रिक लाइन को दुरूस्‍त रखें। आप किसी से मदद मांगने के बजाए अपने आस पास की चीजों को एक बार जरूर देख लें।

    बरतें सावधानी
  • 3

    काट दें बिजली का कनेक्‍शन

    अगर आपके आस पास किसी को करंट लग गया है तो उसे बचाने की कोशिश करें। ध्‍यान रहे कि जिस समय व्‍यक्ति को करंट लगा है उस समय उसे न छूएं बल्कि बिजली का कनेक्‍शन काट दें। व्‍यक्ति को किसी लकड़ी के डंडे से अलग कर दें। इससे आप सुरक्षित उसे करंट से बचा सकते हैं।

    काट दें बिजली का कनेक्‍शन
  • 4

    रिकवरी पोजिशन में लिटा दें

    अगर आपने किसी व्‍यक्ति को करंट से अलग कर दिया है तो सबसे पहले उसे रिकवरी पोजिशन में कहीं लिटा दें, इस स्थिति में उसका हाथ एक सिर के नीचे और दूसरा आगे की ओर और एक पैर सीधा होना चाहिए जबकि दूसरा मुड़ा हुआ रहना चाहिए। अगर उसकी सांस चल रही है और वह जल गया है तो उस स्‍थान को पानी से धो लें। यदि ब्‍लीडिंग हो रही है तो उसे साफ कपड़ा बांध दें।

    रिकवरी पोजिशन में लिटा दें
  • 5

    डॉक्‍टर की सलाह जरूरी

    यदि व्‍यक्ति सांस नही ले रहा है तो आप तुरंत कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन शुरू करें। इस प्रक्रिया से किसी बेहोश व्‍यक्ति को दोबारा होश में लाया जा सकता है। अगर वह सांस ले रहा है तो यह विधि ना अपनाएं। सबसे खास बात यह है कि करंट लगने के तुरंत बाद व्‍यक्ति का तुरंत ट्रीटमेंट होना जरूरी है। घटना के बाद भले ही क्‍यों न उसकी स्थिति सामान्‍य हो। डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।
    Image Source : Getty

    डॉक्‍टर की सलाह जरूरी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर