हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

प्यूबर्टी के दौरान हर लड़की के लिए जरूरी है ये पोषण

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 13, 2015
लड़कियों को किशोरावस्था के दौरान अपने आहार का विशेष ध्यान रखना चाहिए। शरीर में होने वाले बदलावों के चलते उन्हें जरूरी पोषण लेना चाहिए। किशोरावस्था के दौरान के आहारों पर उनका शारीरिक विकास निर्भर करता है।
  • 1

    प्यूबर्टी में आवश्यक आहार

    प्यूबर्टी, किशोरावास्था को कहते है। य़ुवा होती लड़कियों के शरीर में कई तरह के बदलाव आते है। ये बदलाव शारीरिक व मानसिक दोनो तरह के होते है। इस दौरान उन्हें माहवारी शुरू होती है, साथ शरीर के अंग भी विकसित होते है। उनके हार्मोंस में भी बदलाव आते है, जो उनकी सोच को प्रभावित करते है। इस उम्र में लड़कियों को अपने आहार का विशेष ध्यान रखना चाहिए जिससे उनका विकास पूर्ण रूप से हो सके। इस स्लाइड शो जरिए हम आपको लड़कियों के लिए आवश्यक आहारों के बारें मे बता रहे है:-

    ImageCourtesy@GettyImages

    प्यूबर्टी में आवश्यक आहार
  • 2

    आयरन

    प्यूबर्टी की उम्र में जब माहवारी की शुरूआत होती है तो, शरीर में खून की कमी भी होने लगती है। दूषित रक्त के साथ बहुत सारे जरूरी खनिज एवं धातुएं भी निकल जाती हैं। यदि उसकी पूर्ति न हो तो महिलाएं गंभीर समस्या से ग्रस्त हो जाती हैं। शरीर में खून की कमी आयरन की कमी के बराबर होती है। इससे -इस उम्र में एनीमिया की शिकायत भी बो सकती है। इसलिए खाने में पालक और मीट जैसे आहार शामिल करें जो आयरन से भरपूर हो।

    ImageCourtesy@GettyImages

    आयरन
  • 3

    कैल्शियम

    प्यूबर्टी की उम्र में लड़कियों को कैल्शियम की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। कैल्शियम से हड्डियां मजबूत होती है। जो शारीरिक विकास में आवश्यक अंग होता है । हमारे शरीर की आधी से ज्यादा हड्डियां किशोरावस्था में बनती हैं, इसलिए जरूरी है कि इस उम्र में भरपूर मात्रा में अपने आहार में कैल्शियम को शामिल किया जाए। दूध, पनीर आदि आहारों के भोजन में शामिल करें।
    ImageCourtesy@GettyImages

    कैल्शियम
  • 4

    जिंक

    लड़कियों के शारीरिक विकास के लिए जिंक का आहार में शामिल होना आवश्यक होता है। य़े प्रोटीन के निर्माण में मदद करती है। जिंक की कमी से  शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता घटती जाती है। जिंक की कमी से डीएनए को नुकसान पहुंच सकता है। प्रतिदिन महिला को आठ मिलीग्राम जिंक की जरूरत होती है।  दूध, दही, घी, सेम और दाल, मूंगफली, मूंगफली का मक्खन, बीज, गढ़वाले नाश्ता अनाज आदि में जिंक पाया जाता है।
    ImageCourtesy@GettyImages

    जिंक
  • 5

    विटामिन डी

    कैल्शियम के पूरे लाभ के लिए विटामिन डी बेहद जरूरी है। विटामिन डी, गुर्दों और आंतों से कैल्शियम के अवशोषण में मदद करता है। ऐसा न हो पाने की स्थिति में यह शरीर से अपशिष्ट के रूप में बाहर निकल जाता है। इसलिए भले ही आप दूध, पनीर आदि भरपूर मात्रा में लेती हों, आपको उसका लाभ नहीं मिल पाता।
    ImageCourtesy@GettyImages

    विटामिन डी
  • 6

    विटामिन बी12

    पानी में घुलनशील इस विटामिन में कोबाल्ट होने के कारण इसे कोबालामिन भी कहते हैं। मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के ठीक तरह से काम करने और लाल रक्त कणिकाओं के निर्माण में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। यह मानव शरीर की हर कोशिका के मेटाबॉलिज्म के लिए आवश्यक है, विशेषकर यह डीएनए के निर्माण और नियंत्रण के लिए जरूरी है। यह फैटी एसिड के निर्माण और ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए भी जरूरी है।
    ImageCourtesy@GettyImages

    विटामिन बी12
  • 7

    प्रोटीन

    प्रोटीन शरीर मे मांसपेशियों को बनाने और बचाने में मदद करता हैं। प्रोटीन में मौजूद अमीनो एसिड्स मांसपेशियों की वृद्धि, उनकी मरम्मत और उनकी रक्षा में काम आते हैं। शरीर के प्रति किलो वजन के लिए दो ग्राम प्रोटीन की ज़रूरत होती है।  सोया , अंडे आदि में प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है।
    ImageCourtesy@GettyImages

    प्रोटीन
  • 8

    फाइबर और कार्बोहाइड्रेट

    कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट  वाला आहार जिसमें खूब सारा फाइबर हो वह लें। यह धीरे-धीरे शरीर में घुल जाता है और इससे उर्जा मिलती है। इसके अलावा ऐसी चीजों में मिलने वाला फाइबर भूख कम करता है आपको जरूरत से ज्यादा खाने से रोकता है में मिलेगी। चावल होल ग्रेन ब्रेड बींस फल व सब्जियां कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइडृट के बेहतरीन स्रोत होते हैं जिनमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है।
    ImageCourtesy@GettyImages

    फाइबर और कार्बोहाइड्रेट
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर