हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

पुरुष विवाहित जीवन में न करें ये सात गलतियां

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 23, 2014
शादीशुदा जीवन में पति पत्‍नी दोनों के बीच संतुलन होना जरूरी है। जहां संतुलन हल्‍का सा डगमगाया वहां परेशानी शुरू। यह माना जाता है कि महिलायें क्‍योंकि अधिक भावनात्‍मक होती हैं, इसलिए वे रिश्‍तों को अधिक गंभीरता से निभाती हैं। वहीं पुरुष जाने-अनजाने कुछ ऐसी गलतियां करते हैं जिसका खामियाजा उनके रिश्‍ते को उठाना पड़ता है। जानिये कौन सी हैं वे सात गलतियां।
  • 1

    शादीशुदा जीवन में पुरुषों की गलतियां

    जब बात रिश्‍तों को संभालने की बात आती है, तो पुरुष अकसर इस मामले में पीछे छूट जाते हैं। पुरुष कई गलतियां करते हैं और लगातार उन ग‍लतियों को दोहराते रहते हैं। हैरानी की बात यह है कि अकसर उन्‍हें इन गलतियों का अहसास ही नहीं होता। वे इन गलतियों को लगातार दोहराते जाते हैं और आखिर में इसका खामियाजा उनके रिश्‍ते को भुगतना पड़ता है। इन आदतों को बदलकर वे न केवल अपने साथी को खुश रख सकते हैं, बल्कि साथ ही अपने रिश्‍ते को भी बेहतर बना सकते हैं।
    Image Courtesy- Getty Images

    शादीशुदा जीवन में पुरुषों की गलतियां
  • 2

    भावनात्‍मक जुड़ाव

    अपने साथी की भावनाओं को जरूर समझें। किसी भी मजबूत रिश्‍ते की बुनियादी जरूरत अपने साथी की भावनाओं को समझना और उसे महत्‍ता देना होता है। महिलायें स्‍वाभाविक रूप से भावनात्‍मक होती हैं। और इसलिए वे अपने साथी के साथ बेहतर तरीके से तालमेल रख पाती हैं। पुरुष आमतौर पर समस्‍या के त्‍वरित समाधान पर ध्‍यान देते हैं। वे इस बात को नहीं समझते कि उस समय आपके साथी को समाधान से ज्‍यादा आपके साथ की जरूरत है। अगर आप प्‍यार से, ध्‍यान से उसकी समस्‍या सुन लें, तो इससे महिला को काफी सहारा मिलता है। उसे लगता है कि उसने आधी जंग जीत ली। अगर आप ऐसा नहीं करते, तो महिलाओं को लगता है कि उन्‍हें महत्‍ता नहीं दी जा रही। महिलाओं को तथ्‍यात्‍मक सुझाव देने से बेहतर है कि आप उसकी बातों को ध्‍यान से सुनें।
    Image Courtesy- Getty Images

     भावनात्‍मक जुड़ाव
  • 3

    बेतरतीब खर्च करना

    शादी के बाद आप दोनों सुख-दुख के साथी हैं। जीवन के बड़े फैसले आपको मिलकर लेने हैं। अगर आप अपनी पत्‍नी से बात किये बिना बहुत अधिक खर्च कर देते हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते पर गहरा असर पड़ता है। अगर आप लगातार ऐसा करते रहते हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते को गहरा नुकसान पहुंचता है। आमतौर पर पुरुष ऐसी गलतियां बहुत करते है। जिंदगी के बड़े फैसले आप दोनों को मिलकर करने चाहिये। लेकिन, जब आप हर चीज का नियं‍त्रण अपने हाथ में लेने लगते हैं, तब समस्‍याओं की शुरुआत होती है। इससे आपकी पत्‍नी को यह अहसास हो सकता है कि शायद बड़े फैसलों में उसकी जरूरत नहीं है।
    Image Courtesy- Getty Images

    बेतरतीब खर्च करना
  • 4

    प्‍यार में कमी

    आमतौर पर कई पुरुष ऐसी गलतियां करते हैं। जब पुरुषों को अहसास होता है कि उनका साथी उनकी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर पा रहा, तो वे जानबूझकर या अनजाने में अपने प्‍यार में कमी कर देते हैं। लेकिन, इससे आपके रिश्‍ते को कोई फायदा होने वाला नहीं है। शादी एक ऐसा रिश्‍ता है जो आपसी सूझबूझ और स्‍वीकार्यता पर टिका होता है। एक दूसरे की भावनाओं को समझना और उन्‍हें अहमियत देना ही इस रिश्‍ते का मूल आधार होता है। हालांकि, अगर समस्‍या बढ़ रही हो तो आप दोनों का साथ बैठकर उसका समाधान करना चाहिये। अपने प्‍यार में कमी करके आप समस्‍या में इजाफा ही करेंगे।
    Image Courtesy- Getty Images

    प्‍यार में कमी
  • 5

    आर्थिक तथ्‍य छुपाना

    हम पहले भी इस बारे में बात कर चुके हैं कि पुरुष अपनी पत्‍नी से पूछे बिना अधिक खर्चा करते हैं। और अपने आर्थिक मामलों को अपनी पत्‍नी से छुपाकर वे समस्‍या में और इजाफा करते हैं। यह बात चाहे कड़वी लगे, लेकिन पूरी तरह सच है कि जब किसी एक व्‍यक्ति के हाथ में पूरा आर्थिक नियंत्रण आ जाता है, तो सारे फैसले लेने का अधिकार भी उसे स्‍वत: ही मिल जाता है। इससे आपका रिश्‍ता समाप्‍त भी हो सकता है। अगर आप आपस में आर्थ‍िक मुद्दों पर पारदर्शी हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते को मजबूती मिलती है। यह आप दोनों के लिए फायदेमंद ही साबित होगा।
    Image Courtesy- Getty Images

    आर्थिक तथ्‍य छुपाना
  • 6

    बेडरूम में सनकी व्‍यवहार

    पुरुष अकसर अपनी संतुष्टि के बारे में सोचते हैं। उन्‍हें अपने साथी के बारे में कोई खयाल नहीं रहता। यह पूरी तरह गलत है। सेक्‍स के दौरान उनका पूरा ध्‍यान अपनी ओर होता है। पत्‍नी, उनकी नजर में सेक्‍स प्रदान करने के लिए होती है। वे उसकी भूमिका को नजरअंदाज कर देते हैं। और इससे वे सेक्‍स के उस चरमानंद से अछूते रह जाते हैं, जो वे अपने साथी के साथ हासिल कर सकते हैं। याद र‍खने वाली बात यह है कि सेक्‍स में आप और आपका साथी बराबर के भागीदार हैं। और अपने साथी की भूमिका को महत्‍ता न देना गलत बात है। अपने साथी से पूछें कि आखिर उसे सेक्‍स में क्‍या पसंद है और वही करने का प्रयास करें।
    Image Courtesy- Getty Images

    बेडरूम में सनकी व्‍यवहार
  • 7

    मां से तुलना करना

    कोई भी महिला नहीं चाहती कि उसकी तुलना किसी दूसरी महिला से की जाए। फिर चाहे वह किसी भी काम को लेकर क्‍यों न हो। चाहे वह खाना पकाना हो या फिर सफाई। महिलायें नहीं चाहतीं कि उनके सामने किसी दूसरी महिला की प्रशंसा की जाए। आपकी मां ने आपको पाल पोसकर बड़ा किया। आपका खयाल रखा। लेकिन, ठीक वैसी ही उम्‍मीद अपनी पत्‍नी से करना तो जायज नहीं। सबसे पहली बात, पति, पत्‍नी दोनों को आत्‍म निर्भर होना चाहिये। दूसरा, अगर आप किसी काम में अपनी पत्‍नी की मदद चाहते हैं तो आपको अपना अंदाज जरा संतुलित रखें। ऐसा न लगे कि आप यह जताना चाहते हैं कि आपका खयाल रखने में वह आपकी मां जितनी सजग नहीं है।
    Image Courtesy- Getty Images

    मां से तुलना करना
  • 8

    चुनौतियों से बचना

    पत्‍नी आपके जीवन में बदलाव ला देती है। वह आपके साथ हर कदम पर चलने को तैयार होती है और वह भी खुशी-खुशी। लेकिन, अगर आप उसके प्रयासों को सराहेंगे नहीं, तो यह आपके रिश्‍ते के लिए अच्‍छा नहीं। यह उसका अपमान है। आपको उसकी तारीफ करते रहना चाहिये। आपको इस बात को समझना चाहिये कि आपके जीवन को बदलने के लिए उसने अपना वक्‍त और मेहनत का निवेश किया है। आपके जीवन में ऐसा बदलाव जो शायद आप अकेले कभी नहीं ला पाते। आपको प्रमोशन मिला, आर्थिक तौर पर आप मजबूत हुए यह सब इसलिए भी हो पाया कि कोई आपके साथ खड़ा था, हर वक्‍त, हर परिस्थिति में।
    Image Courtesy- Getty Images

    चुनौतियों से बचना
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर