हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

वजन कम करना है तो खाओ दिन में छः मील!

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 05, 2015
दिन में छः मीन लेने से अपकी ऊर्जा का स्तर स्थिर हो सकता है। इससे आप ज्यादा खाने से बचते हैं और भोजन का पूरा लाभ मिलता है।
  • 1

    एक दिन में छः मील

    यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि पारंपरिक तौर पर दिन में तीन भोजन लेने की तुलना में दिन की दृष्टिकोण से दिन में छः छोटे मील खाने से अधिक वजन घटाने में मदद मिलती है या नहीं। हालांकि, दिन में छः मीन लेने से अपकी ऊर्जा का स्तर स्थिर हो सकता है। इससे आप ज्यादा खाने से बचते हैं और भोजन का पूरा लाभ मिलता है। इस 6 मील डाइट प्लान की मदद से आप बर्न की गयी कैलोरी से कम का सेवन करते हैं और अतिररिक्त वजन कम कर पाते हैं। तो चलिये दिन के छः मील प्लान और वजन घटाने से जुड़े पहलुओं पर विस्तार से बात करते हैं।  
    Images courtesy: © Getty Images

    एक दिन में छः मील
  • 2

    क्या है फायदा

    एक बार में बहुत ज्यादा खाने के बजाए छोटे- छोटे और कई पौष्टिक आहार लना वज़न कम करनेका एक बड़ा कदम होता है। आहार में  एवाकाडो, रोटी, आलू, पॉल्ट्री, मछली व सलाद को शामिल करें। इससे मसल्स ग्रोथ होती है और फैट बढ़ने के बजाये हड्डियां मजबूत बतनी हैं।
    Images courtesy: © Getty Images

    क्या है फायदा
  • 3

    छः मील की सलाह

    सालों से दिन में तीन बार खाने का चलन चलता आ रहा है। लेकिन कुछ शोधों के बाद इसमें थोड़ा बदलाव आया है और अब आहार विशेषज्ञों ने दिन में तीन बार लिये जाने वाले मेन मील (ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर) के बीच में 2 से 3 बार स्नैक्स खाने की सलाह दी है। एक शोध में यह भी कहा गया कि रोजाना 6 बार खाना सेहत के लिए बेहतर होता है और इससे वजन सही बना रहता है। वहीं कुछ शोध बताते हैं कि दिन में छः मील लेने से मेटाबोलिज्म बेहतर होता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    छः मील की सलाह
  • 4

    पांच बार खाना ही काफी

    2003 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने निर्देश जारी किए कि लोगों को दिन में पांच बार फल सब्जी का सेवन करना चाहिए। लेकिन ब्रिटेन हुए एक नए शोध ने दिन में पांच की जगह सात बार खाने की बात कही। वहीं एक और ताजा शोध में इसकी जांच की गई और वैज्ञानिकों द्वारा पाया गया कि शरीर को जितना ज्यादा फल और सब्जियों से भरा आहार मिलगा, लाभ भी उतना ही बढ़ता जाएगा। लेकिन पांच बार के बाद लाभ  होना रुक जाता है, फिर चाहे आप सात बार ही क्यों ना खाएं, फायदा उतना ही मिलेगा जितना पांच बार खाने से होता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    पांच बार खाना ही काफी
  • 5

    एक बार में 80 ग्राम

    आहार विशेषज्ञों द्वारा एक बार में कम से कम 80 ग्राम खाने की सलाह दी जाती है। 80 ग्राम भोजन का आशय एक सेब, या एक कटोरी सलाद या फिर सब्जी के चार-पांच चम्मचों से है। जानकार मानते हैं कि अधिकांश लोग ऐसा दिन में ज्यादा से ज्यादा चार बार ही कर पाते हैं, इसलिए बेहतर स्वास्थ्य के लिये लोगों को अपनी दिनचर्या बदलने की जरूरत है।
    Images courtesy: © Getty Images

    एक बार में 80 ग्राम
  • 6

    बढ़ता है मेटाबॉलिज्म

    कुछ शोधों के अनुसार कई बार खाना खाने से हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म दर बढ़ जाती है। (मेटाबॉलिज्म वह प्रक्रिया है जिसमें खाना पचने के बाद शरीर के सेल्स व टिश्यूज द्वारा उपयोग किये जाने योग्य बनता है।) मेटाबॉलिज्म के दौरान भोजन ऊर्जा, एंजाइम्स और फैट में परिवर्तित होता है। ऊर्जा शरीर को काम करने की शक्ति देती है, एंजाइम्स हॉर्मोंस बनाते हैं और पाचन में मदद करते हैं, वहीं फैट शरीर में जमा हो जाता है। यदि मेटाबॉलिज्म ठीक न हो तो शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाता है। इससे कॉलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर, दोनों बढ़ने को जोखिम अधिक हो जाता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    बढ़ता है मेटाबॉलिज्म
  • 7

    एक मील में कितना खाएं

    एक सर्विंग का मतलब एक सेब या एक नाशपाती, एक अमरूद या फिर एक कटोरा अंगूर या पपीता होता है। ठीक इसी प्रकार सब्जियों का अनुमान भी छोटी कटोरी से लगाया जा सकता है। अर्थात तमाम फल और सब्जियां मिलाकर यदि दिन भर में छः सर्विंग खाई जाएं तो हमारी सेहत में सुधार आता है और वजन भी कम होता है। सब्जियों और फलों को खाने के साथ-साथ बतौर स्नैक्स मील्स के बीच में खाने में भी कोई समस्या नहीं है।
    Images courtesy: © Getty Images

    एक मील में कितना खाएं
  • 8

    सब पर लागू नहीं होता ये नियम

    हालांकि कुछ शोध यह भी बताते हैं कि दिन में छः बार भोजन का यह नियम डायबिटीज व अन्य कुछ रोगों से पीड़ित व्यक्तियों पर लागू नहीं होता है। इसलिए इसे फॉलो करने से पहले एक बार अपने डायटीशियन से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।
    Images courtesy: © Getty Images

    सब पर लागू नहीं होता ये नियम
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर