हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

उच्‍च रक्‍तचाप के इन अनजाने कारणों को जानें

By:Bharat Malhotra, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 25, 2014
उच्‍च रक्‍तचाप के सामान्‍य कारणों से आप परिचित ही हैं। और इनसे दूर रहने की सलाह भी दी जाती है। लेकिन, कई कारण ऐसे भी हैं, जिनके बारे में हमें ज्‍यादा जानकारी नहीं है।
  • 1

    रक्‍तचाप के छुपे हुए कारण

    यह तो हम जानते ही हैं कि उच्‍च रक्‍तचाप या हायपरटेंशन का संबंध अधिक वजन और व्‍यायाम की कमी से होता है। और हम यह भी जानते हैं कि ज्‍यादा नमक के उपभोग और धूम्रपान भी आपका वजन बढ़ा सकते हैं। लेकिन, कुछ ऐसे कारण भी हैं, जिनके बारे में आपने विचार नहीं किया है। हम आपको कुछ ऐसे कारणों के बारे में बता रहे हैं, जिनके बारे में शायद आपने पहले कभी विचार न किया हो।

    रक्‍तचाप के छुपे हुए कारण
  • 2

    दवायें

    दवाओं का उपयोग हम सेहतमंद रहने के लिए करते हैं, लेकिन कुछ दवायें हमारा रक्‍तचाप बढ़ा सकती हैं। इनमें एंटीडिप्रेसेंट्स और बर्थ-कंट्रोल पिल्‍स शामिल हैं। इसके अलावा नॉन-स्‍टेरॉयडिकल दवाओं का सेवन भी आपका रक्‍तचाप बढ़ा सकता है। दर्द के लिए ली जाने वाली सामान्‍य दवाओं का लंबे समय तक उपयोग भी आपका रक्‍तचाप बढ़ा सकता है।

    दवायें
  • 3

    हर्बल दवायें

    प्राकृतिक दवाओं का दुष्‍प्रभाव भी आपको बीमार कर सकता है। ये दवायें या तो आपके रक्‍तचाप पर असर डालती हैं या फिर इनके असर से रक्‍तचाप के लिए ली जाने वाली अन्‍य दवाओं की कार्यक्षमता पर असर पड़ता है। अगर आप हायपरटेंशन का इलाज करवा रहे हैं, तो जरूरी है कि आप अपने डॉक्‍टर को इस बारे में जरूर सूचित करें कि आप कौन सी हर्बल दवाओं का सेवन कर रहे हैं।

    हर्बल दवायें
  • 4

    नींद की कमी

    यह बात पूरी तरह से साबित नहीं हुई है, लेकिन शोध इस बात को प्रमाणि‍त करते हैं कि रात को छह घंटे से कम सोने से आपको उच्‍च रक्‍तचाप की बीमारी हो सकती है। शोधकर्ता मानते हैं कि तनाव हॉर्मोंस को नियंत्रित करने और अपने नर्वस सिस्‍टम के सुचारू रूप से काम करने के लिए जरूरी है कि आप पर्याप्‍त मात्रा में नींद लें। इससे रक्‍तचाप सही रहता है। जानकार रात को कम से कम सात से आठ घंटे सोने की सलाह देते हैं।

    नींद की कमी
  • 5

    फलों का रस

    चीनी का उपभोग कम करने का एक और कारण। 2010 के एक शोध के अनुसार वे महिला व पुरुष जो अधिक मात्रा में फ्रूटोस का सेवन करते हैं, उन्‍हें हाई बीपी होने का खतरा अधिक होता है। फ्रूटोस ऐसा तत्‍व है जो डिब्‍बाबंद जूस, स्‍पोर्ट्स ड्रिंक्‍स और फ्लेवर्ड पानी में मिलता है। वेर्स्‍टन ऑस्‍ट्रेलिया यूनिवर्सिटी के एक शोध में यह बात सामने आयी कि रोजाना तीन कप ब्‍लैक टी का सेवन करने से रक्‍तचाप के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

    फलों का रस
  • 6

    अल्‍कोहल का सेवन

    संतुलित मात्रा में अल्‍कोहल के सेवन के कुछ स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हो सकते हैं, लेकिन ज्‍यादा शराब आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए अधिक मात्रा में शराब पीने से बचें। इसके साथ ही ड्रग्‍स का सेवन भी आपके लिए अच्‍छा नहीं। इससे भी रक्‍तचाप बढ़ सकता है।

    अल्‍कोहल का सेवन
  • 7

    तनाव

    तनाव और उच्‍च रक्‍तचाप के संबंधों के सभी आयामों को अब भी समझने का प्रयास किया जा रहा है। हम जानते हैं कि जब आप तनाव में होते हैं, तब आपका रक्‍तचाप अस्‍थायी रूप से बढ़ जाता है। लेकिन, गंभीर तनाव का उच्‍च रक्‍तचाप पर पड़ने वाले स्‍थायी प्रभावों को अभी समझा जा रहा है। यह भी कहा जाता है कि जब आप तनाव में होते हैं, तब आप अधिक खाते, पीते हैं और साथ ही आपकी नींद भी कम हो जाती है। ये सब कारण उच्‍च रक्‍तचाप को जन्‍म देते हैं।

    तनाव
  • 8

    उच्‍च रक्‍तचाप से बचना है आसान

    उच्‍च रक्‍तचाप के अधिकतर कारकों से बचा जा सकता है। जानकार मानते हैं कि अगर हम अधिक जियें तो हममें से 95 फीसदी लोगों को उच्‍च रक्‍तचाप हो जाएगा। लेकिन स्‍वस्‍थ जीवनशैली अपनाकर हम उच्‍च रक्‍तचाप के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

    उच्‍च रक्‍तचाप से बचना है आसान
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर