हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

प्रेगनेंसी में बढ़ते वजन को कैसे करें स्‍वीकार

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 20, 2015
शरीर का वजन बढ़ना गर्भावस्‍था के दौरान होने वाला एक बदलाव है। इसलिए अगर आपका वजन बढ़ रहा है तो चिंतित न हों बल्कि इसे गले लगायें और सकारात्‍मक सोचें। आइए इसमें हम आपकी मदद करते हैं।
  • 1

    प्रेगनेंसी में बढ़ता वजन

    गर्भावस्‍था यानी महिला के जीवन के सबसे महत्‍वपूर्ण क्षण, ऐसा क्षण जहां कुछ दिनों बाद एक नया मेहमान उनकी जिंदगी में आने वाला है। लेकिन नये मेहमान के आने से पहले महिला को कई तरह के उतार-चढ़ाव से गुजरना पड़ता है, कई अच्‍छे अनुभव सामने आते हैं और कुछ पीड़ादायक होते हैं। सामान्‍यतया गर्भावस्‍था 9 महीने की होती है। इस दौरान महिला के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं, इसमें शरीर का वजन भी बढ़ता है। यह मोटापा नहीं है बल्कि गर्भावस्‍था के दौरान होने वाला एक बदलाव है। प्रेगनेंसी में 15 से 35 पाउंड तक वजन बढ़ता है और यह सामान्‍य है। इसलिए अगर आपका वजन बढ़ रहा है तो चिंतित न हों बल्कि इसे गले लगायें और सकारात्‍मक सोचें। आइए इसमें हम आपकी मदद करते हैं।

    प्रेगनेंसी में बढ़ता वजन
  • 2

    तथ्य का पता लगाये

    क्लीवलैंड क्लिनिक के अनुसार, औसतन गर्भावस्था के दौरान महिला का वजन 15 और 35 पाउंड के बीच बढ़ता है। लेकिन वजन का बढ़ना अलग-अलग महिलाओं में अलग-अलग होता है। हालांकि आमतौर पर गर्भवती का वजन पहली तिमाही के दौरान 2 से 4 पाउंड के बीच से लेकर हर सप्‍ताह लगभग एक पाउंड बढ़ते हुए डिलिवरी तक बढ़ता है। कुछ महिलाओं में पहली तिमाही में मिचली के कारण वजन कम होने लगता है। लेकिन बहुत ज्‍यादा वजन के बढ़ने या घटने पर तुरंत अपनी डाक्‍टर से सलाह लें।

    तथ्य का पता लगाये
  • 3

    एक्‍ससरसाइज करें

    गर्भावस्‍था में बढ़ते वजन के साथ भी आप स्‍वयं को फिट और एक्टिव रख सकते हैं। गर्भावस्‍था के दौरान एक्‍सरसाइज करने वाले महिलाओं को कई प्रकार फायदा होता है। प्रसूति एवं स्त्री रोग में वर्तमान राय द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, नियमित रूप से व्यायाम करने वाली गर्भवती हृदय फिटनेस का आनंद लेती है। साथ ही उनमें मूत्र असंयम, गर्भावधि मधुमेह, और प्रसवोत्तर अवसाद के विकास होने का जोखिम भी कम पाया जाता है। हालांकि आप वॉकिंग, स्‍वीमिंग और योगा जैसे व्‍यायाम को चुन सकती हैं। लेकिन एक्‍सरसाइज करने से पहले अपनी डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें।

    एक्‍ससरसाइज करें
  • 4

    सकारात्मक रहें

    गर्भावस्‍था के दौरान अपने वजन को लेकर सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखने की कोशिश करें। इस समय आपके और आने वाले बच्‍चे को स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखना बहुत महत्‍वपूर्ण होता है। बार-बार वजन नापना बंद करें, हेल्‍दी आहार लें और हल्‍की एक्‍सरसाइज करें।

    सकारात्मक रहें
  • 5

    स्‍वस्‍थ आहार लें

    आप दो लोगों के लिए खा रही हैं, ये बात सही है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप ज्‍यादा खाये। आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि गर्भावस्‍था के शुरुआत में गर्भवती को प्रतिदिन 200 से 300 अतिरिक्‍त कैलोरी की जरूरत होती है। उसके बाद, 500 अतिरिक्‍त कैलोरी उसके लिए पर्याप्‍त होती है। लेकिन कुछ महिलाएं खाने के प्रति पूर्णाधिकार के रूप में अपने नौ महीनों का उपयोग करते है। इन सभी अतिरिक्‍त कैलोरी और आहार के गलत चुनाव से वजन बढ़ने लगता है। इसलिए अपने बच्‍चे और खुद को स्‍वस्‍थ रखने के लिए पोषक तत्‍वों और मिनरल से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

    स्‍वस्‍थ आहार लें
  • 6

    तुलना से बचें

    गर्भवती को अन्‍य गर्भवती से तुलना भी नहीं करनी चाहिए। अक्‍सर वजन को लेकर गर्भवती अन्‍य गर्भवती से तुलना करने लगती है, जो बिल्‍कुल भी सही नहीं है जब सभी महिलाएं अलग है, सभी गर्भधारण भी अलग है तो दूसरे से वजन की तुलना करना बिल्‍कुल व्‍यर्थ होता है। वजन बढ़ने या घटने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। मॉर्निंग सिक्‍नेस के कारण कई गर्भवती महिलाओं का वजन घटने लगता है। तो कुछ गर्भवती में बेड रेस्‍ट की हिदायत के कारण वजन बढ़ने लगता है।
    Image Source : Getty

    तुलना से बचें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर