हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

क्या आप हर दिन के इन फिटनेस टेस्ट को पास कर सकते हैं?

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 06, 2014
सभी को नियमित रूप से कुछ फिटनेस टेस्ट कर ये जांचना चाहिए कि शरीर की फिटनेस का क्या हाल है। क्योंकि मशीन की ही तरह शरीर को भी नियमित सर्विसंग की जरूरत होती है।
  • 1

    हर दिन के फिटनेस टेस्ट

    जिस प्रकार से मशीन लापरवाही या रखरखाव में कमी के चलते खराब हो जाती है उसी तरह से शरीर भी एक जैविक मशीनरी की तरह ही होता है, जो देखभाल और रखरखाव में लापरवाही के कारण बढ़ती उम्र के साथ परेशानियों से घिर जाता है। ऐसे में शरीर की सही देखभाल की जरूरत तो होती ही है, साथ ही नियमित रूप से कुछ टेस्ट करके ये जांचने की जरूरत भी होती है, कि वह कितने टेस्ट में फेल है और कितनों में पास। इससे शरीर की फिटनेस की नियमित जानकारी मिलती रहती है। तो चलिये जानते हैं इन फिटनेस टेस्ट के बारे में, जिन्हें हर दिन किया जा सकता है।  
    Images courtesy: © Getty Images

    हर दिन के फिटनेस टेस्ट
  • 2

    टेस्ट नं. 1

    क्या आप 14 घंटों तक काम करने के बाद भी ख़ुद को सक्रिय पाते हैं? मसलन, सुबह 7 बजे उठने के बाद भी रात को 9 बजे सक्रिय महसूस करते हैं?   


    व्यायाम कमाल का एनर्जी बूस्टर होता है और यदि दिन के अंत में खुद को बहुत थका पाया जाए तो इसके लिए अपकी जीवनशैली जिम्मेदार हो सकती है। वैबएमडी साइट के मुताबिक, एक बड़े शोध में 6,800 से अधिक के व्यायाम और थकान पर 70 पत्रों का विश्लेषण किया और विश्लेषण में पाया गया कि वे सुस्त लोग जिन्होंने एक नियमित व्यायाम कार्यक्रम का पालन किया था, वे एक्सरसाइज न करने वाले लोगों की तुलना में शाम को कम थके हुए थे।
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 1
  • 3

    टेस्ट नं. 2

    क्या आप बिना हाफंते हुए 10 मिनट से अधिक समय के लिए तेजी से नाच सकते/सकती हैं?
    अनुसंधान से पता चलता है कि आपको स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए निरंतर लंबे वर्कआउट करने की जरूरत नहीं होती है। बल्कि, वास्तव में तो 10 से 15 मिटन का तीव्र वर्कआउट, एक घंटे के ट्रेडमिल वर्कआउट की तुलना में कहीं ज्यादा फैट बर्न कर सकता है और अधिक मजबूत मसल्स बना सकता है।  
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 2
  • 4

    टेस्ट नं. 3

    क्या आप तनाव महसूस किये बिना दोनों हाथों में किसी तरल जैसे, दूध या पानी से भरे बड़े कंटेनर ले जा सकते/सकती हैं?   
    लगभग 6 किलो वाले एक-एक गैलन दोनों हाथों में लेकर चलना केवल आपके डोलों के आकार पर निर्भर नहीं करता। इसके लिए शक्ति कंधों, पीठ, छाती, घुटनों व अन्य अंगों से भी मिलती है। इस जरूरी मांसपेशी समूहों का मजबूत होना आवश्यक होता है। टफ्ट्स विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में पाया गया कि गठिया से पीड़ित जिन वयस्कों ने 16 सप्ताह के लिए एक शक्ति प्रशिक्षण कार्यक्रम का पालन किया, उनके दर्द के स्तर में 43 प्रतिशत तक की गिरावट देखी गई।  
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 3
  • 5

    टेस्ट नं. 4

    क्या आप बिना पैर मोड़े खुद को घुमाकर अपने पीछे देख सकते सकते/सकती हैं?  
    यह टेस्ट अच्छी कोर शक्ति और लचीलेपन को दर्शाता है। इस यह संकते भी मिलता है कि आपकी कमर में कोई दर्द नहीं है और वह स्वस्थ व मजबूत है।
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 4
  • 6

    टेस्ट नं. 5

    क्या आप बिना सांस उखड़े 10 बार ऊपर-नीचे कूद सकते/सकती हैं?   
    यदि आपका जवाब हां है तो यह अच्छी तरह नियंत्रित हार्ट रेट (तथा अच्छी कार्डियोवेस्कुलर फिटनेस) का संकेत होता है। जिम करने व नियमित वर्कआउट करने से आपका दिल स्वस्थ रहता है और हृदय रोग होने की संभावना भी कम होती है।
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 5
  • 7

    टेस्ट नं. 6

    क्या आप 30 मिनट के लिए बिना थके सीधे चल सकते हैं?
    रोज कम से कम 20 मिनट चलने के काफी सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं। लेकिन सबसे अधिक फायदा वजन घटाने, मूड अच्छा रखने, ऊर्जा स्तर बढ़ाने और रक्त शर्करा और रक्तचाप कम करने में होता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 6
  • 8

    टेस्ट नं. 7

    क्या आप मुड़ने में कोई समस्या महसूस किये बिना झुक कर अपने पैर के नाखून काट सकते हैं?     
    यदि आपका जवाब हां नहीं है, तो यकीनन आप फिट नहीं हैं। आपमें लचीलेपन की कमी है। झुकने में समस्या या कम लचीलापन न सिर्फ गठिया और हड्डियों की कमजोरी का संकेत है, बल्कि यह हृदय स्वास्थ्य से भी जुड़ा हो सकता है। अमेरिकी जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी के एक अध्ययन के अनुसार, झुककर अपने पैर की उंगलियों तक जाने में असमर्थता, हृदय की समस्या से जुड़ा होता है। इस समस्या से निपटने व लचीलापन लाने के लिए योग लाभदाक होता है।      
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 7
  • 9

    टेस्ट नं. 8

    क्या किक करते वक्त आप अपने पैर को कुल्हे तक उठा सकते हैं?   
    यह लचीलेपन और शक्ति का एक और उदाहरण है। यदि आपको उपरोक्त टेस्ट करते में दिक्कत होती है, या आप इसमें असमर्थ रहते हैं तो योग की मदद से आप अपने कूल्हों में और लचीलापन ला सकते हैं और अपनी फिटनेस को सुधार सकते हैं।
    Images courtesy: © Getty Images

    टेस्ट नं. 8
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर