हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

जानिए क्या होता है सुपरफूड स्पीरुलिना

By:Meera Roy, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 14, 2016
स्पीरुलिना में प्रोटीन, आयरन, कापर और विटामिन बी1, विटामिन बी2, विटामिन बी3 बहुतायत में पाए जाते हैं। स्पीरुलिना में कैलोरी तो कम होती ही है साथ ही ओमेगा -6 और ओमेगा-3 फैटी एसिड की भी मौजूदगी है।यही नहीं तमाम खूबियों के बावजूद वयस्कों को स्पीरुलिना महज 4 ग्राम ही सेवन करना चाहिए। इससे ज्यादा स्पीरुलिना का सेवन खतरनाक हो सकता है। आइये इस सुपरफूड के बारे में कुछ और भी जानते हैं।
  • 1

    एंटी-आक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी

    स्पीरुलिना में फाइकोसायनिन नामक एंटी आक्सीडेंट मौजूद है। फाइकोसायनिन स्पीरुलिना को ब्लू-ग्रीन रंग प्रदान करता है। यही नहीं फाइकोसायनिन हमारे शरीर में मौजूद रेडिकल्स के साथ लड़ता है साथ ही हमारे शरीर में हुए नुकसान की भरपाई भी करता है।
    Image Source-Getty

    एंटी-आक्सीडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी
  • 2

    ओरल कैंसर की आंशका में कमी

    कुछ अध्ययनों के मुताबिक स्पीरुलिना में एंटी कैंसर तत्व भी पाए गए हैं। विशेषकर ओरल कैंसर। तमाम प्रयोग इस बात की ओर भी इशारा करते हैं कि स्पीरुलिना के सेवन से ओरल सब म्यूकस फाइब्रोसिस से निपटने में भी सहायता मिलती है।
    Image Source-Getty

    ओरल कैंसर की आंशका में कमी
  • 3

    हृदय सम्बंधी बीमारी में कमी

    विशेषज्ञों के मुताबिक स्पीरुलिना में हृदय सम्बंधी बीमारी में भी कमी आती है। इतना ही नहीं स्पीरुलिना के सेवन से खराब कोलेस्ट्रोल को कम किया जा सकता है साथ ही ट्राइग्लीसराइड्स को भी नियंत्रण में रखा जा सकता है। यही कारण है कि स्पीरुलिना के सेवन से हृदय सम्बंधी समस्या में गिरावट आती है।
    Image Source-Getty

    हृदय सम्बंधी बीमारी में कमी
  • 4

    ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है

    तमाम अध्ययनों के मुताबिक ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए स्पीरुलिना बेहतरीन खाद्य पदार्थ है। टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों पर हुए अध्ययनों से इस बात की पुष्टि हुई है कि स्पीरुलिना शुगर स्तर को कम करने में सहायक है।
    Image Source-Getty

    ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है
  • 5

    रक्त चाप नियंत्रित करता है

    माना जाता है कि उच्च रक्त चाप तमाम किस्म की बीमारियों की जड़ है मसलन हृदयाघात, किडनी सम्बंधी बीमारी आदि। अध्ययनों ने इस ओर इशारा किया है कि इसके सेवन से रक्त चाप को नियंत्रित किया जा सकता है।एनीमिया के मरीजों के लिए यह किसी रामबाण इलाज से कम नहीं है। जो मरीज एनीमिया से पीडि़त है, उनके लिए स्पीरुलिना का सेवन बहुत उपयोगी है।
    Image Source-Getty

    रक्त चाप नियंत्रित करता है
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर