हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

ऐसे बनाएं 4 क्यूकम्बर वॉटर रेसिपी और जानें उनके फायदे

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 17, 2016
अगर आप विटामिन और मिनरल से भरपूर पेय पदार्थों का सेवन करते हैं, तो लेना बंद कर दें। क्‍यों‍कि हम आपके लिए विटामिन और मिनरल से भरपूर क्यूकम्बर वॉटर रेसिपी लेकर आये हैं।
  • 1

    क्यूकम्बर वॉटर रेसिपी

    अगर आप अपने दिनचर्या में विटामिन और मिनरल से भरपूर पानी लेते हैं तो लेना बंद कर दें। क्‍योंकि खीरे के पानी का नियमित सेवन विटामिन और मिनरल पाने का सबसे अच्‍छा तरीका है। खीरे का पानी मीठा पेय का एक अच्‍छा विकल्‍प है और आपको अच्‍छी तरह से हाइड्रेटेड करता है। खीरा विटामिन, मिनरल, आहार फाइबर, और फीटोनुट्रिएंट्स से भरपूर होता है, जो शरीर और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य बनाए रखने में मदद करता है। आप इस पौष्टिक पेय को जार या कांच की बोतल में स्‍टोर कर सकते हैं। और जहां भी चाहे आसानी से ले जा सकते हैं और दिन भर में इसके घूंट पीकर आप ताजा और एक्टिव महसूस कर सकते हैं। इसके अलावा खीरा के पानी में फ्लावोनोइड्स, विटामिन-के, विटामिन सी, विटामिन बी 1, बीटा-कैरोटीन, मैंगनीज, पैंटोथेनिक एसिड, पोटेशियम, कॉपर, फास्फोरस, और बायोटिन भरपूर मात्रा में होता है। आइए क्यूकम्बर से बनी रेसिपी और उनके फायदों के बारे में जानते हैं।

    क्यूकम्बर वॉटर रेसिपी
  • 2

    क्यूकम्बर लैमोनेड

    सामग्री- खीरे के लैमोनेड बनाने के लिए आपको आधे खीरे, 1 नींबू, थोड़ी सी पुदीने की पत्तियों, चुटकी भर नमक की जरूरत होती है।
    बनाने का तरीका - नींबू की स्लाइस, खीरा और पुदीना को एक जार में डाल लें। इसके बाद इसे तीन से चार घंटे तक छोड़ दें और फिर इसका सेवन करें। बेहतर परिणाम के लिए आप तीन चार बोतल तैयार कर फ्रिज में रख सकते है।
    खीरे का लैमोनेड के फायदे- नींबू, लीवर से छोटी आंत से पित्‍त को इकट्ठा करने में मदद कर शरीर के अतिरिक्‍त फैट को कम करता है। और पुदीने के पत्‍ते से शीतलन प्रभाव पड़ता है। साथ ही पुदीना फ्लेवर देने के अलावा पेट की मांसपेशियों को आराम भी देता है। पानी में अगर नींबू, पुदीना और खीरे को मिला लिया जाए तो इससे शरीर का मेटाबोलिजम में सुधार आता है और शरीर में मौजूद सारे विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।

    क्यूकम्बर लैमोनेड
  • 3

    ग्रीन शीन क्यूकम्बर वॉटर

    सामग्री - इस पेय को बनाने के लिए आपको आधे खीरे, 10 हरे अंगूर, आधे नींबू, काली मिर्च की जरूरत होती है।
    बनाने की विधि- खीरे और नींबू के पतले-पतले टुकड़ों को एक जार में ले लें। फिर इसमें कटे अंगूर डालकर, पानी भर लें और इसे फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। पीने से पहले में चुटकी भर काली मिर्च मिला लें।
    ग्रीन शीन क्यूकम्बर वॉटर के फायदे- यह पेय आपकी त्‍वचा के लिए बेहद अच्‍छा होता है। डिहाईड्रेशन को दूर करने और ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए अंगूर बहुत अच्‍छा माना जाता है। यह इंसुलिन को नियमित करने और इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद करता है। साथ यह चेहरे पर उम्र के असर को धीमा करने में मदद करता है। नींबू और काली मिर्च को पाचन तंत्र के लिए अच्‍छा माना जाता है और काली मिर्च विटामिन 'ई' का बहुत अच्‍छा स्रोत है।

    ग्रीन शीन क्यूकम्बर वॉटर
  • 4

    स्ट्रॉबेरी क्यूकम्बर वॉटर

    सामग्री - स्‍ट्रॉबेरी और हर्ब्‍स क्यूकम्बर वॉटर को बनाने के लिए 1 खीरे, 6-7 स्‍ट्रॉबेरी, थोड़े से रोजमेर्री के पत्‍ते, एक मुट्ठी पुदीने के पत्‍ते, चुटकी भर नमक की जरूरत होती है।
    बनाने का तरीका- पतले कटे खीरे और स्‍ट्रॉबेरी के टुकड़ों को जार में डालें। फिर इसमें क्रश किये हुए रोजमेरी, पुदीने के पत्‍ते और नमक मिला लें। फिर इसमें पानी भरकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। उसी समय पीने के लिए आप इसमें बर्फ मिला सकते हैं।  
    इस पेय के फायदे- स्ट्रॉबेरी विटामिन सी, मैंगनीज और फाइबर से भरपूर होती है। साथ ही यह लाल रंग का फल एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। यह ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद करता है। इसके अलावा रोजमेरी विटामिन ए, बी -6, कैल्शियम और पोटेशियम का बहुत अच्‍छा स्रोत है। यह मेमोरी और ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है।

    स्ट्रॉबेरी क्यूकम्बर वॉटर
  • 5

    स्‍पाइसी एप्‍पल क्यूकम्बर वॉटर

    सामग्री- इसे बनाने के लिए 1 ग्रीन एप्पल, 1 खीरे, 1 चम्मच शहद, 2 इंच की दालचीनी स्टिक, काली मिर्च पाउडर की जरूरत होती है।
    बनाने का तरीका- सेब के 1/4 के टुकड़े काटकर जार में डालें। फिर इसमें पतले कटे खीरे के टुकड़े मिला लें। इसके बाद इसमें शहद और चुटकी भर काली मिर्च मिला लें और जार को पानी से भर दें। अंत में इसमें दालचीनी मिलाकर रातभर के लिए फ्रिज में रख दें।
    इसके फायदे- एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर सेब हृदय रोग के जोखिम को कम, कैंसर से लड़ने और ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। काली मिर्च पाचन में सुधार करती है और शहद विटामिन और मिनरल जैसे कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, जिंक से भरपूर होता है। दालचीनी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-क्‍लॉटिंग, और एंटी माइक्रोबियल गुण होते है जो ब्‍लड शुगर को नियंत्रित, ब्रेन के कार्य में सुधार और हृदय रोग के खिलाफ रक्षा करता है। साथ ही इसका शरीर पर एक वार्मिंग प्रभाव पड़ता है।
    Image Source : Getty

    स्‍पाइसी एप्‍पल क्यूकम्बर वॉटर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर