हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कण्‍ठमाला की सूजन और जलन के लिए घरेलू उपाय

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 18, 2014
लेरिन्‍जाइटिस को कण्‍ठमाला की सूजन भी कहा जाता है। यह समस्‍या होने पर गले में सूजन और जलन होने लगती है। लेकिन घबराइए नहीं क्‍योंकि इस समस्‍या का इलाज घरेलू उपायों द्वारा बेहतर तरीके से किया जा सकता है।
  • 1

    कण्‍ठमाला की सूजन

    लेरिन्‍जाइटिस को कण्‍ठमाला की सूजन भी कहा जाता है। यह समस्‍या होने पर गले में सूजन और जलन होने लगती है। इसके परिणामस्वरूप स्‍वर का बैठना और आवाज के नुकसान जैसे सामान्‍य लक्षण देखने को मिल जाते है। इस समस्‍या के लिए से बचने के लिए आपको प्रतिकूल समाधान ढूढना चाहिए। हालांकि कण्‍ठमाला की सूजन का इलाज घरेलू उपायों द्वारा बेहतर तरीके से हो सकता है। आइए इस समस्‍या से बचने के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार में से कुछ के बारे में जानकारी लें। image courtesy : getty images

    कण्‍ठमाला की सूजन
  • 2

    प्‍याज का रस

    प्‍याज कण्‍ठमाला के इलाज के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है। प्‍याज का सिरप गले की सूजन के लिए  प्राकृतिक इलाज के रूप में काम करता है और तुरंत राहत प्रदान करता हैं। समस्‍या होने पर प्‍याज को छोटे टुकड़ों में काटकर मिक्‍सी में पीसकर सिरप तैयार कर लें। अब इस सिरप के दो चम्‍मच को एक कप गर्म पानी में मिलाकर हर 4-5 घंटे में पीते रहें। image courtesy : getty images

    प्‍याज का रस
  • 3

    नमक

    एक कप गर्म पानी में एक चुटकी नमक कण्‍ठमाला में सूजन को दूर करने में सहायक होती है। एक कप गर्म पानी में एक चम्‍मच नमक की मिलाकर हर दो घंटे बार गरारे करें। दिन के अंत तक आपको सूजन से बहुत राहत मिलेगी। image courtesy : getty images

    नमक
  • 4

    लहसुन

    लहसुन हमें एंटी-माइक्रोबियल गुण प्रदान करता है, जो बैक्‍टीरिया और वायरस को मारने में मदद करता है। जिससे गले में सूजन और बैठना की समस्‍या खुद ही कम हो जाती है। इसके लिए लहसुन की एक छोटी सी कली लेकर अपने मुंह में रखकर धीरे-धीरे चूसे। जल्‍द राहत पाने के लिए इस उपाय को दिन में कई बार करें। image courtesy : getty images

    लहसुन
  • 5

    अदरक

    अदरक, गले के चारों ओर श्लेष्मा झिल्ली को शांत कर, सूजन से तुरंत राहत प्रदान करता है। समस्‍या होने पर एक पैन में कटा हुआ अदरक उबाल लें और कुछ देर उबालने के बाद इसे थोडा़ ठंडा होने के लिए रख दें। आप इसमें नींबू के रस की कुछ बूंदे और मीठा करने के लिए शहद मिला सकते हैं। इस अदरक की चाय का सेवन दिन में कई बार करें। इसके अलावा आप अदरक के टूकड़े को ऐसे भी मुंह में रखकर चूस सकते हैं। image courtesy : getty images

    अदरक
  • 6

    नींबू का रस

    नींबू के रस की प्रकृति अम्‍लीय होती है, इसलिए यह बैक्‍टीरिया को मार कर कण्‍ठमाला की सूजन के लक्षणों से राहत प्रदान करने में मदद करता है। गले की सूजन की समस्‍या से बचने के लिए एक कप गर्म पानी में थोड़ा सा नमक और नींबू के रस की कुछ बूंदे मिलाकर इस मिश्रण से गरारे करें। तुरंत राहत पाने के‍ लिए इस उपाय को दिन में कई बार करें। image courtesy : getty images

    नींबू का रस
  • 7

    सेब साइडर सिरका

    सेब साइडर सिरका, बैक्‍टीरिया के कारण होने वाली कण्‍ठमाला की सूजन के खिलाफ बहुत कारगर उपाय है। इसके लिए एक कप पानी में दो बड़े चम्‍मच सेब साइडर सिरका और थोड़ा सा शहद मिलाकर इस मिश्रण को एक दिन में दो बार पीये। image courtesy : getty images

    सेब साइडर सिरका
  • 8

    नीलगिरी का तेल

    नीलगिरी के तेल में एंटी-वायरल, एंटी-माइक्रोबियल और एंटी बैक्‍टीरियल जैसे गुण इसे कंठमाला में जलन को शांत करने का सबसे सर्वात्तम उपाय बनाते है। नी‍लगिरी के तेल को उपयोग करने का सबसे अच्‍छा तरीका, इसकी भाप को लेना है। इसके लिए एक पैन में उबलते पानी में कुछ बूंदे नीलगिरी के तेल की मिला लें। इसके बाद एक तौलिये के साथ सिर को कवर करके 10 मिनट तक इस भाप से सांस लें। दिन में दो बार इस उपाय को करें। image courtesy : getty images

    नीलगिरी का तेल
  • 9

    कम बोलें

    इन उपायों के बीच अपने गले को समुचित आराम दें। कम बोलें और तेज बोलने से बचें। क्‍योंकि तेज बोलने से पहले से ही सूजन क्षेत्रों में दबाव पड़ सकता है।  image courtesy : getty images

    कम बोलें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर