हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

व्‍यायाम से सुधारें अपनी कामेच्‍छा

By:Bharat Malhotra, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 21, 2014
अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो इसमें व्‍यायाम आपकी काफी मदद कर सकता है। व्‍यायाम से बढ़ती है ऊर्जा और तनाव भी कम होता है। सेक्‍स क्षमता, कैसे बढ़ाएं सेक्‍स क्षमता, व्‍यायाम और सेक्‍स क्षमता, Improve Sex Drive with Exercise in Hindi
  • 1

    सेक्‍स क्षमता में इजाफा

    अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो इसमें व्‍यायाम आपकी काफी मदद कर सकता है। इससे शयनकक्ष में आपके प्रदर्शन में काफी सुधार होता है। सेक्‍स की इच्‍छा न होने के कई मानसिक और मनोवैज्ञानिक कारण भी हो सकते हैं- लेकिन, क्‍या आप जानते हैं कि आप जिम में जाकर पसीना बहाने से अपनी कामुकता में इजाफा कर सकते हैं।

    सेक्‍स क्षमता में इजाफा
  • 2

    व्‍यायाम से कम होता है तनाव

    हम सभी को कुछ हद तक तनाव का सामना करना पड़ता है। इसकी वजह से हमारे शरीर में कॉर्टिसोल का स्‍तर बढ़ जाता है। इससे मस्तिष्‍क में अव्‍यवस्‍था पैदा हो जाती है। शारीरिक गतिविधियों से शरीर में एंडोरफिन्‍स का स्राव होता है। यह हॉर्मोन हमें खुशी का अहसास कराता है, जिससे कॉर्टिसोल का स्‍तर कम हो जाता है और हमें आराम और खुशी का अहसास होता है। और अच्‍छे सेक्‍स जीवन के लिए इन दोनों का होना बहुत जरूरी है।

    व्‍यायाम से कम होता है तनाव
  • 3

    क्‍या करें

    योग तन और मन को जोड़ने का काम करता है। इसके साथ ही योग हमें हमारे शरीर पर बेहतर नियंत्रण प्रदान करने में मदद करता है। योग में श्‍वास लेने की प्रक्रिया के बारे में भी प्रशिक्षित किया जाता है। साथ ही योग हमें शांतचित्‍त और तनावमुक्‍त बनाने में भी मदद करता है।

    क्‍या करें
  • 4

    व्‍यायाम से बढ़ती है ऊर्जा

    महिलाओं में कामेच्‍छा की कमी होने का बड़ा कारण थकान होती है। वे मल्‍टी-टास्किंग होती हैं। वे हर समय काम और जिम्‍मेदारियों में उलझी रहती हैं। सेक्‍स उनकी प्राथमिकता सूची में सबसे निचले पायदान पर होता है। और रात में वे थकान से चूर होती हैं, और ऐसे में वे सेक्‍स का पूरा आनंद नहीं उठा पातीं। व्‍यायाम आपके शरीर में ऊर्जा का स्‍तर बढ़ता है और तनाव के स्‍तर में कमी आती है। इससे आप सेक्‍स का बेहतर आनंद उठा सकती हैं।

    व्‍यायाम से बढ़ती है ऊर्जा
  • 5

    क्‍या करें

    पैदल चलना हालांकि कड़े व्‍यायाम की श्रेणी में नहीं आता, लेकिन फिर भी यह एक उपयोगी व्‍यायाम है। पैदल चलने से आपके मस्तिष्‍क में एकाग्रता बढ़ती है और आपके ऊर्जा और कार्यक्षमता के स्‍तर में इजाफा होता है। पैदल चलने के बहाने तलाशिये। रोजाना 30 मिनट भले ही वह दस-दस मिनट दिन में तीन बार ही क्‍यों न हों, आपके सेक्‍स जीवन को नयी शक्ति दे सकता है।

    क्‍या करें
  • 6

    व्‍यायाम से बढ़ता है संचार

    अच्‍छे सेक्‍स के लिए शरीर में सही रक्‍त-संचार का होना जरूरी है। पुरुषों की सेक्‍स लाइफ अच्‍छी रहे इसके लिए जरूरी है कि उनके जननांगों में सही मात्रा में रक्‍त पहुंचे। यही बात महिलाओं पर भी लागू होती है। ऐसा होने पर सेक्‍स लाइफ बेहतर होती है और दोनों साथी सेक्‍स का अच्‍छी तरह लाभ उठा सकते हैं। रक्‍त संचार अधिक होने से लुब्रिकेशन बढ़ता है, दर्द में कमी होती है औ साथ ही कुछ संक्रमणों का खतरा भी कम होता है।

    व्‍यायाम से बढ़ता है संचार
  • 7

    क्‍या करें

    आप दौड़ लगाकर अपनी कामेच्‍छा को बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही एरोबिक्‍स भी आपके काफी काम आ सकता है। इस प्रकार के व्‍यायाम आपकी क्षमता और सहनशक्ति को भी बढ़ाते हैं। इनसे आपके शरीर में रक्‍त संचार बढ़ता है। ये दोनों ही खूबियां बेडरूम में आपके काफी काम आ सकती हैं।

    क्‍या करें
  • 8

    हॉर्मोन होते हैं संतुलित

    कामेच्‍छा के लिए हॉर्मोन्‍स का संतुलित होना बहुत जरूरी है। यदि हॉर्मोंस संतुलित न हों, तो आप सेक्‍स का पूरा आनंद नहीं उठा सकते। विशेषकर महिलाओं में सेक्‍सुअल संतुष्टि का संबंध सेक्‍स की इच्‍छा से होता है। अगर आपको सेक्‍स का आनंद आ रहा है तो जाहिर सी बात है कि आप उससे दूर नहीं भागेंगी। शारीरिक गतिविधियां हॉर्मोंस को संतुलित करने में काफी मदद कर सकती हैं। इसके साथ ही यह कई अन्‍य परेशानियों से भी बचाने में मदद करती हैं।

     हॉर्मोन होते हैं संतुलित
  • 9

    क्‍या करें

    कड़ा व्‍यायाम न केवल आपकी मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है, बल्कि साथ ही शरीर में टेस्‍टोस्‍टेरॉन के स्‍तर में भी इजाफा करता है। टेस्‍टोस्‍टेरॉन महिलाओं और पुरुषों दोनों में कामेच्‍छा को नियंत्रित करने वाला प्रमुख हॉर्मोन होता है।

    क्‍या करें
  • 10

    व्‍यायाम स्‍व-छवि सुधारता है

    कामेच्‍छा में कमी होने का बड़ा कारण आपके अपने शरीर के बारे में विचार होते हैं। शारीरिक गतिविधि अपने शरीर के बारे में आपके विचारों को बदलने में मदद कर सकती है। शारीरिक व्‍यायाम से हमारे रूप में भी निखार आता है, इससे हमारा आत्‍मविश्‍वास बढ़ता है और हम अपने बारे में बेहतर सोचने लगते हैं। इसका सीधा संबंध सेक्‍स और कामेच्‍छा से होता है।

    व्‍यायाम स्‍व-छवि सुधारता है
  • 11

    क्‍या करें

    'पिलातेज' इस व्‍यायाम से आपको छरहरा बदन पाने में मदद मिलती है, इसके साथ ही यह श्रोणिक क्षेत्र की मांसपेशियों को मजबूत करने में भी मदद करता है। श्रोणिक मांसपेशियों की मजबूती का अर्थ है कि इससे आपकी संभोग की क्रिया अधिक रोमांचक होती है।

    क्‍या करें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर