हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

बिना दवा-सर्जरी के योग की मदद से पाएं ब्रेस्‍ट की परफेक्‍ट शेप

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 03, 2017
महिलाओं में ब्रेस्ट का सुडौल होना सबसे जरूरी होता है क्योंकि इसी से उनकी सुन्दरता में चार चांद लगते हैं। आमतौर पर उम्र बढ़ने या प्रेगनेंसी के बाद ब्रेस्‍ट में ढीलापन आने लगता है। लेकिन आपको निराश होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि योग से ब्रेस्ट को परफेक्‍ट शेप में लाया जा सकता है।
  • 1

    ब्रेस्‍ट की परफेक्‍ट शेप

    ब्रेस्‍ट को किसी भी महिला की सुंदरता का सबसे बड़ा पैमाना माना जाता है। ब्रेस्‍ट के स्‍वस्‍थ और पूरी तरह विकसित होने पर महिला सुंदर मानी जाती है। किसी भी महिला के चेहरे के बाद उसकी ब्रेस्‍ट  ही सौंदर्य का गुणगान करती हैं। महिलाओं में ब्रेस्ट का सुडौल होना सबसे जरूरी होता है क्योंकि इसी से उनकी सुन्दरता में चार चांद लगते हैं। उनकी पर्सनेलिटी अच्छी दिखाई देती है। आमतौर पर उम्र बढ़ने या प्रेगनेंसी के बाद ब्रेस्‍ट में ढीलापन आने लगता है। इसके अलावा वजन बढ़ने, सही शेप और साइज का ब्रा न पहनना, व्यायाम न करना आदि के कारण भी ऐसी समस्‍या होती है। लेकिन अत्यधिक महंगा इलाज के कारण महिलाएं इसे नजरंदाज कर देती हैं। लेकिन आपको निराश होने की जरूरत नहीं है, क्‍योंकि योग ब्रेस्ट को शेप में लाने में आपकी मदद कर सकता है।

    ब्रेस्‍ट की परफेक्‍ट शेप
  • 2

    अर्ध-चक्रासन

    अर्ध-चक्रासन से ब्रेस्ट के नीचे वाले हिस्से का फैट कम हो जाता है। इस आसन नियमित रूप से करने के आप कुछ ही दिनों में खुद में फर्क महसूस करने लगेगी। इसे करने के लिए सीधे खड़े होकर अपने हाथों को एक साथ ऊपर की तरफ फैला दें। अब अपने हथेलियों की मुटठी बांध ले। अपनी हथेलियों को एक साथ शामिल करके अपनी कलाई को मजबूत करें। अपने शरीर को ऊपर की ओर खींचे, अपने कंधों को सुनिश्चित करके अपने कान को छूए। गहरी सांस ले, अपने शरीर को कूल्हों के सहारे ऊपरी की ओर पुश करें। साथ ही अपने घुटनों को मोड़े। यहं आसन एक या दो मिनट के लिए करें।

    अर्ध-चक्रासन
  • 3

    सूर्य नमस्कार

    ब्रेस्ट के नीचे स्थित पेक्टोरल मसल्स को सही आकार देने और ब्रेस्ट अंडरआर्म के बीच वाले हिस्से से मोटापा कम करने के लिए के लिए यह योग मददगार होता है। इस योग को करने से सीने की मांसपेशियां मजबूत होती हैं, और ब्रेस्‍ट की मसल्‍स में कसावट आती हैं। इसलिए इस सूर्य नमस्कार नियमित रूप से करें। इसके अलावा सूर्य नमस्कार को करने से पूरे शरीर को सही आकार मिलता है। रोज सुबह 20 बार सूर्य नमस्कार करने से ब्रेस्‍ट के आस-पास के हिस्सों का मोटापा कम हो जाएगा और आपकी ब्रेस्ट परफेक्‍ट शेप में आ जायेगें।

    सूर्य नमस्कार
  • 4

    पदंगुष्ठासन

    यह आसन आपकी चेस्‍ट और कंधो को पूरी तरह फैला देता है। यह पेट के नीचे वाले हिस्सों को सही आकर देने के लिये सबसे उपयुक्त योगासन है। इस आसन को हमेशा खाली पेट ही करें और किसी भी चिकने तल पर इस आसन को न करें बल्कि योग मैट का इस्तेमाल करें।

    पदंगुष्ठासन
  • 5

    सेतु बंधासन

    सेतु बंधासन करने से ब्रेस्ट सही शेप में आ जाती है। जब यह योगासन करते हैं, तो सीने का फैलाव होता है और पेक्टोरल मसल्स टाइट हो जाती हैं। इस योगासन को करने से ब्रेस्ट लटकने की समस्‍या भी दूर हो जाती है। इसे योग को करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं और हाथ बगल में फैला लें। अब घुटनों को मोड़कर, उन्हें बाहर की तरफ फैला लें। पेट वाले हिस्से से शरीर को ऊपर की ओर उठाएं, अपने हाथों से सहारा देकर, मुद्रा को कुछ देर तक बनाएं रखें। यह मुद्रा आपके हिप्स, जांघ, पेट और पीठ पर काम करेगी।

    सेतु बंधासन
  • 6

    भुजंगासन

    भुजंगासन को करने से आपकी ब्रेस्‍ट की मसल्‍स में कसाव आता है और ब्रेस्‍ट का ढीलापन ठीक होकर वह अपने पुराने शेप में लौट आते हैं। इसे करने के लिए उल्टा होकर पेट के बल लेट जाइए। कोहनियां कमर के साथ सटी होनी चाहिए और हथेली ऊपर की ओर। धीरे-धीरे कोहनियों को मोड़कर हथेलियों को बाजूओं के नीचे लायें। शरीर का निचला भाग नाभि तक जमीन पर सटा होना चाहिए। सिर और चेस्‍ट को ऊपर उठाते हुए धीरे-धीरे पीछे की ओर ले जाते हुए सांस लें। इस स्थिति में दस-पंद्रह सेकंड रहने के बाद सांस छोड़ते हुए शरीर को पहले के स्थिति में लौटा लायें।

    Image Source : Getty

     भुजंगासन
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर