हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

महिला कंडोम का इस्‍तेमाल कैसे करें

By:Pradeep Saxena, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 14, 2014
महिला कंडोम को लेकर महिलाएं अकसर उलझन में रहती है कि इसका इस्‍तेमाल करना चाहिए या नहीं या फिर कंडोम का इस्‍तेमाल वह कैसे करें। महिलाओं के कंडोम से जुड़ी ऐसी ही कुछ उलझनों के जवाब है इस स्‍लाइड शो में।
  • 1

    महिला कंडोम

    सुरक्षित सेक्‍स के लिए पुरूष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी कंडोम का इस्तेमाल कर सकती हैं। लेकिन कंडोम को लेकर वह अक्‍सर उलझन में रहती हैं कि उन्हें कंडोम का इस्‍तेमाल करना चाहिए कि नहीं। और अगर वह इसका इस्‍तेमाल करना चाहती है तो कैसे करें। कहीं उनके लिए यह हानिकारक तो नहीं। कहीं कंडोम से कोई गलत प्रभाव पड़े। ऐसे ही न जाने कितने सवाल महिलाओं के मन में होते हैं। आइए जानें महिला कंडोम के बारे में।

    महिला कंडोम
  • 2

    क्या है महिला कंडोम

    महिला कंडोम लम्बी पोलियूथेन की थैली होती है। सम्भोग के समय इसे लगाया जाता है। महिला कंडोम गर्भ निरोधक विकल्प के रूप में न सिर्फ बेहतर विकल्‍प है बल्कि संभोग के समय चिंतामुक्त रखने में भी लाभकारी है। इसके अलावा एच आई वी सहित अनेक प्रकार के यौन सम्पर्क से होने वाले रोगों से बचा जा सकता है।

    क्या है महिला कंडोम
  • 3

    महिला कंडोम का इस्‍तेमाल

    महिला कंडोम को संभोग के समय आराम से प्रयोग किया जा सकता है। साथ ही गर्भ निरोधक विकल्प के रूप में यह बेहतर विकल्प है। इसके अलावा इसकी विशेषता है कि यह दोनों किनारों से लचीला होता है। इतना ही नहीं महिला कंडोम में पहले से ही सिलिकोन आधारित चिकनाई लगी रहती है।

    महिला कंडोम का इस्‍तेमाल
  • 4

    सावधानी से लगाये

    महिला कंडोम को सही तरह से उपयोग करने के लिए इसे बहुत ही सावधानी से खोलकर ठीक तरह से लगाना चाहिए। शुरूआत में महिला कंडोम का प्रयोग मुश्किल होता है, लेकिन धीरे-धीरे अभ्यास से इसे आसानी से प्रयोग किया जा सकता है।

    सावधानी से लगाये
  • 5

    लचीला रिंग

    महिला कंडोम के दोनों किनारों पर लचीला रिंग लगा होता है। थैली के बन्द किनारे पर लगे लचीले रिंग को योनि के अन्दर डाला जाता है। और थैली की खुले किनारे का रिंग बल्वा के बाहर योनि द्वार पर रहता है। सुनिश्चत करें कि कंडोम सीधा लगे और योनि में जाकर मुडे नहीं। बाहरी रिंग योनि से बाहर ही रहना चाहिए।

    लचीला रिंग
  • 6

    सिलिकोन आधारित चिकनाई

    महिला कंडोम में पहले से ही सिलिकोन आधारित स्परमिसिडिल रहित चिकनाई लगी होती है। इससे कंडोम को लगाने में आसानी होती है। लेकिन कई बार ज्यादा जरूरत पड़ने पर बेबी ऑयल का भी प्रयोग किया जा सकता है।

    सिलिकोन आधारित चिकनाई
  • 7

    कंडोम को दुबारा इस्‍‍तेमाल न करें

    पुरूष कंडोम की ही तरह महिला कंडोम को भी दोबारा प्रयोग नहीं किया जा सकता। महिलाओं के कंडोम के लिए किसी विशेष सावधानी की जरूरत नहीं पड़ती जैसे पुरूष कंडोम के लिए पड़ती है। इसके अलावा महिला कंडोम उसी समय प्रयोग हो सकता है जब पुरूष कंडोम का प्रयोग न हो।

    कंडोम को दुबारा इस्‍‍तेमाल न करें
  • 8

    कंडोम के इस्‍तेमाल में सावधानी

    सेक्‍स के बाद महिला कंडोम को निकालने के लिए बाहरी रिंग को हल्के से घुमायें और कंडोम को इस तरह बाहर निकालें कि वीर्य उसी में रहें। कंडोम को टिशु या पैकेट में लपेट कर कूड़ेंदान में फैकें। महिला कंडोम से सेक्स का आनंद वैसे ही उठाया जा सकता है जैसे बिना कंडोम के। लेकिन यदि सेक्‍स के दौरान महिला कंडोम खिसक या फट जाता है तो एकदम से रुक जाना चाहिए। और कंडोम को बाहर निकालकर, नया कंडोम इस्‍तेमाल करना च‍ाहिए।

    कंडोम के इस्‍तेमाल में सावधानी
  • 9

    महिला कंडोम का अतिरिक्‍त प्रभाव नहीं

    महिला कंडोम को सेक्स के दौरान तुरंत न लगाकर, सेक्स से पहले ही आराम से या तसल्ली से लगाया जा सकता है। महिला कंडोम के कोई अतिरिक्त प्रभाव नहीं होते है। जैसे पुरूष कंडोम को पहले लगाने से वह खराब हो सकता है या उससे इंफेक्शन हो सकता है, महिला कंडोम के साथ ऐसा कुछ नहीं होता है।

    महिला कंडोम का अतिरिक्‍त प्रभाव नहीं
  • 10

    एलर्जी की सम्भावनाएं कम

    पुरूष के लेटैक्स से बने कंडोम की अपेक्षा महिलाओं के पोलियूथेन से बने कंडोम से एलर्जी की सम्भावनाएं कम रहती हैं। इसको रखने के लिए किसी विशेष सावधानी की जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि पोलियूथेन पर तापमान और आर्द्रता के बदलाव का कोई असर नहीं पड़ता।

    एलर्जी की सम्भावनाएं कम
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
Post Your comment
Comments
  • Chitragupt10 Mar 2015
    i'm very impressed for these important information & knowledge. Given info & knowledge are useful when we spent our private activities with someone.