हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

यौन संचारित रोगों का खतरा कैसे कम करें

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 10, 2014
यौन संचारित रोग यानी एसटीडी का अगर इलाज न किया जाए, तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं, विशेषकर महिलाओं में। इसलिए यौन संचारित रोग की शंका होने पर तुरंत जांच करवाएं।
  • 1

    यौन सं‍चारित रोग (एसटीडी)

    एस टी डी या यौन सं‍चारित रोग ऐसे रोगों को कहा जाता है जो संक्रमित व्‍यक्ति से यौन संपर्क स्‍थापित करने पर एक व्‍यक्ति से दूसरे में सं‍चारित हो सकता है। किशोरवर्ग और युवा वयस्‍क खासकर 15 से 24 यौन संचारित रोग से ग्रस्‍त होने के अधिक जोखिम वाले आयु समू‍ह हैं। एस टी डी का अगर इलाज न किया जाए तो गंभीर परिणाम हो सकते हैं, विशेषकर महिलाओं में। इसलिए यौन संचारित रोग की शंका होने पर एस टी डी की जांच करवाएं।

    यौन सं‍चारित रोग (एसटीडी)
  • 2

    एक के साथ सेक्‍स संबंध

    यौन सं‍चारित रोगों के खतरे को कम करने के लिए सबसे जरूरी उपाय है कि आप अपने साथी के प्रति वफादार रहें। और साथ ही असुरक्षित यौन संबंधों से भी बचें। यह बात दोनों साथियों पर सामान्‍य रूप से लागू होती है।

    एक के साथ सेक्‍स संबंध
  • 3

    कण्‍डोम का प्रयोग

    अगर किसी व्‍यक्ति के साथ यौन सम्बन्ध सुरक्षित नहीं है तो पुरुषों को कण्डोम का इस्तेमाल करना चाहिए। अगर महिला कण्डोम उपलब्ध हो तो वो भी उपयोगी होते हैं। हर एक असामान्य यौन सम्बन्ध के दौरान कण्डोम के इस्तेमाल से यौन सं‍चारित रोगों में काफी कमी आ सकती है।

    कण्‍डोम का प्रयोग
  • 4

    डॉक्‍टर से कराएं जांच

    यौनजनित रोगों से ग्रसित होने पर पति-पत्नी दोनों ही जांच कराएं। ज्‍यादातर यौन संचारित रोगों को इलाज संभव है। जो एस डी टी में संक्रमण बैक्टीरिया से होते हैं उन्हें एंटीबायोटिक्स से ठीक किया जा सकता है। कुछ एस डी टी का निदान केवल ब्‍लड टेस्‍ट से ही हो सकता है। जैसे कि सिफलिस, एड्स और यकृतशोथ यानि हैपेटाईटिस बी। ज‍बकि वायरस से होने वाले संक्रमणों का उपचार संभव ही हो, ऐसा जरूरी नहीं है।

    डॉक्‍टर से कराएं जांच
  • 5

    जननांगों की सफाई

    अक्‍सर यह माना जाता है कि यौन संचारित रोग किसी भी तरह के सेक्‍स से हो सकता हैं। लेकिन ओरल सेक्‍स से नहीं होता है तो महज एक भ्रम है। इसलिए ओरल सेक्‍स करने से पहले जननांगों की सफाई पर ध्‍यान दें।

    जननांगों की सफाई
  • 6

    पार्टनर से बात करें

    इच्‍छा न होने पर किया गया सेक्‍स भी कई बार यौन संचारित रोगों को कारण बन सकता हैं। इसलिए हमेशा सहज महसूस होने पर ही सेक्‍स करें। अगर आपको अपने साथी के साथ सेक्‍स संबंध बनाने में असहज महसूस करती हैं तो ‘ना’ कहना सीखें।

    पार्टनर से बात करें
  • 7

    स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह

    कई बार महिलाओं के शरीर में लुर्बिकेशन की कमी होती है जिसके चलते वह घर में ही उपलब्‍ध चीजों का इस्‍तेमाल करती हैं। जो कई बार यौन संचारित रोगों का कारण बनता हैं। ऐसा न करके आप किसी स्त्री रोग विशेषज्ञ से बाजार में उपलब्ध कृत्रिम तरलता प्रदान करने वाले उत्‍पाद  के बारे में जानकारी लें।

    स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह
  • 8

    सुरक्षित यौन संबंध

    भले ही आपको जनांग संबंधी कोई बीमारी न हो। लेकिन फिर भी आप हमेशा सुरक्षित यौन संबंध ही बनाएं। इससे एक तरफ आप यौन संबंधों से फैलने वाली बीमारियों से बचेगें दूसरी तरफ अनचाहे गर्भ की संभावना भी नहीं रहेगी।

    सुरक्षित यौन संबंध
  • 9

    नशे से बचें

    शराब की लत किशोरों को असुरक्षित यौन संबंधों की ओर धकेल रही है। जिसके कारण अनचाहे गर्भ और यौन संक्रमित बीमारियों काफी बढ़ रही है। 'डेली मेल' के अनुसार, ब्रिटेन के रॉयल कॉलेज ऑफ फिजिशियन का कहना है कि शराब की गिरफ्त में किशोर यौन क्रियाओं में हदें लांघ जाते हैं, जिससे गर्भ और संक्रमण की समस्या पैदा होती है। इसलिए सेक्‍स के दौरान किसी भी प्रकार का नशा न करें।

    नशे से बचें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर