हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सुपर-गोनोरिया से बचाव करने के तरीके

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 18, 2015
सुजाक एक यौन संचारित बीमारी (एसटीडी) है। सुजाक नीसेरिया गानोरिआ नामक जीवाणु से होता है जो महिला तथा पुरुषों में प्रजनन मार्ग के गर्म तथा गीले क्षेत्र में आसानी और बड़ी तेजी से बढ़ती है।
  • 1

    क्या होता है सुजाक रोग

    सुजाक एक आम यौन रोग है जिससे महिलाओं और पुरुषों में मूत्रमार्ग शोथ हो जाता है। मूत्र मार्ग से संबंध होने के कारण इसको प्रमेह कहते है, जिससे परमा शब्द आया है। यह सम्पर्क के दो या तीन दिनों के अन्दर ही हो जाता है। सही इलाज से यह बीमारी पूरी तरह से ठीक हो जाती है। गलत और अपर्याप्त इलाज से जनन अंगों को लम्बे समय के लिए और गम्भीर नुकसान पहुँचता है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    क्या होता है सुजाक रोग
  • 2

    पेशाब का संक्रमण

    महिलाओं और पुरुषों में गम्भीर सुजाक का सबसे महत्वपूर्ण लक्षण पेशाब करते समय जलन होना है। यह मूत्रमार्ग में संक्रमण और उससे शोथ हो जाने के कारण होता है। पुरुषों में आम शिकायत है मूत्रमार्ग में से पीप निकलना। कभी-कभी पेशाब करने से पहले सिर्फ पीप की एक बूँद निकलती है। मूत्रमार्ग शोथ से मूत्राशय और मूत्रवाहिनी (मूत्रनली) में भी शोथ हो जाता है। इसके बाद गुर्दे भी प्रभावित हो जाते हैं।
    ImageCourtesy@gettyimages

    पेशाब का संक्रमण
  • 3

    योनिशोथ

    महिलाओं में सुजाक से योनिशोथ भी हो जाता है।जनन अंग की जाँच करने से मूत्रमार्ग में पीप दिखाई देती है। इसके अलावा मूत्रमार्ग में दबाने से दर्द होता है। शोथ के कारण महिला को योनि और पेडू (श्रोणी) में तेज़ दर्द हो सकता है। कुछ मामलों में स्पेक्युलम (खुल-मिट जानेवाला एक अवजार) से जाँच करने से गर्भाशयग्रीवा से पीप बहती हुई दिखाई दे सकती है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    योनिशोथ
  • 4

    नियमित जांच कराये

    अगर आप कई लोगो के साथ सम्बन्ध बना रहे है तो अपनी जांच नियमित रूप से करना जरुरी है। यही गोरनिया का सबसे जरुरी उपाय है। हर 3 से 6 महीने में जांच कराये।
    ImageCourtesy@gettyimages

    नियमित जांच कराये
  • 5

    सावधानी रखे

    कई बार कंडोम का प्रयोग सम्बन्ध बनाने के बीच में किया जाता है। ये सही नहीं है।कंडोम सम्बन्ध बनाने की शुरुआत से ही करे। ताकि बैक्टीरिया किसी भी तरह से आपको संक्रमित न कर सके।
    ImageCourtesy@gettyimages

    सावधानी रखे
  • 6

    ओरल सेक्स से परहेज करे

    गोरनिया का 90 फीसदी कारण ओरल सेक्स होता है। ओरल सेक्स बैक्टीरिया संक्रमण का मुख्य कारण है। इससे लिए अगर संभव हो तो ओरल सेक्स करने से परहेज रखे। ओरल वैसे भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।
    ImageCourtesy@gettyimages

    ओरल सेक्स से परहेज करे
  • 7

    कंडोम का प्रयोग करे

    कंडोम का प्रयोग ओरल सेक्स करते समय भी करे। ताकि बैक्टीरिया आपके शरीर में प्रवेश न कर सके। ये आपके पार्टनर के लिए भी सही रहेगा।
    ImageCourtesy@gettyimages

    कंडोम का प्रयोग करे
  • 8

    जागरूक बने

    अगर आप कैजुअल सेक्स में यकीन रखते है तो इससे जुडी जानकारी भी रखे। कैजुअल सेक्स से होने वाले बीमारियों और संक्रमण की जानकारी रखे। इससे आपको सावधानी बरतने में आसानी होगी।
    ImageCourtesy@gettyimages

    जागरूक बने
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर