हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

अपने बिस्तर को स्वस्थ कैसे बनाएं रखें

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 10, 2014
अपने बिस्तर में सोने के लिए जाने से पहले ये तो सुनिश्चित कर लें कि आपका बिस्तर सुरक्षित और स्वस्थ है या नहीं। कहीं यह कीटाणुओं, धूल के कण और विषाक्त पदार्थों से भरा तो नहीं है।
  • 1

    साफ और स्वस्थ बिस्तर

    दिन भर मेहनत करने के बाद शाम को चैन की नींद लेने के लिए सभी को बिस्तर की ही याद आती है। लेकिन अपने बिस्तर में सोने के लिए जाने से पहले ये तो सुनिश्चित कर लें कि आपका बिस्तर सुरक्षित और स्वस्थ है या नहीं। कहीं यह कीटाणुओं, धूल के कण और विषाक्त पदार्थों से भरा तो नहीं है! यदि आप जवाब के बारे में सुनिश्चित नहीं हो पा रहे हैं, तो इस स्लाइड शो से आपको एक साफ और कीटाणु मुक्त बिस्तर प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    साफ और स्वस्थ बिस्तर
  • 2

    गैर विषैली सामग्री का चयन करें

    अपने लिए गद्दे और तकिए का चयन करते समय सुनिश्चित करें कि आप प्राकृतिक सामग्री का चयन करें तथा सुगंधित विरोधी या माइक्रोबियल विरोधी चीजों का चयन न करें। क्योंकि इनमें आमतौर पर कीटनाशक शामिल होते हैं। फॉम और रूई ऐसी चुनें जो फ्लेम रिटार्डेंट्स से ट्रीट न किये गयें हों। फ्लेम रिटार्डेंट्स से धूल के कण ज्यादा एकत्रित होते हैं और विषाक्तता अधिक होती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    गैर विषैली सामग्री का चयन करें
  • 3

    बेहतर लेनन की चुनाव करें

    अपने बिस्तर के लिए बेडशीट, तकिया कवर और कंबल का चुनाव करते समय सिंथेटिक सामग्री को न चुनें। इनके लिए सिंथेटिक की जगह प्रकृतिक चीजें, जैसे कपास, वूल या रेशम का चुनाव करें। प्राकृतिक फाइबर सांस लेते हैं और सिंथेटिक की तुलना में ज्यादा स्वस्थ होते हैं।  
    Image courtesy: © Getty Images

    बेहतर लेनन की चुनाव करें
  • 4

    इन्हें बिस्तर मत बनाओ

    कई अध्ययनों से पता चला है कि बेड में लाखों धूल के कण होते हैं कि जो मानव त्वचा कोशिकाओं को चारा बनाते हैं और एलर्जी का कारण बनते हैं, साथ ही सोते समय ये श्वास से साथ भीतर चले जाते हैं। ये कण नमी पनपने का कारण भी बनते हैं। जो संक्रमण का कारण बन सकती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    इन्हें बिस्तर मत बनाओ
  • 5

    गद्दे, तकिये व कंबल को सुखाएं

    अच्‍छी तरह न सूख पाने के अभाव में इसमें मॉइश्‍चर आ सकता है, जिससे उसमें बदबू पैदा हो सकती है। इसके अलावा, मॉइश्‍चर होने से कंबल, तकिये व बिस्तर में फंगस भी लग सकता है। यदि इनको सही तरीके से साफ नहीं किया तो इसमें भरी धूल से अस्‍थमा आदि का खतरा होने की आशंका भी रहती है। जिस बिस्तर पर आप सोते हैं, ध्यान दें कि वह ठीक प्रकार से सुखाया गया हो।
    Image courtesy: © Getty Images

    गद्दे, तकिये व कंबल को सुखाएं
  • 6

    झाड़कर धूल निकाल लें

    ऊनी कंबलों, तकियों तथा गद्दे में धूल घुस जाती है, जिसे आप धूप में सुखाने के बाद झाड़कर निकाल सकते हैं। कंबल धोने से पहले भी धूल को झाड़ कर बाहर निकाल लेना चाहिए, इससे आसानी रहती है। आप चाहें तो कंबल से धूल निकालने के लिए वैक्‍यूम क्‍लीनर का प्रयोग भी कर सकते हैं। कंबल, तकिये व गद्दे आदि पर कवर का प्रयोग करें।
    Image courtesy: © Getty Images

    झाड़कर धूल निकाल लें
  • 7

    दूसरे कपड़ों के साथ न धोएं

    बिस्‍तर पर इस्‍तेमाल किए जाने वाले कम्‍बल व तकिये आदि को भी दूसरे कपड़ों के साथ उपयोग न करें। साथ ही कंबल, तकिये व गद्दे के कवर आदि को धोते समय इन्हें अकेला ही धोएं। बाकी रोजमर्रा के कपड़ों के साथ न धोएं।
    Image courtesy: © Getty Images

    दूसरे कपड़ों के साथ न धोएं
  • 8

    प्रोफेशनल ड्राईक्‍लीन करवाएं

    यदि आप घर में कंबल आदि की धुलने नहीं कर सकते हैं तो उसे साल में कम से कम दो बार ड्राईक्‍लीन जरूर करवा लें। इसके अलावा जब धूल और मिट्टी तकिये और गद्दे को ना छोड़े तो कोई अच्‍छा लिक्‍विड क्‍लीनर प्रयोग कर सकते हैं। ये लिक्‍विड क्‍लीनर बाजार में आसानी से उपलब्‍ध हैं, जिनसे आप सोफा कवर व अन्‍य कवरर्स और तकिये साफ कर सकते हैं।
    Image courtesy: © Getty Images

    प्रोफेशनल ड्राईक्‍लीन करवाएं
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर