हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

50 साल बाद पुरुषों में होने वाली बीमारियां और उनसे बचने के तरीके

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 26, 2015
पुरुषों को भी उतनी ही केयर की जरूरत होती है, जितनी कि महिलाओं को। उम्र बढ़ने के साथ ये जरूरतें और बढ़ती हैं। ऐसे मे सबसे ज्यादा जरूरी होता है अलर्ट रहना और समय रहते दिक्कतों से निबटने के उपाय करने।
  • 1

    बढ़ती उम्र में रखें ख्याल

    50 वर्ष से अधिक उम्र के पुरूषों को ऐसे भोजन लेना आवश्‍यक होता है जिसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व हों, ताकि वह शारीरिक और मानसिक रूप से स्‍वस्‍थ रहें, उन्‍हे किसी प्रकार की बीमारी और रोग न होने पाएं, उनकी ऊर्जा का स्‍तर उच्‍च बना रहे और किसी भी प्रकार की बीमारी होने पर वह जल्‍दी से ठीक हो जाएं।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    बढ़ती उम्र में रखें ख्याल
  • 2

    आंखों की जांच

    आंखों की बीमारियां, जैसे कि मस्क्युलर डीजनरेशन मोतियाबिंद, ग्लॉकोमा आदि उम्र बढ़ने के साथ आने वाली एक आम समस्या है। ऐसे में बचाव के उपाय करने के लिए 60 साल की उम्र से पहले हर दो साल में और इसके बाद हर साल आंखों की जांच कराएं। अगर किसी को पहले से समस्या है अथवा वह खतरे के दायरे में आता है तो हर छह महीने में टेस्ट कराएं।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    आंखों की जांच
  • 3

    कानों की जांच

    60 साल से अधिक उम्र वाले तकरीबन 30 पर्सेंट लोगों को सुनने की समस्या होती है। इनमें से कुछ लोगों की दिक्कत इलाज से ठीक हो सकती है। इसके लिए साल में एक बार हियरिंग टेस्ट कराएं ।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    कानों की जांच
  • 4

    डेंटल एग्जाम

    मसूड़ों की बीमारियां आपके संपूर्ण स्वास्थ्य का आईना हो सकती हैं। ऐसे में आपके दांत, मसूड़े, मुंह और गले की नियमित जांच हर साल होनी चाहिए। इसके साथ ही सालाना दांतों की सफाई भी कराएं।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    डेंटल एग्जाम
  • 5

    वजन को न छोड़ें फ्री

    जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, मसल की जगह फैट लेने लगता है,क्योंकि शरीर का मेटाबोलिजम स्लो होने लगता है। यह फैट धीरे-धीरे कमर तक पहुंचता है, क्योंकि आप पहले की तरह कैलोरी बर्न नहीं कर पाते। ऐसे में उम्र बढ़ने के साथ शरीर को अपने हाल पर छोड़ने के बजाय रेग्युलर एक्सरसाइज और पौष्टिक खान-पान का ध्यान रखें।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    वजन को न छोड़ें फ्री
  • 6

    हड्डियों का भी रखें ध्यान

    उम्र बढ़ने के साथ हमारी हड्डियां भी कमजोर होने लग जाती हैं। ऐसे में अगर पौष्टिकता की कमी, शारीरिक व्यायामक का अभाव, सेक्स हार्मोन में कमी और कुछ दवाओं के चलते समस्या तेजी से बढ़ने लगती है। ऐसे में हड्डियों की समस्या से बचने के लिए अपने डॉक्टर से बोन स्कैन और पौष्टिक आहार के बारे में पूछें। मगर ज्यादातर पुरूष हड्डियों की समस्या पर बात तभी करते हैं जब उन्हें कोई तकलीफ या फ्रैक्चर आदि हो।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    हड्डियों का भी रखें ध्यान
  • 7

    युरोलॉजिकल समस्याएं

    50 साल से अधिक उम्र के पुरूषों को युरोलॉजिकल समस्याएं हो सकती हैं। डॉक्टरों के मुताबिक इन दिक्कतों को पहचानने के लिए कुछ लक्षणों पर ध्यान देना जरूरी है, जैसे कि बगलों और पेट के निचले हिस्से में दर्द, पेशाब में खून आना अथवा इरेक्टाइल डिसफंक्शन। 50 साल से अधिक उम्र वाले पुरूषों के रूटीन फिजिकल एग्जाम में डिजिटल रेक्टल एग्जाम यानी डीआरई और पीएसए यानी प्रॉस्टेट स्पेसिफिक एंटिजन शामिल किया गया है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    युरोलॉजिकल समस्याएं
  • 8

    कोलेस्ट्रॉल स्क्रीनिंग

    35 से अधिक उम्र वाले पुरूषों को हर साल कोलेस्ट्रॉल की जांच करानी चाहिए। हार्ट अटैक और स्ट्रोक की सबसे बड़ी वजहों में से एक कोलेस्ट्रॉल बढ़ा होना है, लेकिन अच्छी बात यह है कि कोलेस्ट्रॉल को आप अपने खान-पान में बदलाव और कुछ दवाओं की मदद से आसानी से नियंत्रण में ला सकते हैं। इसके लिए बेहतर है कि एक लिपिड प्रोफाइल टेस्ट करा लें। इसमें एचडीएल यानी अच्छा कोलेस्टृॉल और एलडीएल यानी बुरा कोलेस्ट्रॉल का स्तर पता लग जाता है।
    ImageCourtesy@Gettyimages

    कोलेस्ट्रॉल स्क्रीनिंग
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर