हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कम्प्यूटर मेडिटेशन करने के तरीके

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 15, 2014
सकारात्मक वाक्यांशों के साथ जुड़े सरल योग मूवमेंट्स के माध्यम से कंप्यूटर पर काम करते हुए बीच में ब्रेक लेकर किये जाने वाले मेडिटेशन को कम्प्यूटर मेडिटेशन कहा जाता है। इसे नास्तिकों द्वारा भी किया जा सकता है।
  • 1

    कम्प्यूटर मेडिटेशन

    कंप्यूटर पर काम करने करते हुए बीच में एक ब्रेक लेकर निर्देशित तरीके से ध्यान करने को कंप्यूटर मेडिटेशन कहा जाता है। सकारात्मक वाक्यांशों के साथ जुड़े सरल योग मूवमेंट्स के माध्यम से आप आंतरिक रुकावटों को दूर कर अपने मन को सकारात्मक रिचार्ज कर सकते हैं। इस कम्प्यूटर मेडिटेशन की मदद से पांच मिनट में शांति, शक्ति, प्रेम और खुशी मिलती है और इससे एकाग्रता भी बढ़ती है।

    कम्प्यूटर मेडिटेशन
  • 2

    ईष्ट की प्रार्थना

    ध्यान मग्न होकर अपने धार्मिक ईष्ट की प्रार्थना करें और शांति पाएं। आपके धर्म और सोच के हिसाब से आपके ईष्ट कोई भी हो सकते हैं, वो भगवान हो सकते हैं, खुदा हो सकते हैं, गौड़ हो सकते हैं या वे आपके गुरू या माता - पिता हो सकते हैं।

    ईष्ट की प्रार्थना
  • 3

    प्रार्थना करें और प्रकाश भेजें

    ग्रह के सभी प्रणियों के लिए प्रर्थाना करें और ध्यान की मदद से सुख, शांति, प्रेम से भरा एक प्रर्थाना रूपी प्रकाश सबके हित में आपनी आंखों से भेजें। कहें कि "मैं इस जगत के हित में और उनकी खुशी के लिए यह प्रकाश भेजता हूं। प्रभु करे सभी खुश रहें, ये पूरा संसार खुश और सुखी रहे।"

    प्रार्थना करें और प्रकाश भेजें
  • 4

    अपने अनुसार करें परिभाषित

    यह कंप्यूटर मेडिटेशन सभी धार्मिक संप्रदायों के लोगों के लिये है, यहां तक कि इसे नास्तिकों द्वारा भी किया जा सकता है। आप अपनी सुविधा और इच्छा के अनुसार नैतिक ढ़ंग से मंत्र को रिफ्रेज कर उपयुक्त बना सकते हैं। आप अपने तरीके से भगवान को परिभाषित कर सकते हैं।

    अपने अनुसार करें परिभाषित
  • 5

    मूड

    कंप्यूटर मेडिटेशन दिमाग के उन स्थानों पर मेंटल मसल्स बनाते हैं जो एम्पैथी, कम्पैशन और डर का घर होते हैं। इस तरह से इस मेडिटन की मदद से भावनाओं पर काबू पाना आसान हो जाता है।

    मूड
  • 6

    मेडिटेशन और दिमाग

    जब आप कम्प्यूटर मेडिटेशन करते हैं तो ब्रेन की अल्फा और बीटा ब्रेनवेव एक्टिविटी बढ़ती है। इससे शरीर को आराम मिलता है। अगर आप दो महीने तक लगातार मेडिटेशन करते हैं तो आपके बॉडी के कई पार्ट्स पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

    मेडिटेशन और दिमाग
  • 7

    मूड को बूस्ट करे कंप्यूटर मेडिटेशन

    मेडिटेशन या ध्यान दिमाग को शांत कर शरीर में ऊर्जा का केंद्रीयकरण करता है, जिससे शरीर में ऊर्जा लगातार बनी रहती है और  शरीर सुस्त नहीं होती है। कंप्यूटर मेडिटेशन वस्तु या विषय पर चित्त को स्थिर करने की ही कला है।

     मूड को बूस्ट करे कंप्यूटर मेडिटेशन
  • 8

    सरल मंत्र मेडिटेशन

    मंत्र मेडिटेशन, मेडिटेशन का सबसे आसान तरीकों में से एक माना जाता है चूंकि यह आप को सिर्फ एक वस्तु पर ध्यान केंद्रित कर सभी विचारों से दूर ले जाता है। मंत्र जाप लोगों की बहुत मदद करते है, जो इस तकनीक का अभ्यास करना चाहते हैं। इस मेडिटेशन को करते हुए, आप मंत्र जोर से या अपने मन में भी इसका उच्चारण कर सकते हैं।

    सरल मंत्र मेडिटेशन
  • 9

    फ्री माइंड मेडिटेशन

    इस मेडिटेशन को कंप्यूटर ब्रेक्स के दौरान करने के लिए सपाट सतह पर धैर्य रखते हुए आपकी पीठ सीधा और आंखों को बंद करने के साथ बैठें। फिर दिमाग को शांत करें। यह प्रारंभ करने वालो के लिए थोड़ा कठिन हो सकता है, बस धैर्य रखें और आराम से अभ्यास करें।

    फ्री माइंड मेडिटेशन
  • 10

    ऊं के उच्चारण के साथ मेडिटेशन

    मेडिटेशन के दौरान ऊं के उच्चारण के कई सारे फायदे हैं। ऊं की ध्वनि मानव शरीर के लिये प्रतिकुल डेसीबल की सभी ध्वनियों को वातावरण से निष्प्रभावी बना देती है। ऊं का उच्चारण करने वाले के शरीर का विद्युत प्रवाह आदर्श स्तर पर पहुंच जाता है। इसके उच्चारण से इंसान को वाक्सिद्धि प्राप्त होती है। इससे अनिद्रा की बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाता है।

    ऊं के उच्चारण के साथ मेडिटेशन
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर