हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन 8 तरीकों से ब्रेकअप डालता है आपकी सेहत पर बुरा असर

By:Shabnam Khan , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 09, 2015
अनचाहे ही सही, कई बार हमें ब्रेकअप का सामना करना पड़ता है। ब्रेकअप का असर सिर्फ आपके दिल पर ही नहीं, बल्कि आपकी सेहत पर भी पड़ता है। जैसे मोटापा, पाचन तंत्र की समस्याएं, अवसाद आदि।
  • 1

    टूटता है दिल, खराब होती है सेहत

    कौन चाहता है कि उसका रिलेशनटिप टूट जाए, उसे ब्रेकअप के दर्दभरे अनुभव से गुजरना पड़े और वो बिखरा-बिखरा महसूस कर करे। लेकिन, बहुत से लोगों की जिंदगी में ये मौका भी आता है। अनचाहे ही सही, उन्हें ब्रेकअप का सामना करना पड़ता है। ब्रेकअप का असर सिर्फ आपके दिल पर ही नहीं, बल्कि आपकी सेहत पर भी पड़ता है। आइए जानें, ब्रेकअप का दौर आपकी जिंदगी में किन 7 बड़ी मानसिक और शारीरिक समस्याओं को बुलावा देता है।

    Image Source - Getty Images

    टूटता है दिल, खराब होती है सेहत
  • 2

    मोटापा

    अगर हाल फिलहाल में आपका ब्रेकअप हुआ है और इसी गम में आप ज्यादा खा रहे हैं तो परेशान मत हो। ब्रेकअप के बाद अक्सर लोगों के साथ ऐसा होता है। दरअसल ब्रेकअप के दौरान बहुत अधिक तनाव से शरीर में कोर्टिजोल बढ़ता है जो शरीर में फैट्स को तोड़ने में अवरोध पैदा करता है और वजन तेजी से बढ़ता है।

    Image Source - Getty Images

    मोटापा
  • 3

    वजन घटना

    ब्रेकअप के बाद सिर्फ वजन बढ़ने की ही नहीं, वजन तेजी से घटने की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है। डाइट फर्म फ्रोजा सप्लीमेंट द्वारा एक हजार लोगों पर कराए गए सर्वेक्षण के अनुसार, लंबे समय तक चला रिश्ता टूटने के बाद महिलाओं का वजन एक महीने में लगभग 2.26 किलोग्राम तक कम हो जाता है। डेली स्टार बेवसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, रिश्ते के टूटने के बाद अगर कोई व्यक्ति एक साल तक अकेला रहता है, तो उसका वजन छह किलोग्राम तक घट जाता है। इसलिए ब्रेकअप के बाद आप दुबले होते जा रहे हैं तो समझ लीजिए, आप ब्रेकअप के साइड इफेक्ट्स सी पीड़ित हैं।

    Image Source - Getty Images

    वजन घटना
  • 4

    इम्यूनिटी घटना

    अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन के शोध की मानें तो ब्रेकअप के दौरान मन में बहुत अधिक नकारात्मक विचार आते हैं जिनका प्रभाव शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम पर पड़ता है। अस्‍वीकृति का तनाव, आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्‍तेजित कर तनाव सेल को नुकसान पहुंचाता है। आपके प्रतिरक्षा प्रणाली के कुछ हिस्‍से संक्रमण से लड़ने और वायरस को नियंत्रण करने में मददगार प्रतिरक्षा प्रणाली के कुछ हिस्‍से अपनी भाप खोने लगते है। जिसके कारण आप बहुत जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ते हैं।

    Image Source - Getty Images

    इम्यूनिटी घटना
  • 5

    पाचन संबंधी समस्याएं

    ब्रेकअप से सिर्फ आपका दिल ही नहीं पेट भी अपसेट हो सकता है। दरअसर, ब्रेकअप से हाजमा खराब हो जाता है। सुनने में अटपटा लगे लेकिन ब्रेकअप के दौरान होने वाले तनाव का प्रभाव हमारे पाचन तंत्र पर भी पड़ता है। ब्रेकअप के बाद लंबे समय तक तनाव हार्ट बर्न, अपच, पेट में दर्द का कारण हो सकता है।

    Image Source - Getty Images

    पाचन संबंधी समस्याएं
  • 6

    अनिंद्रा

    अगर रिश्ते में बुरे दौर से गुजरते वक्त आपकी नींद ने आपका साथ छोड़ दिया है तो इसकी वजह कुछ और नहीं है बल्कि आपका नाकाम रिश्ता और इसका तनाव ही है। तनाव के दौरान शरीर में बढ़ने वाला र्कोटिजोल नींद और बॉडी क्लॉक पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। इसी वजह से अक्सर लोगों की ब्रेकअप के बाद नींदें उड़ जाती हैं।

    Image Source - Getty Images

    अनिंद्रा
  • 7

    तनाव और अवसाद

    हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के एक शोध के अनुसार, ब्रेकअप के दौर से गुजरने वाले जोड़ों में सबसे अधिक आशंका अवसाद या तनाव की होती है। ऐसी मानसिक स्थिति में शरीर में कोर्टिजोल नामक हार्मोन का स्तर अधिक बढ़ता है। इससे ब्लड प्रेशर व दिल के रोगों का रिस्क भी बढ़ सकता है।

    Image Source - Getty Images

    तनाव और अवसाद
  • 8

    त्वचा के रोग

    अक्सर आपने देखा होगा कि ब्रेअपक के बाद लोग चेहरे से डल दिखने लगते हैं। उनकी त्वचा की रौनक गुम हो जाती है। दरअसल, ब्रेकअप के बाद कोर्टिसोल के मुक्त बहाव के कारण आपकी त्‍वचा भी प्रभावित होने लगती है। कोर्टिसोल के कारण त्‍वचा के नीचे रोमछिद्र को अवरोधक करने वाला तेल पनपने लगता है। इस तरह से दिल का टूटना अक्‍सर त्वचा की समस्याओं का कारण बनता है।

    Image Source - Getty Images

    त्वचा के रोग
  • 9

    दिल की सेहत पर असर

    ब्रेकअप के बाद ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम काफी आम है। ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम एक ऐसी अवस्था है, जिसका संबंध तनावपूर्ण या भावनात्मक घटनाओं से है। इस तरह के तमाम मरीजों को एस्प्रिन या ह्रदय संबंधी दवाएँ दी गईं। दवा खाने के बाद लगभग सभी मरीजों की दशा पहले से बेहतर पायी गई। ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम के लक्षण ह्रदयाघात के समान होते हैं, जैसे सीने में दर्द, उखड़ी साँस आदि। इन लक्षणों का पता जल्द लगने के बाद यदि तेजी से उपचार किया जाए तो इन्हें पूरी तरह दूर किया जा सकता है।

    Image Source - Getty Images

    दिल की सेहत पर असर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर