हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

बच्‍चे आपसे ही सीखते हैं जीवन से जुड़े पाठ

By:Gayatree Verma , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 06, 2016
बच्चे कच्ची मिट्टी के घड़े की तरह होते हैं, उन्हें आप जिस शेप में मतलब जैसा बनाना चाहेंगे वे वैसा बनते हैं, जन्‍म के बाद बच्‍चा जो भी सीखता है वो आपसे ही सीखता है, तो जीवन के ये पाठ बच्चों को समझदारी से सिखाएं।
  • 1

    अभिभावक और बच्चे

    बच्चे का आना परिवार में खुशियों की सौगात ला देता है। लोग एक-दूसरे का मुंह मीठा कराते हुए नहीं थकते। लेकिन यहीं बच्चा जब पैंट में शू-शू कर देता है, बड़े होने पर आपकी बात नहीं मानता, स्कूल में अच्छे मार्क्स नहीं ला पाता... आदि चीजें सही तरीके से नहीं कर पाता तो अभिभावक बच्चों पर गुस्सा होने लगते हैं। ये बिल्कुल गलत है। बच्चे कहीं से सीख कर नहीं आए हैं। उन्होंने जो सीखा है यहां आपसे और आपके पास ही रहकर सीखा है। वो गलतियां कर रहे हैं तो कहीं न कहीं आपकी सीख गलत है।

    अभिभावक और बच्चे
  • 2

    मेहनत करें

    बच्चे पालना बहुत ही मेहनत का काम है। इनके साथ काफी बैलेंस होकर चलना होता। ज्यादा ढील देने पर भी औऱ कड़ाई करने पर भी बच्चे बिगड़ जाते हैं। सो सब्र से काम लें। कड़ाई से पेश आएं, लेकिन एक हद के बाद समझाएं भी। दोस्त बने लेकिन उन्हें ये भी अहसास दिलाएं की आप उनके अभिभावक भी हैं।

    मेहनत करें
  • 3

    अपना बेस्ट दें

    हर काम में अपना बेस्ट दें जिससे बच्चा भी हर काम में अपना बेस्ट देना सीखें। अगर खेल भी रहे हैं तो उसे चलते में ना डालें। इससे आपका बच्चा आपसे हर काम बेस्ट तरीके से करेगा।

    अपना बेस्ट दें
  • 4

    शेयर करें

    ये एक अहम चीज है और इसी के ऊपर दुनिया टिकी है। कई बच्चे चीजें शेयर करना पसंद नहीं करते। लेकिन ये गलत है। बचपन में ये आदत अच्छी लगती है लेकिन बड़े होने पर ये बच्चे को अड़ियल, असंवेदनशील और भावहीन इंसान बना देती है। तो बच्चे को शेयर करना जरूर सिखाएं।

    शेयर करें
  • 5

    वैल्यूज मायने रखती हैं

    आजकल एकल परिवार की संख्या में जिस तरह से बढ़ोतरी हो रही है उसको देखते हुए आज के बच्चों में बचपन से ही वैल्यूज डालना जरूरी है। इससे बच्चे आपका और अपने हमउम्र के लोगों की इज्जत करना सीखते हैं।

    वैल्यूज मायने रखती हैं
  • 6

    तारों की चाहत

    बचपन में तारों की गिनती हर कोई करता है। लेकिन तारों की गिनती के साथ ये आपकी जिम्मेदारी है कि आप बच्चों में तारों तक पहुंचने की भी चाहत उनमें जगाएं। इससे बच्चे सफलता की ओर अग्रसर होते हैं।

    तारों की चाहत
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर