हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

बहती नाक के लिए आजमायें ये घरेलू नुस्‍खे

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:May 11, 2015
नाक बहने की समस्‍या होने पर ना ही आप ठीक से सो पाते हैं और ना ही एक जगह ध्‍यान केंद्रित कर पाते हैं, यह स्थिति बहुत ही परेशान करने वाली होती ळै, लेकिन कुछ घरेलू नुस्‍खों को आजमाने से इससे निजात मिल सकती है।
  • 1

    बहती नाक का उपचार

    बहती नाक बहुत ही आम लेकिन कष्‍टप्रद समस्‍या है। यह समस्‍या अक्‍सर साइनस और नाक के मार्ग में बलगम के बढ़ जाने के कारण होती है। बढ़ा बलगम शरीर से बाहर नाक के रास्‍ते बाहर निकलती है। नाक बहने के आम सामान्‍य कारणों में सर्दी जुकाम, एलर्जी की प्रतिक्रिया, साइनस संक्रमण और मौसम में आने वाला अचानक बदलाव शामिल है। समय पर इलाज नहीं होने पर खांसी, सिर दर्द और अन्‍य समस्‍यायें हो सकती हैं। एंटीबॉयटिक दवाओं का प्रयोग इसके लिए सही नहीं, ऐसे में घरेलू नुस्‍खों से इसका प्रभावी उपचार करें।
    Image Source : Getty

    बहती नाक का उपचार
  • 2

    असरदार घरेलू उपाय नमक का पानी

    नमक का पानी बहती नाक का रोकने को सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय है। नमक का पानी बलगम को पतला करने में मदद मिलती है, जिससे इसे बाहर निकालना आसान और अधिक आरामदायक हो जाता है। साथ ही यह नासिका मार्ग की परेशानी को दूर करने में भी मदद करता है। इसके लिए 1 चम्‍मच नमक को 1 कप पानी के साथ मिलाइये। एक ड्रापर की सहायता से सिंक में झुक कर अपनी एक नाक के छेद में पानी डालें और कुछ सेकेंड के बाद उसे निकाल दें। अब ऐसा ही दूसरी नाक के साथ भी करें।
    Image Source : Getty

    असरदार घरेलू उपाय नमक का पानी
  • 3

    आसान उपाय है भाप

    यह सबसे अच्छा, आसान और प्रभावी तरीका है जिसे आप आसानी से घर पर कर सकते है। यह आपकी बहती नाक को कम करने में मदद करता है। इसे करने के लिए एक बर्तन में उबलता पानी लें और अपना नाक नहीं जले इसका ध्यान रखते हुए भाप लें। राहत के लिए आप एक ह्यूमिडिफाइर का उपयोग कर सकते है या गर्म पानी से भी नहा सकते हैं।
    Image Source : amazonaws.com

    आसान उपाय है भाप
  • 4

    एंटीबॉयटिक गुणों से भरपूर है सरसों का तेल

    सरसों के तेल में एंटीबॉयटिक, एंटीवायरल और एंटीहिस्टामिन गुण होते हैं जो बहती नाक के विभिन्‍न लक्षणों से तुरंत राहत प्रदान करते है। इसके अलावा, सरसों के तेल की महक बहुत जोरदार होती है जिससे नाक बिल्‍कुल साफ हो जाती है। समस्‍या होने पर 1 चम्‍मच सरसों का तेल कटोरी में रख कर हल्‍का सा गर्म करें। फिर एक-एक बूंद अपनी नाक के दोनों छेदों में डालें। यह नाक को साफ करने में आपकी मदद करता है। इस उपाय को दिन में दो से तीन बार करें।
    Image Source : Getty

    एंटीबॉयटिक गुणों से भरपूर है सरसों का तेल
  • 5

    गुणों की खान है अदरक

    अदरक में गुणों की एक विस्‍तृत श्रृंखला जैसे एंटीवायरल, एंटीटॉक्सिक और एंटीफंगल मौजूद होते हैं जो बहती नाक के विभिन्‍न लक्षणों से जल्‍द राहत देने में आपकी मदद करते हैं। अदरक की चाय सबसे बेस्‍ट चाय है और यह तुरंत बन जाती है। एक कप में 3 स्‍लाइस अदरक की डाल कर 1 कप गरम पानी डालें। इसमें दालचीनी भी डालें और गर्मा गर्म पियें, तुरंत लाभ होगा। या अदरक के छोटे से टूकड़े को चबाने से भी लाभ होता है।
    Image Source : Getty

    गुणों की खान है अदरक
  • 6

    अद्भुत उपचार है लहसुन

    लहसुन में मजबूत एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते है। इन्‍हीं गुणों के कारण लहुसन बहती नाक के लिए एक अद्भुत उपचार माना जाता है। समस्‍या होने पर एक कप पानी में तीन या चार लहसुन की कली को बारिक काटकर कुछ मिनट तक उबाल कर सूप तैयार करें। इसमें थोड़े सी चीनी मिलाकर इस सूप को दिन में दो बार लें। या शरीर को गर्म या बहती नाक से राहत पाने के लिए लहसुन की तीन या चार कली छोटी कली को चबाकर खायें।
    Image Source : Getty

    अद्भुत उपचार है लहसुन
  • 7

    सुगंध से भरपूर है नीलगिरी का तेल

    नीलगिरी का तेल एक सर्दी खांसी की दवा के रूप में काम करता है और बहती नाक से तुरंत राहत देता है। इसे इस्‍तेमाल करने के लिए एक बड़े बाउल में पानी गर्म करें। उसमें सात बूंदें नीलगिरी के तेल, चार बूंदें लैवेंडर तेल और कुछ बूंदे पुदीने की तेल की मिलाये। अब अपने सिर को तौलिये से कवर करके इसे सुगांधित भाप से स्‍टीम लें। इस उपाय को दिन में दो या तीन बार करें। या इसके लक्षणों को कम करने के लिए आप अपने रूमाल में नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदे डालकर दिनभर इसे सूंघें।
    Image Source : Getty

    सुगंध से भरपूर है नीलगिरी का तेल
  • 8

    प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाये शहद

    शहद एंटीवायरल और एंटीबैक्‍टीरियल गुणों से भरपूर होने के कारण बहती नाक की समस्‍या को तुरंत दूर करने में आपकी मदद करता है। इसके लिए एक कप में दो बड़े चम्‍मच शहद मिलाये। फिर इसमें चुटकी भर दालचीनी का पाउडर और आधा चम्‍मच नींबू का रस मिलाये। इस मिश्रण को दिन में दो बार लें फायदा होगा। इसके अलावा आप एक गिलास गर्म पानी में दो चम्‍मच शहद मिलाकर ले सकते हैं। यह उपाय प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर बहती नाक से लड़ने में आपकी मदद करता है।  
    Image Source : Getty

    प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाये शहद
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर