हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

गर्भावस्‍था में सीने में जलन के लिए घरेलू उपाय

By:Nachiketa Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 19, 2014
गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को कई प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है, सीने की जलन भी उनमें से एक है, घरेलू उपचार के जरिये इसे आसानी से दूर किया जा सकता है।
  • 1

    गर्भावस्‍था में सीने में जलन

    गर्भावस्‍था के नौ महीनों में महिला को कई प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है। कुछ समस्‍यायें एक बार-बार होती हैं, उनमें सीने की जलन भी है। गर्भावस्‍था के दौरान सीने की जलन की समस्‍या तीसरी तिमाही यानी 6 महीने के बाद होती है। सीने और गले में जलन, मुंह में खट्टा और अम्‍लीय स्‍वाद, आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। जैसे-जैसे भ्रूण का विकास होने लगता है, वैसे-वैसे वह पेट के अंदर के अंगों को ऊपर की ओर ढकेलने लगता है, जिसके कारण पेट में एसिडिटी बनना शुरु हो जाता है। इसके कारण ही सीने में जलन की समस्‍या होती है। घरेलू उपचार के जरिये इस समस्‍या का दूर किया जा सकता है।

    image source - getty images

    गर्भावस्‍था में सीने में जलन
  • 2

    बादाम खायें

    स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बादाम को बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। गर्भावस्‍था के दौरान सीने में होने वाली जलन को दूर करने के लिए बादाम का सेवन कीजिए। प्रोटीनयुक्‍त बादाम में तेल पाया जाता है, जो एसिडिटी की समस्‍या को दूर करने में सहायक है। यह एक हेल्‍दी स्‍नैक्‍स है जिसका सेवन गर्भवती महिला कभी भी कर सकती है। सीने में होने वाली जलन से छुटकारे के लिए इसका प्रयोग कीजिए।

    image source - getty images

    बादाम खायें
  • 3

    अदरक का सेवन

    यह बहुत ही आसानी से उपलब्‍ध हो जाता है। यह बहुत ही लोकप्रिय मसाला भी है। पेट की किसी भी प्रकार की समस्‍या को दूर करने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है। अदरक के सेवन से पाचन शक्ति बढ़ती है। सीने में जलन के इलाज में भी बहुत कारगर यह अदरक। ताजा अदरक को चबाने या अदरक वाली चाय पीने से एसिड रिफ्लक्‍स या पेट की समस्‍या दूर होती है।

    image source - getty images

    अदरक का सेवन
  • 4

    दही खायें

    इसमें प्रोटीन भी पाया जाता है जो गर्भवती महिला के लिए बहुत जरूरी होता है। इसमें पाया जाने वाला प्रोबायोटिक्स बैक्टीरिया पेट में सूक्ष्‍म वनस्‍पति में संतुलन बना कर रखता है इससे एसिडिटी से राहत मिलती है। इसके अलावा दही पाचन तंत्र में सुधार करता है, जिससे खाना आसानी से पच जता है। इसका सेवन करने से गर्भावस्‍था के दौरान पेट संबंधित समस्‍या होने की संभावना कम रहती है।

    image source - getty images

    दही खायें
  • 5

    एलोवेरा का सेवन करें

    यह बहुत ही फायदेमंद औषधि है। एलोवेरा में सीने की जलन को कम करने और एसिडिटी से तुरन्‍त राहत प्रदान करने की अद्भुत क्षमता पायी जाती है। एलोवेरा जूस को पानी में मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं। इससे पेट से संबंधित सभी प्रकार की समस्‍यायें दूर होती हैं। इसका सेवन गर्भावस्‍था के दौरान किया जा सकता है।

    image source - getty images

    एलोवेरा का सेवन करें
  • 6

    नींबू का रस

    गर्भावस्‍था के दौरान अगर सीने में जलन हो तो नींबू के रस का सेवन कीजिए। एक लीटर पानी में एक छोटा चम्‍मच नींबू का रस और दो चम्‍मच शहद अच्‍छे से मिला लीजिए। नींबू और शहद दोनों मिलकर एसिड रिफ्लक्‍स की समस्‍या को दूर करते हैं। इससे पाचन क्रिया सुधरती है और एसिडिटी भी नहीं होती। यह सीने की जलन दूर करने का अच्‍छा तरीका है।

    image source - getty images

    नींबू का रस
  • 7

    सौंफ का सेवन है फायदेमंद

    सामान्‍यतया सौंफ का सेवन अगर किया जाये तो पेट संबंधी किसी भी प्रकार की समस्‍या नहीं होती है। यह कब्ज और एसिडिटी की समस्‍या दूर करता है। सौंफ में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, पोटैशियम जैसे लाभकारी तत्व पाये जाते हैं जो सीने की जलन को दूर करते हैं। इसके लिए सौंफ को मिश्री के साथ पीसकर चूर्ण बना लें और लगभग 5 ग्राम चूर्ण को सोते समय गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। इससे गैस व कब्‍ज की समस्‍या नहीं होगी।

    image source - getty images

    सौंफ का सेवन है फायदेमंद
  • 8

    बेकिंग सोडा

    गर्भावस्‍था के दौरान सीने में जलन से बचने के लिए बेकिंग सोडा का प्रयोग कीजिए। एक गिलास पानी में एक चम्‍मच बेकिंग सोडा को मिलाकर इसका सेवन कीजिए। लेकिन आपको इस बात का ध्‍यान रखना होगा कि इसका सेवन बहुत जल्‍दी-जल्‍दी न करें क्‍योंकि इसमें नमक बहुत ज्‍यादा होता है। जो आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकता है।

    image source - getty images

    बेकिंग सोडा
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर