हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

जानें स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कितना फायदेमंद है सिंघाड़ा

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jan 06, 2016
यह मौसमी फल कई पोषक तत्‍वों और लो कैलोरी के कारण सेहत के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है, आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से सिंघाड़े से होने वाले फायदों के बारे में विस्‍तार से जानकारी लेते हैं।
  • 1

    व्रत में ही नहीं बल्कि इन कारणों से रोज खायें सिंघाड़ा

    तिकोने आकार का हरे और लाल रंग का सिंघाड़ा अपने शानदार स्‍वाद और कड़कपन के कारण बेहद खास है। पानी में पाया जाने वाले सिंघाड़े को पानीफल के नाम से भी जाना जाता है। यह मौसमी फल कई पोषक तत्‍वों और लो कैलोरी के कारण सेहत के लिए बहुत अच्‍छा माना जाता है। कई तरह की बीमारियों से बचने के लिए जिंक, पोटैशियम और विटामिन से भरपूर इस फल को हर किसी को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। सिंघाड़े का इस्तेमाल कई तरह किया जाता है। कुछ लोग इसे कच्चा खाना पसंद करते हैं तो कुछ इसे उबालकर खाते हैं। कई जगहों पर इसे सब्जी के तौर पर भी प्रयोग में लाया जाता है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से इससे होने वाले फायदों के बारे में विस्‍तार से जानकारी लेते हैं।
    Image Source : efratnakash.com

    व्रत में ही नहीं बल्कि इन कारणों से रोज खायें सिंघाड़ा
  • 2

    पोषक तत्वों से भरपूर

    सिंघाड़े का इस्तेमाल अपनी रोजाना की डाइट में किया जा सकता है। इनमें उच्च मात्रा में पोषक तत्व जैसे विटामिन बी व सी, आयरन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस आदि की मौजूदगी और कैलोरी की कम मात्रा स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है। भूख बढाने के लिए भी यह फल एक बेहतर विकल्प माना जाता है। बुजुर्गों व गर्भवती महिलाओं के लिए तो यह बहुत गुणकारी है। इस फल में कई औषधीय गुण हैं, जिनसे शुगर, अल्सर, हृदय रोग, गठिया जैसे रोगों से बचाव हो सकता है।
    Image Source : wordpress.com

    पोषक तत्वों से भरपूर
  • 3

    पीलिया में फायदेमंद

    सिंघाड़े में डिटॉक्सि‍फाइंग गुण पाये जाता है। यह शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में कारगर होता है। ऐसे में अगर किसी को पीलिया है तो सिंघाड़े का इस्तेमाल उसके लिए बहुत फायदेमंद होगा।

    पीलिया में फायदेमंद
  • 4

    थायराइड ग्लैंड को सक्रिय करें

    सिंघाड़े में आयोडीन और मैगनीज जैसे कई प्रमुख मिनरल होते हैं। यह थायराइड ग्रंथि के लिए आवश्‍यक तत्‍व है। इसलिए रोजाना इसे अपने आहार में शामिल करने से थाइराइड ग्रंथि की क्रियाशीलता लम्बे समय तक सही रूप में बनी रहती है।

    थायराइड ग्लैंड को सक्रिय करें
  • 5

    अनिद्रा की समस्‍या से बचायें

    सिंघाड़े में पॉलीफिनॉलिक और फ्लेवोनॉयड जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट पाये जाते हैं। इसके अलावा ये एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी-कैंसर गुणों से भी भरपूर होता है। इसके अलावा यह अनिद्रा की समस्या को दूर करने में भी सहायक होता है।

    अनिद्रा की समस्‍या से बचायें
  • 6

    यूरीन इंफेक्‍शन को रोकें

    सिंघाड़े के इस्तेमाल से यूरीन से जुड़ी कई समस्याओं में भी फायदा होता है। सिंघाड़े को कच्चा खाने या इस फल को जूस के रूप में लेने पर यह शरीर से हानिकारक विषैले पदार्थो को बाहर निकालता है और यूरीन संबंधी इंफेक्शन को रोकता है। इसलिए अगर आप यूरीन संबंधी इंफेक्‍शन से बचना चाहते हैं तो सिंघाड़े को अपने आहार में शामिल करें।

    यूरीन इंफेक्‍शन को रोकें
  • 7

    दस्‍त में लाभकारी

    सिंघाड़ा शरीर को ठंडक प्रदान करने का काम करता है। यह प्यास को बुझाने में भी कारगर होता है, इसलिए दस्त होने पर इस मीठे, ठंडे और ठोस फल का सेवन करना बहुत फायदेमंद रहता है। यह मीठा, ठंडा और ठोस फल दस्त में भी लाभ पहुंचाता है साथ ही यह शरीर को शीतल रखकर लार का उत्पादन बढ़ाता है।

    Image Source : Getty

    दस्‍त में लाभकारी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर