हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कुछ तथ्य

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 09, 2013
पुरुष हॉर्मोंस की कमी या शरीर में पर्याप्त मात्रा में टेस्टोस्टेरोन नामक पुरुष हार्मोन नहीं बनने के कारण भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हो सकती है। आइए इसके बारे में विस्‍तार से जानें हमारे इस स्‍लाइड शो में
  • 1

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन

    पुरूषों में इरेक्टाइल डिसफंक्‍शनिंग की समस्‍या बढ़ती जा रही है। मानसिक तनाव और जीवनशैली के चलते पुरुषों की यौन क्षमता पर असर पड़ रहा है और उनके लिंग में उत्तेजना का अभाव देखा जाता है। मधुमेह, दिल के रोग और बढ़ता ब्लड प्रेशर भी इसके होने का बड़ा कारण है।

     

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  • 2

    किसे होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन

    पुरुषों में कामेच्छा, इंद्री में पर्याप्त तनाव, स्त्री जननांग में प्रवेश और चरम सीमा सेक्स चक्र में चार चरण होते हैं। कामेच्छा की कमी और नर्वस सिस्टम की गड़बड़ी के कारण कई बार उत्तेजना में कमी आ जाती है। 65-70 साल की उम्र के बाद कई बार पुरुष हॉर्मोंस की कमी या शरीर में पर्याप्त मात्रा में टेस्टोस्टेरोन नामक पुरुष हार्मोन नहीं बनने के कारण भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हो सकती है।

    किसे होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  • 3

    ऐसे होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन

    पुरूषों के जननांगों में पर्याप्त तनाव न आने या पर्याप्त तनाव आने के बाद भी सही तरीके से सहवास न कर पाने को इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है। यह बीमारी रक्त वाहिनियों या तंत्रिकाओं अथवा दोनों की कार्यप्रणाली में गड़बड़ी आ जाने के कारण होती है।

    ऐसे होता है इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  • 4

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण

    मधुमेह और उच्च रक्तचाप या इन रोगों की दवाओं का सेवन, मानसिक तनाव, पर्यावरण प्रदूषण, स्पाइनल कॉर्ड में चोट अथवा उससे संबंधित बीमारियां, हार्मोन संबंधी एवं आनुवाशिक विकार, अधिक शराब एवं वसा युक्त भोजन के सेवन तथा धूमपान से  इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हो जाती है।

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण
  • 5

    शारीरिक और मानसिक कारण

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक और मानसिक दो कारण होते हैं। चिंता और तनाव से ज्यादा घिरे रहना मानसिक कारण होता है ऐसे लोग शारीरिक रूप से इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शिकार नहीं होते, लेकिन कुछ प्रचलित अंधविश्वासों के चक्कर में फंसकर इससे पीड़‍ित हो जाते हैं। नर्व्स में गड़बड़, पुरुष हॉर्मोंस की कमी, ज्यादा मेहनत करने वाले व्यक्ति को पौष्टिक आहार न मिल पाना आदि इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक कारण हैं।

    शारीरिक और मानसिक कारण
  • 6

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन की जुड़ी धारणा

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन को लेकर हमारी धारणा है कि यह शुक्राणुओं की कमी से होता है लेकिन यह धारणा बिल्‍कुल गलत है। शुक्राणुओं की कमी के कारण कभी भी इरेक्टाइल डिसफंक्शन नहीं होता है। यहां तक कि इरेक्टाइल डिसफंक्शन के मामले में शुक्राणुओं की जांच कराना बेकार है।

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन की जुड़ी धारणा
  • 7

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज

    इरेक्टाइल डिसफक्शन का इलाज वियाग्रा, प्रोस्थेटिक इम्प्लाट, इंजेक्शन थेरेपी, हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी और वेक्युम डिवाइसिस से हो सकता है। आजकल शॉक वेव थेरेपी से भी इसका इलाज हो रहा है। इस तकनीक में लिंग क्षेत्र में ध्वनि तरंगें डाली जाती है जिससे उस क्षेत्र में रक्त संचार बढ़ जाता है और नये रक्त उत्तकों का निर्माण होने लगता है।

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज
  • 8

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन का निदान

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन से पी‍ड़‍ित व्‍यक्ति को औषधियों के साथ कुछ और बातों का भी ध्यान रखना चाहिए जैसे सुबह-शाम किसी पार्क में घूमना चाहिए खासकर सुबह सूर्य उगने से पहले घूमना ज्यादा लाभदायक होता है। सुबह साफ पानी और हवा शरीर में पहुंचकर शक्ति और स्फूर्ति पैदा करती है। इससे खून भी साफ होता है।

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन का निदान
  • 9

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन में आहार का महत्‍व

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्‍या शारिरिक कमजोरी के कारण होती है इसलिए इससे पी‍ड़ि‍त पुरूष को अपने आहार पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। आहार में पौष्टिक खाद्य-पदार्थों घी, दूध, मक्खन के साथ सलाद भी जरूर खाना चाहिए। फल और फलों के रस के सेवन से शारीरिक क्षमता बढ़ती है।

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन में आहार का महत्‍व
    Tags:
Load More
X