हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सकारात्‍मक रहने के लिए रोज करें ये वादे

By:Nachiketa Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Aug 30, 2014
अच्‍छे दिन की शुरूआत खुद नहीं होती, इसके लिए आपको ही प्रयास करना होता है। आपके द्वारा किये गये काम और आपके विचार ही हर दिन हो खास बना सकते हैं, तो दिन को सकारात्‍मक बनाने के लिए कुछ प्रतिज्ञा लीजिए।
  • 1

    हर दिन हो खास

    अच्‍छे दिन की शुरूआत अपने आप नहीं हो जाती है, बल्कि इसके लिए आपको ही प्रयास करना होता है। आपके द्वारा किये गये काम और आपके विचार ही हर दिन हो खास बना सकते हैं। अगर आपको यह लगता है कि आपकी दिनचर्या पर सबसे अधिक प्रभाव आपके विचारों का पड़ता है तो दिन को सकारात्‍मक बनाने के लिए हर रोज आप अपने आप से कुछ वादें कर सकते हैं।

    image source - getty images

    हर दिन हो खास
  • 2

    मैं ही निर्माता हूं

    खुद को अपने जीवन का निर्माणकर्ता मानिये, आप ही अपने जीवन के वास्‍तूकार हैं, तो कोशिश कीजिये कि इसे खुशहाल बनाने की। इसके लिए आप एक अच्‍छी नींव तैयार कीजिये और उसका दृढ़ता के साथ पालन कीजिए।

    image source - getty images

    मैं ही निर्माता हूं
  • 3

    ऊर्जा लायें

    अपने दिन को ऊर्जावान बनाने की कोशिश कीजिए। 'आज मैं अपने दिन को ऊर्जा से भर दूंगा, आजका दिन आलस से नहीं खुशियों से भरा होगा' इस तरह के वादे कीजिए।

    image source - getty images

    ऊर्जा लायें
  • 4

    स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर

    अगर आपने अपने शरीर को कमजोर और एनर्जीरहित समझ लिया तो आप सकारात्‍मक महसूस नहीं करेंगे। स्‍वस्‍थ शरीर के लिए यह वादा करें कि - 'आज मेरा शरीर स्‍वस्‍थ है, मेरा मन शानदार है और मेरी आत्‍मा शांत है।'

    image source - getty images

    स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर
  • 5

    नकारात्‍मक विचार

    अगर व्‍यक्ति को मन और प्रयास के अनुरूप सफलता न मिले तो उसके मन में नरात्‍मक विचार आते हैं। इन नकारात्‍मक विचारों को दूर करने के लिए यह वादा करें - 'नकारात्‍मक विचारों और नकारात्‍मक कार्यकलापों से मैं ही सर्वोपरि हूं, इनका मुझपर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और मैं फिर से प्रयास करूंगा।'

    image source - getty images

    नकारात्‍मक विचार
  • 6

    प्रतिभावन हैं आप

    हर व्‍यक्ति के अंदर प्रतिभा कूट-कूटकर भरी होती है, जरूरत होती है अपनी प्रतिभा पहचानने की और उसे दिखाने की। आज आप ये वादा कीजिए कि - 'मैं बहुत प्रतिभावान हूं, पहले सफलता नहीं मिली तो क्‍या हुआ, आज वक्‍त है जब मैं अपनी प्रतिभा का लोहा लोगों से मनवाउंगा और आज कुछ अलग करके दिखाउंगा।'

    image source - getty images

    प्रतिभावन हैं आप
  • 7

    माफ भी करें

    वर्तमान और भविष्‍य में जीने की कोशिश करें, क्‍योंकि जो बीत गया वो आने वाला नहीं है। तो आज यह भी वादा करें - 'जिन्‍होंने मुझे दुख पहुंचाया है, जिन्‍होंने मेरा नुकसान किया है, जिन्‍होंने मुझे धोखा दिया है उन सबको मैं माफ करता हूं, और आगे मैं उन्‍हें किसी तरह का नुकसान भी नहीं पहुंचाउंगा।'

    image source - getty images

    माफ भी करें
  • 8

    क्रोध नहीं करुंगा

    क्रोध और अहंकार व्‍यक्ति का सबसे बड़ा दुश्‍मन होता है, अगर आपने क्रोध पर काबू पा लिया तो समझिये कि बहुत बड़ी जंग जीत ली है। क्रोध को कम करने के लिए प्रतिज्ञा कीजिए कि - 'मैं नदीं की तरह निर्मल बनुंगा जिसमें करुणा है और जो सरल है, खुदपर क्रोध को कभी हावी नहीं होने दूंगा।'

    image source - getty images

    क्रोध नहीं करुंगा
  • 9

    स्‍वयं बनें मार्गदर्शक

    लोग आपको सलाह दे सकते हैं, लेकिन आपके द्वारा लिये गये निर्णय ही आपको सफल बनाते हैं, तो खुद ही अपना मार्गदर्शक बनें। यह प्रतिज्ञा लीजिए कि - 'मैं ही अपना मार्गदर्शक हूं और मेरे द्वारा लिया गया हर निर्णय मेरे द्वारा ही निर्देशित होगा।'

    image source - getty images

    स्‍वयं बनें मार्गदर्शक
  • 10

    संबंधों को लेकर

    आपसी संबंध तभी बेहतर हो सकते हैं जब आपका रवैया इसके प्रति सकारात्‍मक हो और आप सामने वाले की भावनाओं को अच्‍छे से समझते हों, चाहे वह आपका पार्टनर हो या फिर आपका साथी। आज प्रतिज्ञा कीजिए कि - 'मेरे संबंध सभी के साथ सकारात्‍मक होंगे, मेरे द्वारा इन संबंधों में कोई खटास नहीं आयेगी और मैं कभी भी अपने संबंधों को निभाने से पीछे नहीं हटूंगा।'

    image source - getty images

    संबंधों को लेकर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर