हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

आईयूडी के बारे में जानें ये 7 बातें

By:Shabnam Khan , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 31, 2014
आईयूडी गर्भनिरोध का एक कारगार उपाय है। लेकिन महिलाओं को ये लगवाने से पहले इसके बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए। सही जानकारी के साथ ही इसका फायदा उठाया जा सकता है।
  • 1

    आईयूडी है असरदार गर्भनिरोधक

    गर्भ ठहरने से रोकने के लिए कई उपाय अपनाये जाते हैं। इंट्रा युटेराइन डिवाइस (आईयूडी) भी एक उपाय है, जो लंबे समय तक कारगर रहता है। इंट्रा यूटेराइन डिवाइस अंग्रेज़ी के अक्षर T जैसा होता है, जो कॉपर या प्लास्टिक का बना होता है। इसे गर्भाशय के अंदर डाला जाता है और ये शुक्राणु को महिलाओं के अंडे तक पहुंचने से रोकता है। ये कुछ महीनों से लेकर 10 साल तक चलता है। यह गर्भधारण रोकने में 98 से 99 फीसदी कारगर है। गर्भाशय में स्थापित करने के साथ ही ये काम करना शुरू कर देता है। वो महिलाएं जो इंट्रा युटेराइन डिवाइस लगवाना चाहती हैं, उन्हें इसके बारे में ये 7 बातें जरूर मालूम होनी चाहिए।

    Image Source - Getty Image

    आईयूडी है असरदार गर्भनिरोधक
  • 2

    आज का आईयूडी पहले से अलग है

    अक्सर आईयूडी की अच्छा रखने वाली महिलाओं को उनकी मां या घर की बड़ी महिलाएं इसके प्रति डरा डेती हैं। दरअसल, उन्हें 70 के दशक में बाजार में मिलने वाली आईयूडी का अनुभव होता है। वो काफी खराब माना जाता था। लेकिन आज का आईयूडी काफी सुरक्षित है। आज बड़ी संख्या में डॉक्टर इसे लगाने की सलाह देते हैं।

    Image Source - Getty Image

    आज का आईयूडी पहले से अलग है
  • 3

    नॉन-हार्मोनल विकल्प

    क्योंकि आईयूडी लंबे वक्त तक काम करने वाली आधुनिक विधि है इसलिए बहुत सी महिलाओं को लगता है कि आईयूडी हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्शन का ही दूसरा रूप है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है। लेकिन ऐसे आईयूडी भी मौजूद हैं जो हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्शन हैं जैसे कि कॉपर पैरागार्ड आईयूडी। जिन महिलाओं को हार्मोनल कॉन्ट्रासेप्शन के इस्तेमाल में समस्या हो तो वह इस नॉन-हार्मोनल विकल्प के बारे में सोच सकती हैं।

    Image Source - Getty Image

    नॉन-हार्मोनल विकल्प
  • 4

    आईयूडी से इन्फेक्शन नहीं

    आईयूडी के बारे में एक मिथक सबसे अधिक महिलाओं में होता है कि इसकी वजह से इन्फेक्शन होता है या फिर इन्फेक्शन बढ़ता है। ये बात सच नहीं है। हालांकि ये सही है कि जिन महिलाओं को पेल्विक इन्फ्लेमेटरी बीमारी होती है उन्हें आईयूडी लगवाने के लिए थोड़ा इंतजार कर लेना चाहिए। अगर किसी महिला ने पहले से आईयूडी लगवाया हुआ है और उन्हें क्लैमाइडिया हो जाता है तो उसे निकलवाना भी जरूरी नहीं होता।

    Image Source - Getty Image

    आईयूडी से इन्फेक्शन नहीं
  • 5

    आपकी त्वचा को इससे कोई फायदा नहीं

    कई महिलाओं को बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने का ये फायदा हो जाता है कि उनकी मुंहासे की समस्या नियंत्रित रहती है। लेकिन आईयूडी इस्तेमाल करने वाली महिलाओं को ऐसा कोई फायदा नहीं मिलता। जिन बर्थ कंट्रोल पिल्स में ऐस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन होता है, उनसे ही एक्ने या मुंहासे की समस्या दूर होती है। कॉपर आईयूडी में हार्मोन्स नहीं होते इसलिए मुंहासे पर इसका कोई असर नहीं पड़ता।

    Image Source - Getty Image

    आपकी त्वचा को इससे कोई फायदा नहीं
  • 6

    क्रैंपिंग सामान्य है

    आईयूडी लगाने के बाद 24 से 48 घंटों तक क्रैंप होना सामान्य बात है। लेकिन कुछ महिलाओं को ये समस्या लंबे समय तक होती है। हफ्तों या फिर महीनों तक दर्द होता है क्योंकि उनके शरीर को व्यवस्थित होने में समय लगता है। कॉपर आईयूडी से बहुत ज्यादा क्रैंप होने का खतरा होता है। वहीं, हार्मोनल आईयूडी की वजह से मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्तस्राव हो सकता है।

    Image Source - Getty Image

    क्रैंपिंग सामान्य है
  • 7

    मासिक धर्म रुक सकता है

    कई महीनों तक इस्तेमाल करने के बाद आईयूडी से मासिक धर्म में अधिक रक्तस्राव में नियंत्रण होता है। लेकिन कुछ महिलाओं के साथ ऐसा भी होता है कि इससे मासिक धर्म रुक जाता है। रिसर्च बताती हैं कि 20 प्रतिशत महिलाओं का मासिक धर्म इस्तेमाल के पहले साल में रुक जाता है, 50 प्रतिशत महिलाओं का दूसरे और 80 प्रतिशत महिलाओं का तीसरे साल में। कुछ महिलाओं को इसमें कोई दिक्कत नहीं होती लेकिन कुछ महिलाएं चाहती हैं कि उन्हें हर महीने मासिक धर्म हो।

    Image Source - Getty Image

    मासिक धर्म रुक सकता है
  • 8

    साइज से पड़ता है असर

    हालांकि ये जोखिम कम ही है। केवल 3 प्रतिशत मामलों में ऐसा होता है कि आईयूडी अपनी जगह से बाहर निकल आता है। ऐसा इस्तेमाल के शुरुआती महीनों में हो जाता है, लेकिन कभी-कभी बाद में भी हो सकता है। ऐसा अमूमन मासिक धर्म के दौरान होता है। दुर्भाग्यवश ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे मालूम किया जा सकते है कि किस महिला का आईयूडी बाहर निकल जाएगा। इस बारे में अपने डॉक्टर से बात करना सबसे अच्छा रहता है।

    Image Source - Getty Image

    साइज से पड़ता है असर
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर