हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन 4 आयुर्वेदिक सुपरफूड का रोज करें सेवन

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 08, 2016
एक अच्छा आयुर्वेदिक आहार व्‍यक्ति को पोषण देता है और बीमारियों से भी दूर रखता है। अगर भी यह सब चाहते हैं तो टेम्परेरी क्रश डाइट को छोड़कर यहां दिये आयुर्वेदिक सुपरफूड को अपनी डाइट में शामिल करें।
  • 1

    आयुर्वे‍दिक सुपरफूड

    आयुर्वेद का लाभ उठाने की बात आने पर, अपने खाने पर नजर रखना, शुरूआत करने का सबसे अच्‍छा तरीका माना जाता है। आयुर्वेद भोजन को स्वास्थ्य का प्रमुख तत्व माना जाता है। एक अच्छा आयुर्वेदिक आहार व्‍यक्ति को पोषण देता है और बीमारियों से भी दूर रखता है। सही आहार शुद्धता को बढ़ावा देने, शरीर को डिटॉक्‍स करने और साथ ही फिर से जीवंत करने के साथ शारीरिक, मानसिक और पाचन संबंधी शक्ति के लिए समग्र इम्‍यूनिटी को बढ़ाने देने में मदद करता है। अगर आप यह सब चाहते हैं तो टेम्परेरी क्रश डाइट को छोड़कर यहां दिये आयुर्वेदिक सुपरफूड को अपनी डाइट में शामिल करें। इनकी सबसे अच्‍छी बात यह है कि यह आपको आसानी से उपलब्‍ध भी हो जाती है।

    आयुर्वे‍दिक सुपरफूड
  • 2

    सुपरफूड हल्दी

    वर्तमान में अंर्तराष्‍ट्रीय सुपरफूड के रूप में जानी जाने वाली हल्‍दी अपने एंटी-वायरल, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुणों के कारण ऑल राउंडर मानी जाती है। यह त्‍वचा की समस्‍याओं, लीवर को डिटॉक्‍स करने के साथ-साथ ब्‍लड शुगर को कम कर मधुमेह रोगियों के लिए उत्‍कृष्‍ट मानी जाती है। इसके अलावा इसमें पाया जाने वाले तत्व करक्यूमिन कैंसर रोग से लड़ने के लिए भी जाना जाता हैं।

    सुपरफूड हल्दी
  • 3

    एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों वाली अदरक

    मसाला चाय पीने का एक और कारण यानी अदरक अपने एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण जानी जाती है। यह भूख को उत्‍तेजित करने और पेट दर्द, गैस और सूजन को कम करने में मदद करती है। आयुर्वेद में, ताजी अदरक मतली विशेष रूप से गर्भावस्‍था के दौरान होने वाली उल्‍टी के लिए प्रयोग की जाती है। सूखी अदरक की जड़ जोड़ों के दर्द को प्रभावी रूप से दूर करती है। दर्द के लिए अदरक की जड़ को बादाम तेल में मिलाकर दर्दनाक हिस्‍से पर लगायें। इसके अलावा यह माइग्रेन और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को दूर करने में मदद करता है।

    एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों वाली अदरक
  • 4

    अश्वगंधा की जड़ (भारतीय जिनसेंग)

    हर भारतीय के बचपन का एक अभिन्‍न अंग डाबर च्‍यवनप्राश में इस सुपरफूड के अलावा 39 अन्‍य आवश्‍यक जड़ी-बूटी भी शामिल होती है।
    आयुर्वेद में लो‍कप्रिय अश्वगंधा का इस्‍तेमाल तनाव, चिंता और थकान से लड़ने के लिए किया जाता है। इसके अलावा दर्दनाक सूजन और रूमेटाइड अर्थराइटिस से राहत पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया है- पारंपरिक रूप से इसकी पत्तियों दर्दनाक हिस्‍से पर लगाई जाती है- अश्‍वगंधा पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

    अश्वगंधा की जड़ (भारतीय जिनसेंग)
  • 5

    शक्तिशाली एंटी-ऑक्‍सीडेंट वाला आंवला

    आंवले को भारतीय करौदा के नाम से भी जाना जाता है। शक्तिशाली एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुणों से भरपूर होने के कारण इस फल ने स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल में अपनी जगह बना ली है। यह पाचन टॉनिक के रूप में काम करता है और साथ ही पेट की सफाई और शरीर से अतिरिक्‍त गर्मी हटाता है। प्राकृतिक विटामिन सी और कैल्शियम का समृद्ध स्रोत आंवला अपने एंटी-एजिंग गुणों के कारण भी जाना जाता है। ड्रैंडफ को दूर करने के लिए आंवला को सीधे अपने बालों में उपयोग किया जा सकता है।
    Image Source : Getty

    शक्तिशाली एंटी-ऑक्‍सीडेंट वाला आंवला
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर