हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इरेक्टाइल डिसफंक्शन से जुड़े मिथ और तथ्य

By:Pradeep Saxena, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Aug 11, 2014
इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन पर पर्याप्त स्पष्टता और जागरूकता की कमी के कारण इससे बारे में कई प्रकार की अफवाहें और मिथ सुनने को मिलती है।
  • 1

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्‍तंभन दोष तब होता है, जब पुरुष को लिंग मे उत्‍तेजना बनाये रखने में परेशानी महसूस होती है। यह समस्‍या बड़ी उम्र के पुरुषों में आम होती है, लेकिन युवा भी इस समस्‍या से अछूते नहीं है। इसका कारण आमतौर पर प्रदर्शन की चिंता, रिश्‍ते के मुद्दे, तनाव, अवसाद और चिकित्‍सा जटिलताएं होती हैं।  image courtesy : getty images

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  • 2

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन से जुड़े मिथ और तथ्य

    कई लोग इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या, इसके कारणों और उपचार से अनभिज्ञ होते हैं। एमबीबीएस एमएस (जनरल सुर) मच (यूरो) पीजीआई सीएचडी के डॉक्‍टर एम जी देसाई के अनुसार, "इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन पर पर्याप्त स्पष्टता और जागरूकता की कमी के कारण इससे बारे में कई अफवाहें और मिथ सुनने को मिलते है।" आइए इससे जुड़े विभिन्‍न मिथ और तथ्‍यों के बारे में जानकारी लेते हैं। image courtesy : getty images

    इरेक्टाइल डिसफंक्शन से जुड़े मिथ और तथ्य
  • 3

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक सामान्य लक्षण नहीं है।

    तथ्य: इरेक्टाइल डिसफंक्शन, सामान्यतः नपुंसकता के रूप में जाना जाने वाला पुरुषों के बीच में एक आम लक्षण है। आमतौर पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या के कारण होता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन से जुड़े चिकित्सा विकार लिंग के लिए रक्त की आपूर्ति में कमी और रक्त वाहिकाओं पर प्रभाव से जोड़ा जा सकता है। तीन में से दो लोगों को इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्‍या उच्‍च रक्तचाप के कारण जबकि लगभग आधे से अधिक पुरुषों को 60 की उम्र में डायबिटीज के कारण यह समस्‍या होती है। image courtesy : getty images

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक सामान्य लक्षण नहीं है।
  • 4

    मिथ: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज नहीं किया जा सकता।

    तथ्य: इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज लिए कई प्रकार के तरीके उपलब्‍ध हैं। इससे बचाव के लिए मौखिक रूप से ली जाने वाली सरल और प्रभावी दवाएं उपलब्ध हैं। सही दवा के सेवन इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज में मदद करता हैं। ईडी के इलाज के लिए अन्य तरीकों में दवाओं के इंजेक्शन शामिल है, जो मूत्रमार्ग या लिंग के ऊतकों में रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करने, वैक्यूम उपकरण से वैक्‍यूम पंप द्वारा लिंग को रक्त देने और पीनाइल कृत्रिम प्रत्यारोपण शमिल है। image courtesy : getty images

    मिथ: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज नहीं किया जा सकता।
  • 5

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन उम्र बढ़ने का सामान्य हिस्सा है।

    तथ्य : इरेक्टाइल डिसफंक्शन उम्र बढ़ने का परिणाम नहीं है। लेकिन उम्र के साथ बीमारियां और जोखिम कारक जैसे हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, मधुमेह, असामान्य लिपिड स्तर, किडनी की बीमारी, मस्तिष्क संबंधी रोग, अवसाद, धूम्रपान और अत्यधिक शराब का सेवन सहित कई कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन के साथ जुड़े होते हैं। इसके अलावा सर्जरी, जननांगों पर आघात, हार्मोनल गड़बड़ी और मनोवैज्ञानिक कारकों को इससे जोड़ा जा हो सकता है। image courtesy : getty images

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन उम्र बढ़ने का सामान्य हिस्सा है।
  • 6

    मिथ : पुरुष अपनी चाहत से इरेक्शन प्राप्त कर सकता हैं।

    तथ्य: उम्र के साथ, जनन अंग में परिवर्तन के कारण इरेक्‍शन के निर्माण के लिए अधिक से अधिक उत्तेजना की आवश्यकता होती है। स्खलन की तीव्रता, अवधि, और आवृत्ति भी कम हो जाती हैं, और इरेक्शन कम मजबूत हो सकता है। image courtesy : getty images

    मिथ : पुरुष अपनी चाहत से इरेक्शन प्राप्त कर सकता हैं।
  • 7

    मिथ: अधिकांश पुरुषों को ईडी का अनुभव कभी नहीं होता

    तथ्य: अध्ययन के अनुसार, 40 और 70 की उम्र के बीच लगभग 52 प्रतिशत पुरुषों को इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अनुभव होता है। image courtesy : getty images

    मिथ: अधिकांश पुरुषों को ईडी का अनुभव कभी नहीं होता
  • 8

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन अक्सर मनोवैज्ञानिक होता है।

    तथ्य: इरेक्टाइल डिसफंक्शन का 10 प्रतिशत यानी एक छोटा सा रूप ही मनोवैज्ञानिक रूप पर आधरित होता है। शेष मामलों में चिकित्सा शर्तें जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, आदि या शल्य समस्याओं जैसे प्रोस्टेट कैंसर के लिए ली गई सर्जरी आदि कारक जिम्‍मेदार होते हैं। युवा रोगी, के मनोवैज्ञानिक आधार पर ईडी से पीड़‍ित होने की संभावना अधिक होती है। बड़ी उम्र के पुरुषों में ईडी के लिए मधुमेह, उच्च रक्तचाप, और दवा का उपयोग अधिकांश मामलों के लिए जिम्‍मेदार होते है। image courtesy : getty images

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन अक्सर मनोवैज्ञानिक होता है।
  • 9

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक व्यक्तिगत समस्या है।

    तथ्य: इरेक्टाइल डिसफंक्शन अक्सर चिंता, अवसाद, आत्म सम्मान की हानि, और जीवन की कम गुणवत्ता की ओर जाता है।  यह मानसिक तनाव का कारण बनता है, और परिवार और सहयोगियों के साथ संबंधित संबंधों को प्रभावित करता हैं। और पार्टनर के साथ तनाव को जन्म देता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन को एक समस्‍या के रूप में देखा जाता है। यह पुरुष की व्यक्तिगत समस्या नहीं, बल्कि दोनों को समान रूप से प्रभावित करती है। image courtesy : getty images

    मिथ : इरेक्टाइल डिसफंक्शन एक व्यक्तिगत समस्या है।
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर