हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

8 वजहों से न करायें ब्रेस्‍ट इम्प्लांट

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 10, 2015
वैसे तो ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट महिलाओं को ब्रेस्ट से जुड़ी समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करता है, पर इसके कई नुकसान भी हैं। इसलिए हमेशा ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने के लिए प्राकृतिक उपायों को अपनाने की सिफारिश की जाती है। आइए जानें कि आखिर ब्रेस्‍ट इम्प्‍लांट क्‍यों नहीं करवाना चाहिए।
  • 1

    महिला की खूबसूरती बढ़ाती है ब्रेस्‍ट

    ब्रेस्‍ट किसी भी महिला के सबसे खूबसूरत अंगों में से एक है और इसकी उचित देखभाल की जानी चाहिए। ब्रेस्‍ट महिलाओं के शरीर के हिस्‍से से जुड़ा एक प्राकृतिक उपहार है और बड़े साइज की ब्रेस्‍ट दूसरों को, खासतौर पर पुरुषों को प्रभावित करने का एक बहुत अच्‍छा तरीका है। लेकिन कई महिलाएं ब्रेस्‍ट के साइज को लेकर पूरी तरह से उदास और असुरक्षित महसूस करती हैं।
    Image Source : Getty

    महिला की खूबसूरती बढ़ाती है ब्रेस्‍ट
  • 2

    ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट के नुकसान

    बड़ी साइज की ब्रेस्‍ट दूसरों को आकर्षित करने का एक अच्‍छा तरीका है और इसलिए कई महिलाएं अधिक सुंदर दिखने के लिए ब्रेस्‍ट एनलार्ज सर्जरी करवाती है। ब्रेस्‍ट के आकार को बढ़ाने का सबसे आम तरीका ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट है। कई महिलाएं अपनी सुंदरता को बढ़ाने और दूसरों को प्रभावित करने के लिए ब्रेस्‍ट के आकार को बढ़ाने के लिए ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट करवाती है। हालांकि ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट महिलाओं को ब्रेस्ट से जुड़ी समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करता है, पर इसके कई नुकसान भी हैं। इसलिए  हमेशा ब्रेस्ट के आकार को बढ़ाने के लिए प्राकृतिक उपायों को अपनाने की सिफारिश की जाती है। यहां ब्रेस्‍ट इम्प्‍लांट न करवाने के कारणों के बारे में बताया गया है।
    Image Source : Getty

    ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट के नुकसान
  • 3

    दूसरी सर्जरी की जरूरत

    दुनिया भर में 20 लाख से ज्यादा ऐसी महिलाएं हैं, जिन्होंने ब्रेस्ट इम्प्लांट कराया है। यह संख्या दर्शाती है कि महिलाएं अपने ब्रेस्ट को लेकर कितना सोचती हैं। नेशनल इस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिसिन के एक नए अध्‍ययन के अनुसार, पहली सर्जरी के बाद 40 प्रतिशत से अधिक महिलाओं को पहली सर्जरी में रह गई कमी को सही करवाने के लिए दूसरी सर्जरी की जरूरत होती है।
    Image Source : Getty

    दूसरी सर्जरी की जरूरत
  • 4

    ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा

    पिछले 10 वर्षों में ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट कराने का चलन बढ़ा है। लेकिन ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट डेवलपर्स द्वारा आयोजित नवीनतम शोध के अनुसार, 27 प्रतिशत महिलाओं में प्रतिकूल प्रतिक्रिया के कारण ब्रेस्‍ट इम्प्‍लांट से ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा बहुत बढ़ जाता है। यहां तक की जिन महिलाओं का ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट के बाद स्‍वस्‍थ थी, उन्‍होंने भी 3 वर्ष की अवधि में कम से कम एक या एक से अधिक जटिलताओं का अनुभव किया।
    Image Source : Getty

    ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा
  • 5

    त्‍वचा में समस्‍याएं

    जिन महिलाओं की ब्रेस्‍ट पर कम मात्रा में त्‍वचा होती है उन्‍हें इस सर्जरी के बाद काफी समय लगता है ठीक होने में। कम लोच यानी की कम इलास्‍टीसिटी वाली त्‍वचा खिंच जाती है जिससे स्‍ट्रैच मार्क साफ दिखने लगते हैं। अत्यधिक बड़े ब्रेस्‍ट का आकार त्वचा में खिंचाव पैदा करता है जिससे बहुत मुश्किल हो सकती है।
    Image Source : Getty

    त्‍वचा में समस्‍याएं
  • 6

    सलाइन का खत्‍म होना

    स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने खोज की है कि 9 प्रतिशत से अधिक महिलाओं में स्तन प्रत्यारोपण के सिर्फ तीन साल की अवधि में सलाइन खत्‍म हो जाता है। इसलिए, जो प्राकृतिक और स्वस्थ जीवन जीना चाहती हैं, उनको ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट न करवाने की सिफारिश की जाती है।
    Image Source : Getty

    सलाइन का खत्‍म होना
  • 7

    दिल और फेफड़ों को नुकसान

    कई अध्‍ययनों से स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने पाया कि ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट से चेस्‍ट की दीवार क्षतिग्रस्‍त हो जाती है। यह सच में खतरनाक स्थिति होती है, क्‍योंकि यह इम्‍प्‍लांट आपके दिल और फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकती है। कई मामलों में, ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट के कुछ वर्षों के बाद महिलाओं की मौत भी हो जाती है।
    Image Source : Getty

    दिल और फेफड़ों को नुकसान
  • 8

    अप्राकृतिक सिलिकॉन से नुकसान

    ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट 100 प्रतिशत अप्राकृतिक सिलिकॉन से बना होता है, जो प्राकृतिक मानव जीवन के लिए अच्‍छा नहीं होता। हम इंसान है और हमारा शरीर किसी भी कृत्रिम और अप्राकृतिक हिस्सा को कभी बर्दाश्त नहीं कर सकता हैं। हालांकि, कहा जाता है कि कई डॉक्टर नवीनतम स्तन प्रत्यारोपण में वेजिटेबल ऑयल की अच्छी मात्रा का इस्‍तेमाल करते है। लेकिन यह सच नहीं है। सिलिकॉन जेल के सामान में कभी-कभी कुछ फफूंद पाया जाता है। जो पूरी तरह अप्राकृतिक है और हमारे शरीर के लिए बहुत गंभीर खतरों का कारण।
    Image Source : Getty

    अप्राकृतिक सिलिकॉन से नुकसान
  • 9

    प्राकृतिक सुंदरता में कमी

    ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट का एक और नाकारात्मक प्रभाव यह है कि इससे ब्रेस्ट के आकार में असमानता आ सकती है। इस बात की काफी संभावना रहती है कि सर्जरी के बाद ब्रेस्ट के शेप और साइज में अंतर आ जाए। साथ ही अगर ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट सही ढंग से नहीं हुआ तो ब्रेस्ट की प्राकृतिक सुंदरता भी खत्म हो सकती है। ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट से ब्रेस्ट का साइज और शेप भी बढ़ जाता है, जो बेहद बनावटी लगता है। खासतौर से सलाइन आधारित ब्रेस्‍ट इम्‍प्‍लांट में तो ब्रेस्ट काफी नकली और अवास्तविक दिखने लगती है।
    Image Source : Getty

    प्राकृतिक सुंदरता में कमी
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर