हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

रिफ्लेक्सोलॉजी से होने वाले 8 फायदे

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 14, 2015
रिफ्लेक्सोलॉजी एक प्रकार की वैकल्पिक चिकित्सा है, जो कि भारत व अन्य एशियाई देशों में काफी प्रचलित है, रिफ्लेक्सोलॉजिस्ट के अनुसार यह पद्धति ज़ोन और रिफ्लेक्स क्षेत्र की प्रणाली पर आधारित है।
  • 1

    रिफ्लेक्सोलॉजी के फायदे

    रिफ्लेक्सोलॉजी एक प्रकार की वैकल्पिक चिकित्सा है, जो भारत साहित अन्य एशियाई देशों में काफी प्रचलित है। रिफ्लेक्‍सोलॉजी चिकित्‍सा विधि में बिना तेल या लोशन का उपयोग किये अंगूठे, अंगुली और हस्त तकनीक की मदद से पैर और हाथ पर दबाव दिया जाता है। रिफ्लेक्सोलॉजिस्ट के अनुसार यह पद्धति ज़ोन और रिफ्लेक्स क्षेत्र की प्रणाली पर आधारित है। तो चलिये जानते हैं रिफ्लेक्सोलॉजी से होने वाले 8 फायदों के बारे में।
    Imagse Source: © Getty Images

    रिफ्लेक्सोलॉजी के फायदे
  • 2

    कई बीमारियों में लाभदायक

    यदि आप बीपी, तनाव, कमर दर्द, गर्दन दर्द या फिर सिदर्द आदि समस्याओं से प्रभावित हैं तो तुरंत किसी अच्‍छे रिफ्लेक्‍सोलॉजी सेंटर जाकर रिफ्लेक्सोलॉजी करवा सकते हैं। रिफ्लेक्सोलॉजी की मदद से इस सभी समस्याओं पर काबू पाया जा सकता है।
    Imagse Source: © Getty Images

    कई बीमारियों में लाभदायक
  • 3

    तनाव दूर करे

    तनावग्रस्त होने पर आपकी गर्दन और कंधों में भी तनाव पैदा हो सकता है, जिसके कारण दर्द शुरू हो सकता है। ऐसे में लिया गया एक रिफ्लेक्सोलॉजी सत्र बड़ी राहत दिला सकता है, विशेष रूप से लगातार कंप्यूटर पर काम करने वाले लोगों के लिये ये बेहद फायदेमंद होता है।
    Imagse Source: © Getty Images

    तनाव दूर करे
  • 4

    रक्त संचार बेहतर करे

    रिफ्लेक्सोलॉजी से खून का दौरा अर्थात रक्त संचार सुचारू होने के साथ-साथ हार्मोनल फ्लूड का भी संचालन बेहतर प्रकार से होता है, जिससे शरीर अच्छी तरह से काम कर पाता है। रिफ्लेक्सोलॉजी से प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार भी होता है।
    Imagse Source: © Getty Images

    रक्त संचार बेहतर करे
  • 5

    पीठ और गर्दन में दर्द के लिए

    जब आप तनावग्रस्त होते हैं तो इससे गर्दन और कंधों में भी तनाव महसूस करते हैं और उनमें दर्द शुरू हो सकता है। ऐसे में एक रिफ्लेक्सोलॉजी सत्र लेने पर बड़ी राहत मिल सकती है।  
    Imagse Source: © Getty Images

    पीठ और गर्दन में दर्द के लिए
  • 6

    साइटिका नर्व की एक्सरसाइज

    साइटिका नर्व का प्रतिबिंब ठीक टखने की हड्डी के पीछे होता है और यह नर्व लगभग 4 से 10 सेमी. तक एक सीधी रेखा में ऊपर की ओर जाती है। यह नर्व कुछ कारणों से कमर व पैर के नीचे के भाग के दर्द का कारण बन जाती है। और जब रिफ्लेक्सोलॉजी के तरह इस नर्व पर नीचे से ऊपर की ओर मसाज की जाती है तो दर्द से आराम मिलता है।  
    Imagse Source: © Getty Images

    साइटिका नर्व की एक्सरसाइज
  • 7

    एंडोर्फिन हार्मोन को रिलीज़ करे

    रिफ्लेक्सोलॉजी के अंतर्गत पैर के एक विशेष भाग पर रही तरीके से जोर देकर एंडोर्फिन नामक हार्मोन को रिलीज़ करवाया जा सकता है। जिससे नर्वस सिस्‍टम बैलेंस होता है और तनाव और दर्द आदि कम हो जाते हैं।
    Imagse Source: © Getty Images

    एंडोर्फिन हार्मोन को रिलीज़ करे
  • 8

    चहरे की रिफ्लेक्सोलॉजी

    रिफ्लेक्सोलॉजी पद्धति की मदद से शरीर के किसी भी हिस्से के दर्द को ठीक किया जा सकता है। फेशियल रिफ्लेक्सोलॉजी एक ऐसा उपचार है, जो क्रमशः तीन प्राचीन पद्धतियों चायनीज मेरीडियन, चायनिज एनर्जी मेडिसीन और एक्यूपंक्चर पाईंट्स, वियतनामी और एंडीयन ट्राइब्स बॉडी मैप से प्रेरित है।
    Imagse Source: © Getty Images

    चहरे की रिफ्लेक्सोलॉजी
  • 9

    शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को निकाले

    रिफ्लेक्सोलॉजी के दौरान दी जाने वाली विशेष मसाज से शरीर की अशुद्धी और गंदगी भी दूर होती है। साथ ही यह अनिद्रा दूक करने के लिए बेहद प्रभावी उपचार भी है। यह आपको पूरी तरह से तंदरूस्‍त रखता है।
    Imagse Source: © Getty Images

    शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को निकाले
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर