हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

रोजेसिया के लिए प्राकृतिक उपचार

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jul 16, 2015
रोजेसिया मुंहासों का बिगड़ा रूप है जो मध्यम आयु की गोरी त्वचा वाली महिलाओं को ज्यादा होती है। कुछ सरल घरेलू उपचार इसके लक्षणों को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आइए ऐसे ही कुछ उपायो के बारे मे जानते है।
  • 1

    रोजेसिया के लिए घरेलू उपाय

    चेहरे पर लाली भला किसे पसंद नही होते, ये खूबसूरती का प्रतिक मानी जाती है। लेकिन चेहरे की यह लाली अगर रोजेसिया की वजह से हो तो काफी कष्ट दे सकती है। रोजेसिया मुंहासों का बिगड़ा रूप है जो मध्यम आयु की गोरी त्वचा वाली महिलाओं को ज्यादा होती है। महिलाओं में यह हार्मोन के असंतुलन, प्रेग्नेंसी, गर्भनिरोधक गोलियों के गलत इस्तेमाल से होता है। आमतौर पर रोजेसिया चेहरे, विशेष रूप से माथे, गाल, नाक, और ठोड़ी को प्रभावित करता है। यहां लाल रंग की छोटी-बड़ी फुंसियों हो जाती हैं। इन फुंसियों में मवाद भरा होता है। ये त्वचा के नीचे रक्त वाहिकाओं की सूजन के कारण होता है। इसके अलावा सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने, बहुत ज्यादा मसालेदार खाना खाने, अत्यधिक शराब पीने, तनाव, तीव्र व्यायाम, साइनस संक्रमण और अत्यधिक तापमान मे रहने से ये समस्या बढ़ जाती है। कुछ सरल घरेलू उपचार इसके लक्षणों को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आइए ऐसे ही कुछ उपायो के बारे मे जानते है।
    Image Soure : freeproductreviews.org

    रोजेसिया के लिए घरेलू उपाय
  • 2

    कैमोमाइल सेक

    अपने एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणो के कारण कैमोमाइल रोजेसिया का एक शानदार उपाय है। ये रोजेसिया के कारण होने वाली सूजन और लालिमा को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, ये त्वचा को सुखदायक प्रभाव देता है। समस्या को दूर करने के लिए तीन कप उबलते पानी मे 3 से 6 कैमोमाइल चाय बैग डाले। फिर टी बैग निकालकर इसे ठंडा होने के लिए फ्रीज मे रख दे। इस घोल मे कॉटन बाल भिगोकर प्रभावित त्वचा पर 15 मिनट के लिए लगाए। इस उपाय को दिन मे दो बार करे।
    Image Soure : Getty

    कैमोमाइल सेक
  • 3

    ग्रीन टी

    ग्रीन टी मे मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-आक्सिडेंट और फिटो प्रोटेक्टिव गुणो के कारण ये रोजेसिया के इलाज मे एक प्रभावी तरीके से काम करता है। प्रभवित त्वचा पर इसे लगाने से राहत मिलती है। ग्रीन टी के दो कप को आधे घंटे के लिए फ्रिज में रख दे। ठंडा होने पर इसे प्रभावित त्वचा कुछ मिनट के लिए लगाए। यह सुखदायक उपचार लाली और सूजन में कमी आती है। प्रभावी परिणाम पाने के लिए इस उपाय को महीने के लिए दिन मे दो बार करें। इसके अलावा दिन मे दो बारे इसे पीने से ये आपकी त्वचा को हाइड्रेटेड रखने में मदद मिलती है।
    Image Soure : Getty

    ग्रीन टी
  • 4

    ओटमील

    ओटमील के एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-आक्सिडेंट गुणो के कारण ये रोजेसिया मे होने वाली लाली, खुजली और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। समस्या को दूर करने के लिए एक बड़े कटोरे में पीसा हुआ ओटमील और एक-चौथाई कप पानी लेकर इसे अच्छे से मिक्स कर ले। इस पेस्ट को प्रभावित त्वचा पर लगाए। लकीन इसे हल्के हाथो से लगाना चाहिए, त्वचा पर रगड़ना नही चाहिए। 20 मिनट तक इसे ऐसा ही लगा रहने के बाद धो दे।
    Image Soure : Getty

    ओटमील
  • 5

    मुलेठी

    त्वचा विज्ञान के अमेरिकन अकादमी मे 2005 में हुए एक अध्ययन के अनुसार, मुलेठी रोजेसिया के सबसे सामान्य लक्षण यानि लालिमा को कम करने में मदद करता है। मुलेठी के  शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण स्वस्थ त्वचा कोशिकाओं को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। साथ ही, यह त्वचा की जलन को भी कम करता है। मुलेठी पाउडर  का एक बड़ा चम्मच, एक चम्मच शहद और aloe vera जैल को मिलाकर पेस्ट बना ले। इस पेस्ट को प्रभावित त्वचा पर 15 मिनट के लिए लगा ले। फिर गुनगुने पानी से धो लें। दिन में दो बार चार से आठ सप्ताह के लिए इस उपाय को करें।
    Image Soure : Getty

    मुलेठी
  • 6

    लैवेंडर ऑयल

    लैवेंडर ऑयल मे एंटीसेप्टिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, इसलिए यह रोजेसिया सहित कई त्वचा की समस्याओं का इलाज करने के लिए व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाता है। शुद्ध लैवेंडर तेल (चिकित्सकीय ग्रेड) को लेकर धीरे से अपनी त्वचा के प्रभावित हिस्से पर मालिश करे। इससे सूजन को कम करने और चेहरे की रक्त वाहिकाओं को हटना मे मदद मिलेगी। कुछ हफ्तों के लिए इस उपाय को दिन में दो बार दोहराये।
     Image Soure : Getty

    लैवेंडर ऑयल
  • 7

    शहद

    शहद मे प्राकृतिक रोगाणुरोधी के साथ ही शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते है। शहद मुँहासे और रोजेसिया से होने वाले के निशान को रोकने और त्वचा को बिना ओइली किए नमी रखने मे मदद करता है। धीरे अपने चेहरे पर कच्चे शहद के एक या दो बड़े चम्मच से चेहरे पर धीरे से मालिश करे। लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर गुनगुने पानी से कुल्ला चेहरे को धो ले।
    Image Soure : Getty

    शहद
  • 8

    सेब साइडर सिरका

    सेब साइडर सिरका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर की पीएच स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। और स्वस्थ त्वचा के लिए जरूरी होते है। जो इसके अलावा, प्राकृतिक कीटाणुनाशक के रूप में काम करता है और इस तरह से ये त्वचा से खमीर और बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। एक चम्मच सेब साइडर सिरके को एक कप पानी मे मिलाकर उसमे शहद का एक बड़ा चम्मच मिलाये। इस मिश्रण को दिन मे दो बार सुबह और रात को ले। छह से आठ सप्ताह के लिए इस उपाय को करे।
    Image Soure : Getty

    सेब साइडर सिरका
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर