हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

असरदार स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर होता है लोबान तेल

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Apr 10, 2015
लोबान का तेल बहुत ही फायदेमंद है, सामान्‍यतया अगरबत्ती, धूप और हवन सामग्री में लोबान का प्रयोग किया जाता है, सुगंध और कॉस्‍मेटिक के रूप में इस्‍तेमाल करने के अलावा इसके कई औषधीय गुण भी हैं।
  • 1

    स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर है लोबान तेल

    लोबान तेल एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्‍टीरियल, एस्ट्रिंजेंट, पाचन, मूत्रवर्धक, वातहर आदि कई प्रकार के गुणों से भरपूर होता है। हालांकि लोबान तेल बहुत लाभकारी होता है लेकिन बहुत की कम लोग इसके लाभ के बारे में जानते हैं। इसका इस्‍तेमाल भारत में काफी कम किया जाता है लेकिन पुराने जमाने में इजिप्‍ट, ग्रीक, रोमन और अन्‍य देशों में इसका बीमारियों से बचाव के लिए इसक प्रयोग किया जाता था। अगरबत्ती, धूप और हवन सामग्री में लोबान का प्रयोग किया जाता है। सुगंध और कॉस्‍मेटिक के रूप में इस्‍तेमाल के अलावा इसके कई औषधीय गुण भी हैं।
    Image Courtesy : Getty Images

    स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर है लोबान तेल
  • 2

    तनाव दूर भगाये

    अपनी गर्दन के पीछे और पीठ पर लोबान तेल लगाने से तनाव से जल्‍द राहत पाने में मदद मिलती हैं। या इस ऑयल की कुछ बूंदें अपने हाथों में लेकर इसे मल लें और फिर गहरी सांस लेकर इसे सूंघे। इस तेल की प्रभावशीलता देखकर चकित हो जायेगें।
    Image Courtesy : Getty Images

    तनाव दूर भगाये
  • 3

    मेडिटेशन

    लोबन तेल ध्‍यान के सत्र को अच्‍छी तरह से करने में मददगार होता है। इसके लिए आप भौंहों के बीच में लोबान तेल को लगाकर ध्‍यान करें। आप इसके प्रभाव को बढ़ाने के लिए अन्‍य आवश्‍यक तेलों को भी मिला सकते हैं।
    Image Courtesy : Getty Images

    मेडिटेशन
  • 4

    प्राकृतिक मरहम

    लोबान तेल कुछ अद्भुत प्रकार के चिकित्सा गुण भी प्रदान करता है। घाव के आसपास इस तेल को लगाने घाव जल्दी भरता है। लेकिन इस बात का ध्‍यान रहें कि घाव को पहले अच्‍छे से धोने के बाद ही तेल को लगायें।
    Image Courtesy : Getty Images

    प्राकृतिक मरहम
  • 5

    गठिया और रूमेटाइड अर्थराइटिस

    कार्डिफ यूनिवसिर्टी में हुए एक ताजा शोध के अनुसार, लोबान तेल भड़काऊ अणुओं का उत्पादन बाधित करने की कुंजी है, इससे कॉटिर्लेंज टिश्‍यु के टूटने को रोकने के द्वारा अर्थराइटिस के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है। भारतीय लोबान रुमेटी गठिया के रोगियों में सूजन और दर्द को कम करने में भी बहुत प्रभावी पाया गया है।
    Image Courtesy : Getty Images

    गठिया और रूमेटाइड अर्थराइटिस
  • 6

    जुकाम और सांस की बीमारियों में

    लोबान तेल श्वसन तंत्र और फेफड़ों में जमा कफ को कम करने में भी बहुत सहायक होता है, और साथ ही यह ब्रोंकाइटिस के कारण होने वाले कन्जेस्चन को दूर करने में भी सहायक होता है। अगर आपको कफ ज्‍यादा बनता है तो इसे गले में लगाएं, इससे इरीटेशन से राहत मिलती है। हालांकि अगर आप इस समस्‍या के लिए पहले से ही कुछ उपचार ले रहे हैं तो इसे उपयोग करने से पहले एक बार अपने चिकित्‍सक से परामर्श अवश्‍य ले लें।
    Image Courtesy : Getty Images

    जुकाम और सांस की बीमारियों में
  • 7

    मौखिक स्वास्थ्य समस्याएं

    लोबान तेल में मौजूद एंटीसेप्टिक गुणों के कारण यह ओरल स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं के लिए भी लाभकारी होता है। इसके इस्‍तेमाल से सांसों की दुर्गन्‍ध, कैविटी, मुंह के छालों, दांतों के दर्द और अन्‍य संक्रमण को रोकने में मदद मिलती है। यह मौखिक स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचार में से एक है।
    Image Courtesy : Getty Images

    मौखिक स्वास्थ्य समस्याएं
  • 8

    पाचन संबंधी विकारों को दूर रखे

    लोबान तेल पाचन संबंधी समस्‍याओं के लिए भी बहुत लाभकारी होता है। यह आमाशय रस, पित्त, और एसिड के स्राव को बढ़ावा देकर पाचन तंत्र को पटरी पर लाने में मदद करता है और भोजन आंतों के माध्यम से ठीक से स्थानांतरित करने के लिए अनुमति देता है। जिससे आपको पेट संबंधी विकार जैसे गैस, कब्‍ज आदि से छुटकारा मिलता है।
    Image Courtesy : Getty Images

    पाचन संबंधी विकारों को दूर रखे
  • 9

    गर्भाशय की समस्‍यायें

    यह तेल महिलाओं में एस्ट्रोजन उत्पादन को विनियमित करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है और गर्भाशय में पोस्ट-रजोनिवृत्ति ट्यूमर या पुटी गठन के जोखिम को कम करता है। साथ ही लोबान तेल प्रीमेनोपॉजल महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को विनियमित करने में बहुत कारगर होता है।
    Image Courtesy : Getty Images

    गर्भाशय की समस्‍यायें
Load More
X