हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

अकेलेपन से भागे नहीं उसे समझें

By:Bharat Malhotra, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Jun 27, 2014
अकेलापन हर किसी के जीवन में आता है। यह कोई नयी बात नहीं। आप इसका सामना कैसे करते हैं यह बात ज्‍यादा मायने रखती है। अकेलेपन से डरें नहीं बल्कि इसे समझें और इसका सामना करें।
  • 1

    अकेलापन सताना यानी मानवीय गुण

    अकेलापन आपको भीतर तक परेशान कर सकता है। इस दर्द के कारण आपकी रोजमर्रा की जिंदगी पर भी असर डाल सकती है। अगर आपको तन्‍हाई का आभास हो, तो इसका अर्थ कहीं न कहीं यह है कि आप अब भी मानवीय भावों से जुड़े हुए हैं। यह इस बात का संकेत है कि आपके जीवन में लोगों क महत्‍व है और आप उसे खोना नहीं चाहते। Image Couretsy- getty Images

    अकेलापन सताना यानी मानवीय गुण
  • 2

    सताता तो है अकेलापन

    बेशक, अकेलापन आपकी मानवीयता का उदाहरण हो, लेकिन इसके साथ ही यह कई दुख भी देता है। अकेले व्‍यक्ति को कहीं न कहीं यह अहसास होता है कि किसी को उसकी जरूरत नहीं है। वह किसी काम का नहीं और किसी के काम नहीं है। वह खुद को कमतर करके देखने लगता है। अकेलेपन की इस समस्‍या को दूर किया जा सकता है। Image Couretsy- getty Images

    सताता तो है अकेलापन
  • 3

    सतर्क रहें

    सतर्क रहें जागरुक रहिये। इससे आपको काफी अनुभव होंगे। अपने शरीर पर ध्‍यान दीजिये। देखिये विभिन्‍न परिस्थितियों में वह कैसे बर्ताव करती है। अगर आपका सीना भारी होने लगे। दिल रोने का करने लगे। तो, रो लीजिये। रोना कमजोरी की निशानी है, ऐसा मानना सही नहीं। रोना तो इस बात का प्रतीक है कि आप भावुक हैं और चीजों को समझते हैं। जब आपका दुख आप पर इस हद हावी हो जाए कि आप बर्दाश्‍त न कर सकें, तो रो लीजिये, दिल हल्‍का हो जाएगा। Image Couretsy- getty Images

    सतर्क रहें
  • 4

    कुछ काम नहीं आता

    कई लोग अकेलेपन से दूर भागने की कोशिश करते हैं। कई लोग सोकर, टीवी देखकर या गेम खेलकर अपने अकेलेपन को छुपाते हैं। या फिर वे अपना ध्‍यान कहीं ओर लगाने की कोशिश करते हैं। वे स्‍वयं को किसी भी तरह व्‍यस्‍त रखने की कोशिश करते हैं। लेकिन, कई बार इनमें से कुछ भी लंबे समय तक काम नहीं करता। आपके भीतर छुपा एकाकीपन आपकी शारीरिक और मानसिक गतिविधियों को रोक देता है। Image Couretsy- getty Images

    कुछ काम नहीं आता
  • 5

    खुद को जिम्‍मेदार न ठहरायें

    कई बार लोग अपने एकाकीपन के लिए खुद को ही जिम्‍मेदार ठहराते हैं। वे मानते हैं कि दूसरों के लिए उनका कोई महत्‍व नहीं। अपने अकेलेपन के लिए वे सारा दोष खुद पर ही मढ़ देते हैं। दरअसल, वे अपने अकेलेपन का कारण जानना चाहते हैं और क्‍योंकि वे किसी दूसरे को दोष नहीं दे सकते, इसलिए वे खुद को जिम्‍मेदार मानने लगते हैं। इससे उन्‍हें राहत मिलने का अहसास होताहै। लेकिन, इससे समस्‍या खत्‍म नहीं होती, बल्कि और बढ़ती ही है। आपको चाहिये कि आप परिस्थितियों के लिए किसी पर दोषारोपण करने के बजाय उनका सामना करना सीखें। Image Couretsy- getty Images

    खुद को जिम्‍मेदार न ठहरायें
  • 6

    बांटने से कम होता है दुख

    दुनिया में सिर्फ आप ही अकेले नहीं हैं। और भी लोग हैं जो अकेले जीवन बिता रहे हैं। दुनिया में बहुत दुख है। यदि आप दूसरों के साथ अपना दुख बांटेंगे तो आपका दुख भी कम होगा। तो अगर आप कोई दुखी या अकेला इनसान देखें तो उसकी मदद करें। इससे आपको बहुत फायदा होगा। Image Couretsy- getty Images

    बांटने से कम होता है दुख
  • 7

    मदद मांग लीजिये

    अपने जीवन में जरूरी लोगों का शु्क्रिया अदा करें। किसी ने आपकी मदद की है, किसी को आपको राहत पहुंचाई हो। तो, उन्‍हें फोन कीजिये। उनसे बात कीजिये। आप चाहें तो उनसे मदद मांग सकते हैं। किसी के साथ मजबूत जुड़ाव आपको भावनात्‍मक रूप से अधिक मजबूत बनने में मदद करता है। Image Couretsy- getty Images

    मदद मांग लीजिये
  • 8

    इतना बुरा नहीं अकेलापन

    अकेलेपन के फायदे भी हैं। कभी-कभी अकेला रहना आपकी काफी मदद कर सकता है। अकेले रहकर ही आप दूसरों के दर्द को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं। अकेलापन आपको यह भी अहसास कराता है कि आपका रिश्‍ता शायद उतना करीबी, मजबूत और सर्पोटिव नहीं है, जितना आप सोचते हैं। इससे आपके लिए समस्‍याओं को तलाशना और उनके हल निकालना आसान होता है। यह आपको खुद से बात करने का मौका देता है। इसके बाद आप अपने भविष्‍य के लिए बेहतर योजनायें बना सकते हैं।   Image Couretsy- getty Images

    इतना बुरा नहीं अकेलापन
    Tags:
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर