हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

जानें कब नहीं करना चाहिए नारियल तेल का इस्तेमाल

By:Gayatree Verma , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 01, 2016
अगर आप नारियल तेल का रोजाना में इस्तेमाल करते हैं तो कुछ ऐसी स्थितियों का ज्ञान होना आपको जरूरी है जब नारियल तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। तो आज इस स्लाइडशो में इन स्थितियों के बारे में जानें।
  • 1

    त्वचा पर

    कई लोग ड्राय स्कीन की समस्या को दूर करने के लिए रात में नारियल का तेल लगाकर सोते हैं। इसमें कोई दा राय नहीं कि नारियल का तेल प्राकृतिक मॉश्चरायजर है जिसके कारण लोग नहाने के दौरान और नहाने के बाद भी ड्राय स्कीन की समस्या से बचने के लिए नारियल का तेल लगाते हैं। अगर आप जल्दी में है या आपकी ऑयली स्कीन है तो इसका इस्तेमाल ना करें। क्योंकि नारियल तेल को अच्छी तरह त्वचा में रब नहीं करने से वो त्वचा के ऊपर ग्रीस की तरह इकट्ठा हो जाता है।

    त्वचा पर
  • 2

    वजन कम करने के समय

    अगर आप वजन कम कर रहे हैं और कैलोरी व फैट से दूर रहने के लिए सरसों तेल की बजाय नारियल तेल में खाना बना रहे हैं तो ऐसा ना करें। हेल्थ एक्स्पर्ट्स की राय में वजन कम करने के दैरान नारियल तेल का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। कई लोगों का मानना होता है कि नारियल तेल कमर कम करने में काफी मददगार है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं। केवल नारियल तेल अन्य तेलों की तुलना में ज्यादा हेल्दी है। एक चम्मच नारियल तेल में 117 कैलोरी होती है जिस कारण इसकी तुलना ऑलिव ऑयल से की जाती है। तो अगर आप वजन कम करने के लिए सरसों तेल या रिफाइन तेल के बजाय नारियल तेल में खाना बना रहे हैं तो ऐसा ना करें। बल्कि कुछ दिन के लिए फ्राई खाने की जगह उबला हुआ खाना खाइए।

    वजन कम करने के समय
  • 3

    टूथपेस्ट की जगह

    कई बार दांतों को साफ करने के लिए लोग दांतों में तेल लगाने की हिदायत भी देते हैं। गांवों में तो कई लोग सरसों तेल और नमक मिलाकर दांत साफ करते हैं। पुराने आयुर्वेदिक उपचार में भी दावा किया गया है कि दांतों में तेल लगाने से दांत हेल्दी बने रहते हैं। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ क्लीनिकल पैडरिएटिक डिसग्रेस के अनुसार फ्लोराइड और हर्बल उत्पाद मुंह के बैक्टीरिया को कम करते हैं ना कि किसी भी तरह का तेल। तो अगर आप रात में टूथब्रश नहीं करते तो केवल कुल्ली करना ही काफी है। जबकि तेल का इस्तेमाल दांतों की सफेदी को कम कर देता है।

    टूथपेस्ट की जगह
  • 4

    कटी हुई त्वचा में

    आपने कई बार देखा होगा कि लोग जली हुई त्वचा से राहत पाने के लिए नारियल का तेल लगा लेते हैं। लेकिन ये गलत है। न्यू यॉर्क के माउंट सिनाई हॉस्पीटल के डर्मेटॉलॉजी विभाग के कॉस्मेटिक एंड क्लीनिकल रिसर्च के डायरेक्टर जोशुआ ज़िनर कहते हैं कि जली या कटी हुई त्वचा पर नारियल तेल लगाने से पहले ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि जब नारियल तेल जली हुई, या किसी भी तरह की कटी हुई, खरोंची हुई और घाव से ग्रस्त त्वचा के संपर्क में आती है तो ये स्कीन इरिटेशन, लालिमा और इचिंग का कारण बनती है।

    कटी हुई त्वचा में
  • 5

    सनस्क्रीन की जगह

    कई लोग धूप में बाहर निकलने से पहले सूर्य की किरणों से बचने के लिए सनस्क्रीन की जगह नारियल तेल लगाते हैं। और ये सच भी है कि नारियल तेल में कुछ ऐसे तत्व भी होते हैं जो यूवी किरणों से बचाते हैं। कई शोधकर्ताओं ने तो दावा भी किया है कि नारियल के तेल का एसपीएफ 8 होता है। लेकिन शोधकर्ताओं ने साथ में ये भी कहा है कि इसका मतलब ये नहीं हो जाता कि आप इसे सनस्क्रीन की जगह इस्तेमाल करें। क्योंकि धूप से बचने के लिए 30 एसपीएफ वाले सनस्क्रीन की जरूरत होती है जबकि नारियल का एसपीएफ केवल 8 है।

    सनस्क्रीन की जगह
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर