हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

निर्जलीकरण और चयापचय के बीच संबंध

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Dec 29, 2014
निर्जलीकरण से चयापचय सहित अधिकांश शरीर के कार्यों की दक्षता पर बुरा असर पड़ सकता है। शोध बताते हैं कि ठीक प्रकार से हाइड्रेशन से सुस्त चयापचय को तेज करने में मदद मिल सकती है।
  • 1

    निर्जलीकरण और चयापचय (डिहाइड्रेशन और मेटाबॉलिज्म)

    आपके शरीर के वजन के लगभग आधे के बराबर पानी ही होता है, महिलाओं के लिए 50 से 60 प्रतिशत तथा पुरुषों के लिए प्रतिशत  60 से 65 प्रतिशत (healthyeating साइट के अनुसार)। प्रत्येक दिन आप नियमित तौर पर पसीने व अन्य तरीकों के माध्यम से तरल पदार्थ की एक निश्चित राशि को त्यागते हैं। आपको बता दें कि निर्जलीकरण से चयापचय सहित अधिकांश शरीर के कार्यों की दक्षता पर बुरा असर पड़ सकता है। रिसर्च बताते हैं कि ठीक प्रकार से हाइड्रेशन से सुस्त चयापचय को तेज करने में मदद मिल सकती है। तो चलिये जानें कि निर्जलीकरण और चयापचय के बीच क्या संबंध होता है? और यह शरीर को कैसे प्रभावित कर सकता है?  
    Images courtesy: © Getty Images

    निर्जलीकरण और चयापचय (डिहाइड्रेशन और मेटाबॉलिज्म)
  • 2

    डिहाइड्रेशन का प्रभाव

    पानी शरीर में लगभग हर जैविक समारोह के साथ शामिल होता है, तो इसलिए आपके शरीर में निर्जलिकरण की स्थिति में शरीर की चयापचय की दर धीमी हो जाती है। जब आपके शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा में नहीं है तो आपकी कैलोरी जलाने वाली मशीनों (मांसपेशियों) में नाटकीय रूप से धीमापन आ जाता है। आपकी मांसपेशियों का 70 प्रतिशत से अधिक पानी होता है, इसलिए जब वह  पूरी तरह से हाइड्रेटेड नहीं होता है तो उनकी ऊर्जा उत्पन्न करने की क्षमता गंभीर रूप से प्रभावित होती है।
    Images courtesy: © Getty Images

    डिहाइड्रेशन का प्रभाव
  • 3

    वसा का ईंधन की तरह उपयोग करने की क्षमता

    समझने के लिए एक अन्य महत्वपूर्ण कारक और भी है, और वह यह है कि जब आप निर्जलित होते हैं तो शरीर की वसा का उपयोग ईंधन की तरह करने की क्षमता प्रतिबंधित हो जाती है। तो उपरोक्त दोनों कारकों के चलते इन दो कारकों को चलते डिहाइड्रेशन आपके  चयापचय को धीमा कर देता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    वसा का ईंधन की तरह उपयोग करने की क्षमता
  • 4

    खुद को निर्जलीकरण से बचाएं

    यूं तो निर्जलीकरण के कारण आपके चयापचय पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों की सूची अंतहीन है। लेकिन फिर भी अक्सर निर्जलीकरण के प्रभाव की अनदेखी कर दी जाती है, जबकि वास्तव में यह किसी भी स्वस्थ भोजन योजना की प्राथमिकताओं में से एक होना चाहिए। क्योंकि पर्याप्त मात्रा में पानी पीना आपके चयापचय के इष्टतम स्तर पर काम करने की दिशा में पहला कदम होता है। इसलिये दिन में कम से कम 2 से 3 लिटर पानी पियें।  
    Images courtesy: © Getty Images

    खुद को निर्जलीकरण से बचाएं
  • 5

    गंदगी को बाहर करे और मेटाबॉलिज्‍म बढाए

    जल्दबाजी, भाग-दौड़ या जीब के स्वाद के चलते हम दिन में न जाने कितना कुछ उल्टा-सीधा खाते हैं। पानी पीने से ये गंदगियां शरीर से बाहर निकलती हैं। जरूरत के हिसाब से पानी न पीने से शरीर की कार्य क्षमता घटती है, और वह जल्दी थक जाता है और उसका मेटाबॉलिज्‍म भी धीमा पड़ने लगता है।
    Images courtesy: © Getty Images

    गंदगी को बाहर करे और मेटाबॉलिज्‍म बढाए
  • 6

    ये भूख नहीं प्यास है

    अक्सर लोग प्यास और भूख में अंतर नहीं कर पाते और कुछ न कुछ खाने लगते हैं। नतीजा, ऐसे समय में जब शरीर की आवश्यकता केवल एक गिलास ठंडा पानी होती है, हम शरीर को गैर जरूरी कैलोरी दे रहे होते हैं। तो अगली बार ऐसा लगने पर कि आपको भूख लगी है, सबसे पहले एक गिलास पानी पिएं।
    Images courtesy: © Getty Images

    ये भूख नहीं प्यास है
  • 7

    भूख और मेटाबॉलिज्म बढ़ाए पानी

    पर्याप्त मात्रा में पानी पीने पर जब आपका पेट साफ रहता है, तो सही से भूख लगती है। इससे आप सुबह का ब्रेकफास्ट अच्छा कर पाते हैं। साथ ही पानी पीने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म 24 प्रतिशत तक बढ़ सकता है। इसका अर्थ है कि आप खाने को जल्द पचा सकते हैं और साथ-साथ थोड़ा वजन भी कम कर सकते हैं।  
    Images courtesy: © Getty Images

    भूख और मेटाबॉलिज्म बढ़ाए पानी
  • 8

    कैसे करें खुद को हाइड्रेट

    खुद को हाइड्रेट करने के लिये रोज सुबह तांबे के जग या गिलास में रखा पानी पियें। यह आपको तरोताजा तो रखेगा ही साथ ही कई प्रकार की बीमारियों से भी बचाएगा। खाली पेट पानी पाने से यह आपके पेट की गंदगी को भी जल्द बाहर करता है। यह शरीर को ऊर्जा और ऑक्सीजन भी प्रदान करता है।  
    Images courtesy: © Getty Images

    कैसे करें खुद को हाइड्रेट
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर