हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

ग्‍लूटेन-फ्री आहार के हो सकते हैं ये दुष्‍प्रभाव

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Aug 25, 2015
ग्लूटेन-फ्री आहारों का सेवन सीलिएक के रोगियों के लिए अच्‍छा होता है, इसके ज्यादा सेवन से शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, विस्‍तारे से इस स्‍लाइडशो में पढ़ें।
  • 1

    ग्लूटेन-फ्री आहारों के सेवन से नुकसान

    सीलिएक से पीड़ित लोगों को गेहूं, जौ और ओट्स में मौजूद ग्लूटेन नामक प्रोटीन से एलर्जी होती है। ऐसे लोगो की शरीर का इम्यून रिस्पांस छोटी आंत में सूजन का कारण बनता है। ग्‍लूटेन मुक्त आहार का प्रयोग सीलिएक के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। ग्‍लूटेन मुक्त आहार सीलिएक के लक्षण और लक्षणों को नियंत्रित और जटिलताओं को रोकने में मदद करता है। लेकिन इसका सेवन सभी को नहीं करना चाहिए। इसके कुछ साइड-इफेक्ट भी होते हैं।
    image source-getty

    ग्लूटेन-फ्री आहारों के सेवन से नुकसान
  • 2

    कम नहीं होता वजन

    ये सही है कि ग्लूटेन फ्री आहारों के सेवन से वजन घटता है। लेकिन ये इस बात पर निर्भर करता है कि कौन से आहारों का सेवन किया जा रहा है।उदाहरण के तौर पर गेंहू के आटे की जगह आलू के स्टार्च का प्रयोग वजन नहीं कम करता बल्कि व्हाइट ब्रेड की जगह हाई फाइबर वाले आहारों का सेवन वजन कम करने में मदद करता है।वजन कम होने का मुख्य कारण केवल ग्लूटेन फ्री आहारों का सेवन करना नहीं होता है। इसके लिए हाई कैलोरी और हाई फैट आहारों के सेवन को कम करना पड़ता है।  
    image source-getty

    कम नहीं होता वजन
  • 3

    ऊर्जा का स्तर बढ़ने की पुष्टि नहीं

    ऐसे माना जाता है कि ग्लूटेन फ्री आहारों के सेवन से ऊर्जा का स्तर भी बढ़ जाता है। हालांकि इस बात की कोई पुष्टि नहीं है। यहां एक संभावना है कि व्यक्ति आवश्यक मात्रा में फल और सब्जी का सेवन कर रहा हो जिससे उसको ऊर्जा मिल रही हो। इसका ग्लूटेन फ्री आहारों के सेवन से शायद कोई संबंध ना हो। किसी भी शोध में यह नहीं बताया गया है कि ग्लूटेन फ्री आहारों से ऊर्जा के स्तर में बढ़ोत्तरी होती है।  
    image source-getty

    ऊर्जा का स्तर बढ़ने की पुष्टि नहीं
  • 4

    आवश्यक पोषण की कमी

    ग्लूटेन फ्री आहारों के सेवन से शरीर को जरूरी लौह, कैल्शियम, थाइमिन, रिबोफ्लाविन आदि जैसे पोषक तत्व नहीं मिल पाते है। फलों और सब्जियों के अलावा आवश्यक फाइबर साबुत अनाज से मिलता है, जिसमें ग्लूटेन पाया जाता है। अगर ऐसे आहारों का सेवन नहीं करेंगे तो शरीर में फाइबर की कमी हो जाएगी। जिससे अच्छे बैक्टीरिया जैसे बाईबैक्टीरियम और लैक्टोबैसीलिस का स्तर कम हो जाता है।
    image source-getty

    आवश्यक पोषण की कमी
  • 5

    मंहगा

    ग्लूटेन फ्री आहारों का सेवन एक मंहगा सौदा होता है। पहली बात तो ये आसानी से उपलब्ध नहीं होता है। अगर बाजार में मौजूद है तो ये इसकी कीमतें ऊंची होती है। हर किसी के लिए ग्लूटिन फ्री आहारों का सेवन करना संभव नहीं होता है। आपको ऐसे आहारों की खरीददारी करते समय उसमें मौजूद सामग्री को ठीक से पढ़ना पड़ता है।
    image source-getty

    मंहगा
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर