हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

सफलता की राह में रोड़ा हैं ये 8 आदतें

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Oct 30, 2014
वे लोग जो परेशानियों और अपनी आदतों के आगे जल्द घुटने टेक देते हैं, वे असफलताओं को साथ ढोने के आदी बन जाते हैं, जिसका प्रभाव उनके वर्तमान और भविष्य दोनों पर पड़ता है।
  • 1

    सफलता की राह में बाधक आदतें

    जिंदगी में सफलता और असफलता का सिलसिला लगातार चलता रहता है। लेकिन कुछ लोग जल्द घुटने टेक देते हैं और असफलताओं को साथ में ढोने के आदी बन जाते हैं, जिसका प्रभाव उनके वर्तमान और भविष्य दोनों पर पड़ता है। कुछ ख़राब आदतें सफता की राह  में रोड़े की तरह होती हैं, जिन्हें जितनी जल्दी हटा दिया जाए, उतना बेहतर होता है। तो चलिये जानें सफलता की राह में बाधा बनने वाली आठ प्रमुख आदतें कौंन सी हैं।
    Image courtesy: © Getty Images

    सफलता की राह में बाधक आदतें
  • 2

    निराशावादी विचारधारा

    'मुझसे नहीं होगा'! जब कोई व्यक्ति ये सोचता है तो यकीनन उसका आत्मविश्वास जमीन पर होता है और वह निराशावादी विचारधारा अपनाए हुए होता है। सकारात्मक विचारधारा अपनाने और आशावादी बनने से सफलत की राह आसान होती है। क्योंकि निराशावादी विचारधारा इंसान को कुंठित कर असफलता की ओर धकेलती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    निराशावादी विचारधारा
  • 3

    भूतकाल नहीं, वर्तमान में जिएं

    कुछ व्यक्ति भूतकाल की असफलताओं से सीख लेकर वर्तमान को बेहतर बनाते हैं। जबकि कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो भूतकाल की असफलताओं को हरदम अपने साथ ढोते रहते हैं और इसी के चलते वे सफलता की आहट भी नहीं पहचान पाते।
    Image courtesy: © Getty Images

    भूतकाल नहीं, वर्तमान में जिएं
  • 4

    अभी मूड नहीं

    अभी काम का मूड नहीं बना या अभी मूड नहीं है, जैसी आदतें सफलता की राह में दीवार की तरह होती हैं। अच्छा वक्त मूड की वजह  से रुकता नहीं है और इस प्रकार अच्छा अवसर मुठ्ठी से रेत की तरह फिसल जाता है, और बाद में केवल पछतावा रह जाता है। मूड बनाएं, क्योंकि मूड बनाने से ही बनता है।
    Image courtesy: © Getty Images

    अभी मूड नहीं
  • 5

    नजरिया बदलें

    कुछ टीक नहीं, इस काम के लिए जरूरी चीजें ही नहीं, ये तो मुम्किन ही नहीं, जैसी चीजें दिमाग में आएं तो सोचिये कि ये खुद का नड़रिया बदलने का समय है। अदि कुछ कर गुजरने की इच्छा है तो नकारात्मकता को अपनी जिंदगी से बाहर फेंक दें और ची जों को एक सकारात्मक नज़रिये से देखिये।
    Image courtesy: © Getty Images

    नजरिया बदलें
  • 6

    ये तो नमुमकिन है

    एवरेस्ट पर पहले इंसान के चढ़ने से पहले लोग इस काम को नमुमकिन ही बताते थे। तो वे लोग जो किसी काम को करने से पहले ही उसके लिए ना होने की धारणा बना लेते हैं, वे निश्चित रूप से असफलता से भरी सोच का प्रदर्शन कर रहे होते हैं।
    Image courtesy: © Getty Images

    ये तो नमुमकिन है
  • 7

    मुझे इससे समस्या है

    किसी इंसान की खराब आदतों में से एक है अपनी नाकामयाबी का जिम्मेदार दूसरों को ठहराना। इंसान की फितरत है कि जब वह किसी वजह से सफल नहीं हो पाता है तो वे अपने आस-पास के लोगों और परिचितों को दोषी ठहराने लगता है। लेकिन ये आदत उसकी भविष्य में सफल होने की संभावनाएं भी कम कर देती है।  
    Image courtesy: © Getty Images

    मुझे इससे समस्या है
  • 8

    जोखिम से डर

    रिस्क तो सुपर मेन को भी लेना पड़ता है, तो आप तो बस एक इंसान हैं। जो लोग जोखिम लेने से डरते हैं, वे जीवन की कई संभावित सफलताओं के दरवाजे खुद ही बंद कर रहे होते हैं। बस जोखिम और पागलपन के बीच का भेद जरूर पता होना चाहिए।
    Image courtesy: © Getty Images

    जोखिम से डर
  • 9

    हमेशा दूसरों को गलत और खुद को सही मानना

    मेशा दूसरों को गलत और खुद को सही मानने की आदत असफलता की बड़ी निशानी है। अपने आगे किसी को सही ना समझने वाला व्यक्ति हमेशा यह सोचते है कि केवल वही सही है और बाकी के सभी गलत है और इसी ओवर कॉन्फीडेंस के चलते वह बार-बार असफलता का मुह देखता है।
    Image courtesy: © Getty Images

    हमेशा दूसरों को गलत और खुद को सही मानना
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर