हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

गर्भनिरोधक गोलियों से होने वाले साइड इफेक्‍ट

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Sep 24, 2013
डाक्‍टर के परामर्श के बिना गर्भनिरोधक गोलियों का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए। आइए जानें इन गोलियों से होने वाले साइड इफेक्‍ट्स के बारे में।
  • 1

    गर्भनिरोधक गोलियों के साइड इफेक्‍ट

    महिलाएं अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का इस्‍तेमाल करती हैं। इनके बार-बार प्रयोग से महिलाओं को कई प्रकार की शारीरिक परेशानियां भी हो सकती है। इसलिए डॉक्‍टर के परामर्श के बिना इन गोलियों का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए। आइए जानें इन गोलियों से होने वाले साइड इफेक्‍ट्स के बारे में।

    गर्भनिरोधक गोलियों के साइड इफेक्‍ट
  • 2

    सिर दर्द और चक्कर

    गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन का साइड इफेक्‍ट भी हो सकता है, हालांकि ज्‍यादातर मामलों में यह मामूली समस्‍या होती है और कुछ समय बाद इसमें सुधार हो जाता है। इस तरह की परेशानी में इलाज की जरूरत नहीं होती। गर्भनिरोधक गोलियां लेना शुरू करने पर कुछ महिलाओं को सिरदर्द और चक्‍कर आने की शिकायत होती है, लेकिन धीरे-धीरे यह ठीक भी हो जाती है।

    सिर दर्द और चक्कर
  • 3

    माहवारी में परेशानी

    गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन का असर महिलाओं के मासिक धर्म पर पड़ता है। गोलियों का सेवन शुरू करने के दूसरे महीने के बाद कुछ महिलाओं को पीरियड के समय हेवी ब्‍लीडिंग और भारी दर्द की शिकायत होती है। इससे प्रजनन प्रणाली पर भी विपरीत असर पड़ता है।

    माहवारी में परेशानी
  • 4

    मितली आना या जी मिचलाना

    गर्भनिरोधक गोलियों का साइड इफेक्‍ट मितली आने या जी मिचलाने के रूप में भी सामने आ सकता है। यह समस्‍या कुछ समय के बाद खुद ठीक हो जाती है। लगातार ऐसा होता रहे तो आप दूसरे ब्रांड की गोलियां भी ले सकती हैं। मितली से राहत पाने का एक उपाय यह भी है कि आप गोलियों का सेवन खाने के साथ करें।

    मितली आना या जी मिचलाना
  • 5

    मूड में बदलाव

    बर्थ कंट्रोल करने वाली सभी दवाएं आपके मूड पर भी असर डालती हैं। हो सकता है इन गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से आपको कमजोरी महसूस हो, ऐसा होने पर आप बदल सकती हैं। कई महिलाओं मजबूरी में इस तरह की दवाओं का सेवन करती हैं, जिससे मानसिक तनाव बढ़ जाता है।

    मूड में बदलाव
  • 6

    कामेच्छा की कमी

    कुछ महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने के बाद अपनी कामेच्छा में कमी महसूस होती है। यदि आपको भी ऐसा फील हो रहा है तो आप अन्‍य किसी ब्रांड की या अलग किस्‍म का बर्थ कंट्रोल ले सकती हैं।

    कामेच्छा की कमी
  • 7

    स्तनों में कोमलता

    गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से स्‍तनों में ढीलेपन की भी शिकायत हो सकती है। हालांकि यह जरूरी नहीं कि गोलियां खाने वाली सभी महिलाओं को इस तरह की समस्‍या हो। स्‍तनों का ढीलापन कुछ समय बाद खुद भी दूर हो सकता है।

    स्तनों में कोमलता
  • 8

    मुंहासे

    गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से मुंहासे होने की आशंका बनी रहती है। कई बार यह समस्‍या गंभीर भी बन सकती है। ध्‍यान रखें चिकित्‍सक के पास जाने पर गर्भनिरोधक गोलियों के दुष्प्रभाव के बारे में भी परामर्श लें।

    मुंहासे
  • 9

    बाधित ओव्‍यूलेशन

    प्रेग्‍नेंसी को दूर रखने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का कार्य ओव्‍यूलेशन और निषेचन को रोकना होता है। लेकिन ये गोलियां एक या दो महीने तक के मासिक धर्म और ओव्‍यूलेशन साइकिल को भी बिगाड़ सकती हैं। अगर आप लगातार इन गोलियों का सेवन करती हैं तो आपका मासिक धर्म एक हफ्ते आगे या पीछे हो सकता है।

    बाधित ओव्‍यूलेशन
  • 10

    वजन का बढ़ना

    गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने के बाद कुछ महिलाओं का वजन बढ़ने लगता है। ऐसा गोलियों में मौजूद हार्मोन के कारण होता है। ऐसी किसी भी प्रकार की समस्‍या होने पर आपको डॉक्‍टर से परामर्श करना चाहिए।

    वजन का बढ़ना
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर